भारतीय शूटर्स एश्वर्या तोमर, अंगद और मेराज का कमाल, भारत ने हासिल किया रिकॉर्ड 15वां ओलंपिक कोटा

स्पोर्ट्स
Updated Nov 10, 2019 | 21:30 IST | भाषा

Asian Shooting Championships 2019: भारतीय निशानेबाजों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए एशियन शूटिंग चैंपियनशिप के जरिए भारत को रिकॉर्ड 15वां ओलंपिक कोटा हासिल कराया।

Asian shooting championship 2019
एशियन शूटिंग चैंपियनशिप 2019  |  तस्वीर साभार: Twitter

दोहा: अंगद वीर सिंह बाजवा और मेराज अहमद ने पुरुषों की स्कीट स्पर्धा में क्रमश: पहले और दूसरे स्थान पर रहते हुए जबकि युवा निशानेबाज ऐश्वर्य प्रताप सिंह तोमर ने पुरुषों की 50 मीटर थ्री पोजीशन में कांस्य पदक जीतकर रविवार को यहां 14वीं एशियाई निशानेबाजी चैंपियनशिप में भारत को तीन ओलंपिक कोटे दिलाये। इन निशानेबाजों के पदकों से तोक्यो ओलंपिक 2020 के लिए भारतीय निशानेबाजों ने अब तक रिकार्ड 15 कोटे हासिल कर लिये। लंदन ओलंपिक 2012 में भारत के 11 निशानेबाजों ने हिस्सा लिया था जबकि रियो ओलंपिक 2016 में 12 भारतीय निशानेबाज उतरे थे।

यहां लुसैन निशानेबाजी परिसर में स्कीट स्पर्धा के फाइनल में दोनों भारतीय खिलाड़ी 56 अंक के साथ संयुक्त रूप से शीर्ष पर थे जिसके बाद विजेता का फैसला शूटआफ से हुआ। अंगद ने शूटआफ में मेराज को 6-5 से पछाड़ा। इससे पहले किशोर निशानेबाज तोमर ने पुरुषों की 50 मीटर थ्री पोजीशन में कांस्य पदक जीतकर भारत को निशानेबाजी में 13वां ओलंपिक कोटा दिलाया था।

तोमर ने आठ पुरुषों के फाइनल में 449.1 अंक बनाकर तीसरा स्थान हासिल किया। कोरिया के किम जोंगयुन (459.9) ने स्वर्ण ओर चीन के झोंगहाओ झाओ (459.1) ने रजत पदक जीता। इस 18 वर्षीय भारतीय निशानेबाज ने 120 शॉट के क्वालीफाईंग में 1168 अंक बनाकर फाइनल्स में जगह सुरक्षित की थी। इस स्पर्धा में तीन कोटा स्थान दांव पर लगे थे।

टूर्नामेंट में भारतीय खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन के क्रम को जारी रखते हुए मनु भाकर एवं अभिषेक वर्मा की जोड़ी ने सौरभ चौधरी एवं यशस्विनि सिंह देशवाल की जोड़ी को 10 मीटर एयर पिस्टल मिश्रित टीम स्पर्धा में 16-10 से हराकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। भारतीय राष्ट्रीय राइफल महासंघ के अध्यक्ष रनिंदर सिंह ने ट्वीट किया, ‘‘पंद्रह कोटा काफी खास है। शाबाश अंगद और मेराज स्कीट में स्कीट में पहले दो स्थानों पर रहे, आप दोनों पर गर्व है। भारतीय टीम ऐसे भी आगे बढ़ते रहे, मैंने जितना सोचा था हमने उससे एक कोटा अधिक हासिल कर लिया है।’’ मध्यप्रदेश के खरगौन के रहने वाले किशोर तोमर ने जर्मनी के सुहल में आईएसएसएफ जूनियर विश्व कप में राइफल थ्री पोजीशन में जूनियर वर्ग में विश्व रिकार्ड बनाया था।

तोमर थ्री पोजीशन में संजीव राजपूत के बाद कोटा हासिल करने वाले दूसरे भारतीय निशानेबाज हैं। किसान परिवार से संबंध रखने वाले तोमर पहली बार सीनियर स्तर पर खेल रहे थे। उन्होंने जूनियर स्तर की अपनी फार्म बरकरार रखी। उन्होंने जूनियर स्तर पर एशिया में जीत हासिल की ओर फिर घरेलू प्रतियोगिताओं में संजीव राजपूत जैसे निशानेबाजों को हराकर सीनियर टीम में जगह बनाने का दावा पेश किया।

चीन के विश्व में नंबर तीन झाओ और कोरिया के नंबर नौ जोंगुयन के अलावा कजाखस्तान के अनुभवी निशानेबाज यूरी युरकोव और ईरान के महयार सेदाघाट भी इस स्पर्धा में भाग ले रहे थे। फाइनल्स में चीन के दो खिलाड़ी पहुंचे थे लेकिन वे कोटा के लिये दावा पेश नहीं कर पाये। चीन पहले ही इस स्पर्धा में अधिकतम दो कोटा स्थान हासिल कर चुका है। कोरिया के जोंगयुन भी इससे पहले म्यूनिख विश्व कप में कोटा ले चुके थे। ऐसे में तोक्यो ओलंपिक के तीन स्थानों के लिये तोमर, ईरान, कजाखस्तान, मंगोलिया और थाईलैंड के निशानेबाजों के बीच मुकाबला था।

तोमर ने अच्छी फार्म जारी रखते हुए ‘नीलिंग पोजीशन’ के 15 शॉट में 151.7 अंक बनाये। इसके बाद ‘प्रोन पोजीशन’ में उन्होंने इतने ही शॉट में 156.3 अंक हासिल किये और आखिर में 449.1 अंक लेकर तीसरे स्थान पर रहे। ईरान और कजाखस्तान के निशानेबाजों ने क्रमश: पांचवें और छठे स्थान पर रहकर बाकी बचे दो कोटा स्थान हासिल किये। इस स्पर्धा में भाग ले रहे अन्य भारतीयों में चैन सिंह क्वालिफिकेशन में 17वें और पारुल कुमार 20वें स्थान पर रहे।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर