अमेरिका में मौजूद आर्सेनल फैंस ने बदलाव के लिए छेड़ दी बड़ी मुहिम

स्पोर्ट्स
Updated Jul 19, 2019 | 03:57 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Arsenal football fans, USA: अमेरिका में स्थित आर्सेनल फुटबॉल क्लब के फैंस ने बदलाव की मांग करते हुए बड़ा अभियान छेड़ दिया है। यहां जानिए क्या है वजह और क्या है अभियान।

Arsenal
आर्सेनल  |  तस्वीर साभार: AP, File Image
मुख्य बातें
  • आर्सेनल फुटबॉल क्लब के अमेरिकी फैंस हैं नाराज
  • अमेरिकी फैंस ने मालिकों के खिलाफ छेड़ी बड़ी मुहिम
  • इंटरनेट पर लाखों लोग जुड़े नए अभियान से

चार्लोटे (नॉर्थ कैरोलीना): गनर्स के नाम से मशहूर और दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित फुटबॉल क्लबों में शुमार आर्सेनल फुटबॉल क्लब इस समय अजीब स्थिति में है। एक तरफ जहां टीम के खिलाड़ी मैदान पर दम दिखाने के लिए पूरी मेहनत में जुटे हैं, वहीं अमेरिका में मौजूद उनके लाखों फैंस कुछ चीजों को लेकर नाराज चल रहे हैं। इन फैंस की नाराजगी खिलाड़ियों से नहीं बल्कि टीम के मालिकों से है और इसको लेकर इन अमेरिकी फैंस ने एक बड़ा अभियान भी शुरू कर दिया है।

दरअसल, दुनिया भर में मौजूद आर्सेनल के करोड़ों फैंस चाहते हैं कि इसके टॉप मैनेजमेंट में बदलाव हो। दो साल पहले इंग्लैंड स्थित उनके स्थानीय फैंस ने भी मैदान-मैदान जाकर इस बदलाव की मांग की थी लेकिन खास कुछ हुआ नहीं। अब आर्सेनल का समर्थन करने वाले 16 ग्रुप्स ने (जिसमें तीन अमेरिका से हैं) 'वी केयर, डू यू' के हैशटैग के साथ खराब नेतृत्व के खिलाफ अभियान छेड़ा है और टीम के मालिकों (स्टैन क्रोंके और क्रोएंके स्पोर्ट्स एंड इंटरटेनमेंट) से मांग की है कि बड़े बदलाव तुरंत किए जाएं ताकि इस प्रीमियर लीग क्लब को पुरानी ऊंचाइयों पर ले जाया जा सके।

अमेरिका स्थित आर्सेनल फुटबॉल फैंस की वेबसाइट्स ने एक याचिका भी वायरल की है जिसमें तकरीबन 1 लाख समर्थकों के हस्ताक्षर हैं और सभी टीम के मालिकों से बड़े बदलाव की मांग कर रहे हैं। इस मुहिम को छेड़े हुए अभी कुल तीन दिन ही हुए थे कि इतनी भारी संख्या में लोग इससे जुड़ गए।

उधर फैंस के इस अभियान व मांग के बाद स्टैन क्रोएंके के बेटे व आर्सेनल के निदेशक जोश क्रोएंके अपने जवाब के साथ फैंस के सामने आए और इस जवाब ने फैंस को और नाराज कर दिया है। जोश क्रोएंके ने फैंस एक ओपन लेटर के जरिए कहा कि वो सम्मान के साथ कहना चाहते हैं कि वे फैंस के विचारों से इत्तेफाक नहीं रखते हैं बल्कि वो और उनके पिता भी टीम को सिर्फ जीतते हुए देखना चाहते हैं।

 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर