Surya Grahan Sutak Niyam: साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, जानें सूतक के दौरान क्या करें और क्‍या नहीं

व्रत-त्‍यौहार
Updated Dec 25, 2019 | 19:14 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Surya Grahan Sutak Niyam: सूर्य ग्रहण के दौरान मंदिर जानें से बचें। इन बातों का यदि ग्रहण में ध्यान रखा जाए तो ये आपके जीवन में सकारात्मक प्रभाव डालते हैं। यहां जानें सूर्य ग्रहण के दौरान क्‍या करें क्‍या नहीं।

Surya Grahan Sutak Timing in Delhi NCR Lucknow Patna Kanpur, Surya Grahan me kya karein kya na karein
सूतक लगने पर कुछ नियमों का पालन करना पड़ता है 

इस साल का आखिरी सूर्य ग्रहण 2019 गुरुवार को यानी 26 दिसंबर को लग रहा है। इस बार यह सूर्य ग्रहण दिखने में एक 'आग की अंगूठी' की तरह होगा। एशिया, ऑस्ट्रेलिया और अफ्रीका के अन्य हिस्सों में इसे आंशिक ग्रहण के तौर पर देखा जा सकेगा। सूर्य ग्रहण लगने पर कई बातों का ध्‍यान रखना पड़ता है, खासतौर पर जब सूतक लगे तब। सूर्य ग्रहण लगने से कई घंटे पहले सूतक लग जाता है। सूतक लगने पर कुछ नियमों का पालन करना पड़ता है। 

इस दौरान घर में भी भगवान के मंदिर को ढक देना चाहिए। इस दौरान गर्भवती महिलाओं के लिये भी कई नियम हैं जिसे उन्‍हें मानने पड़ते हैं नहीं तो उनके होने वाले बच्‍चों के जीवन में दिक्‍कतें पैदा हो सकती हैं। आइये जानें सूर्य ग्रहण में सूतक के दौरान क्‍या करें क्‍या नहीं... 

जानें सूतक के दौरान क्या करें और क्‍या नहीं

सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) के दौरान कभी न करें ये काम

  • सूर्य ग्रहण के दौरान मंदिर जानें से बचें। और न ही घर पर स्थित मंदिर में पूजा करें।
  • भगवान की मूर्ति को स्पर्श न करें। भगवान के मंदिर को किसी पर्दे से ढक दें।
  • सूतक लगते ही कुछ भी न खाएं। कोशिश करें की पानी का भी परहेज करें।
  • सूतक के दौरान मल-मूत्र त्याग करना भी मना है, लेकिन बच्चो, बूढ़ों और बीमार लोगों के लिए इसमें छूट है।
  • सूतक लगने के बाद ही अपने बिस्तर से उठ जाएं। सूतक के बाद सोना पूरी तरह से मना है। 
  • सूतक में कभी भी शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिये। 
  • अगर आप गर्भवती हैं तो आप अपने हाथ में चाकू-कैंची या कोई भी धारदार चीज न लें। न ही कुछ काटने का प्रयास करें।
  • गर्भवती महिला ग्रहण के दौरान कोशिश करे खड़ी रहे, लेटना या हाथ-पैर मोड़ कर न बैठें।

सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) के दौरान जरूर करें ये काम 

  • सूतक के दौरान हर किसी को नहाना चाहिये और जब ग्रहण हट जाए तो भी नहा लें
  • सूतक लगते ही आप भगवान का भजन-कीर्तन आदि करते रहें।
  • गर्भवती महिलाएं अपने लंबाई के बराबर एक कुश लें। यदि कुश न हो तो कोई सीधा डंडा लेकर उसे कोने में खड़ा कर दें। इससे यदि वह ग्रहण में बैठना या लेटना चाहें तो लेट सकेंगी।
  • ग्रहण समाप्‍त होते होते बचे हुए भोजन में तुलसी की पत्‍तियां डाल दें। 
  • ग्रहण के समय अनाज छू कर उसे दान करना चाहिए। 


इन बातों का यदि ग्रहण में ध्यान रखा जाए तो ये आपके जीवन में सकारात्मक प्रभाव डालते हैं। ग्रहण का वैज्ञानिक प्रभाव भी होता है और इसी आधार पर ज्योतिष के ये उपाय भी बनें हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर