Ganesh Utsav 2019: गणेश उत्सव का आज दूसरा दिन, भाग्‍य मजबूती के लिए ऐसे करें राशि अनुसार पूजन

व्रत-त्‍यौहार
Updated Sep 03, 2019 | 10:37 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

राशि अनुसार गणेश पूजन करने से राशि के स्वामी ग्रह की अनुकूलता बढ़ती है। ऐसे में यदि जातक के जीवन में बड़ी परेशानी आ कर खड़ी हो गई है तो इस गणेश उत्‍सव के दौरान राशि अनुसार इस विधि से पूजन करें। 

Ganesh Utsav 2019
Ganesh Utsav 2019  |  तस्वीर साभार: Instagram

गणेश चतुर्थी जैसे बड़े पर्व की शुभ शुरुआत हो चुकी है। यह त्‍यौहार भाद्रपद की चतुर्थी को मनाया जाता है। मान्यता है कि इस दिन गणेश जी का जन्म हुआ था। गणेश जी को विध्नहर्ता कहा गया है, जिनकी पूजा से कई बाधाएं दूर हो जाती हैं। ज्योतिषाचार्य सुजीत जी महाराज के अनुसार किसी भी कार्य या उद्देश्य की सफलता के लिए गणेश पूजन सर्वप्रथम होता है। गणेश जी बुद्धि प्रदान करते हैं। धन तथा समृद्धि के देवता हैं। 

संतान को योग्य तथा यशस्वी बनाते हैं। यही गणपति पूजा या मूर्ति स्थापना यदि हम राशियों के अनुरूप कर दें तो और बेहतर परिणाम आ सकते हैं। आइए जानते हैं राशि अनुरूप गणेश पूजन की विधि-

राशि अनुरूप ऐसे करें गणपति पूजन

1. मेष- वक्रतुंड रूप में गणेश जी की आराधना करें।मोदक का भोग लगाएं।गुड़ तथा गेहूं का दान करें।
2. वृष- धन की देवी की उपासना भी श्री गणेश के साथ करें। श्री सूक्त का पाठ करें। चावल तथा चीनी का दान करें।
3. मिथुन- श्री गणेश जी की उपासना के साथ साथ शिव परिवार की पूजा करें। हरे वस्त्र का दान करें।
4. कर्क- शक्ति विनायक के रूप में श्री गणेश पूजा करना अच्छा रहेगा। सफेद वस्त्र का दान करें।
5. सिंह- वक्रतुंड रूप में श्री गणेश उपासना करें। खीर का गणेश जी को भोग लगाएं। फल मंदिर में चढ़ाएं।
6. कन्या- हरिद्रा गणेश पूजन करें। गणेश जी को दूर्वा चढ़ाएं। अस्पताल में भोजन तथा फल बांटें।
7. तुला- श्वेतार्क गणेश जी की पूजा करें। गणेश जी को दूध की बनी खीर चढ़ाएं।
8. वृश्चिक- गणेश जी के साथ हनुमान जी की भी पूजा करने से कष्ट दूर होंगे। मोदक चढ़ाएं।अन्न दान करें।
9. धनु- वक्रतुंड रूप में गणेश जी की पूजा करें। लाल रोली उनके चरणों में लगाएं। फल का दान करें।
10. मकर- शक्ति विनायक गणेश जी की पूजा करें। गणेश जी को लड्डू चढ़ाएं। तिल का दान करें।
11. कुंभ- हरिद्रा गणेश की उपासना करें। दूर्वा अर्पित करें। गरीबों में अन्न तथा वस्त्र का दान करें।
12. मीन- वक्रतुंड रूप में गणेश पूजन करें। गणेश जी को मीठी खीर खिलाएं। धार्मिक पुस्तकों का दान करें।

इस प्रकार हम राशि अनुरूप गणेश पूजन करें तो राशि के स्वामी ग्रह की अनुकूलता बढ़ती है। सुख तथा समृद्धि आती है।कष्टों का निवारण होता है।गणेश जी अपने भक्तों की हर मनोकामना को पूर्ण करते हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर