Dussehra Date 2019: जानें कब है दशहरा, क्या है इसका महत्व

व्रत-त्‍यौहार
Updated Sep 26, 2019 | 08:56 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Dussehra Date 2019: शारदीय नवरात्रि (Navratri) के दशवें दिन देशभर में दशहरे का पर्व मनाया मनाया जाता है। इस बार दशहरा (Dussehra) या विजयादशमी का पर्व 08 अक्टूबर मनाया जाएगा।

Dussehra Date
Dussehra Date   |  तस्वीर साभार: Instagram

मुख्य बातें

  • दशहरे या विजयादशमी को आश्विन मास की शुक्ल पक्ष  की दशमी को मनाया जाता है
  • लोग इस दिन देवी दुर्गा से भी प्रार्थना करते हैं
  • विजयादशमी यानी दशहरा 08 अक्टूबर को मनाया जा रहा है

When is Dussehra: बुराई पर अच्‍छाई की जीत से जुड़ा पर्व दहशहरा, दिवाली से ठीक 10 दिन पहले मनाया जाता है। हिंदू कैलेंडर के अनुसार, दशहरे या विजयादशमी को आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की दशमी को मनाया जाता है।  इस बार दशहरा या विजयादशमी का पर्व 08 अक्टूबर मनाया जाएगा। 

दशहरा मनाने के पीछे एक खास कहानी है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, दशहरे के ही दिन श्री राम ने 9 दिनों की लड़ाई के बाद राक्षस रावण का वध किया और अपनी पत्नी देवी सीता को रावण की कैद से मुक्त कराया। इसी दिन देवी दुर्गा ने राक्षस महिषासुर का वध किया था और इसलिए  इस दिन को विजयदशमी के रूप में भी मनाया जाता है। लोग इस दिन देवी दुर्गा से भी प्रार्थना करते हैं और आशीर्वाद मांगते हैं। ऐसा माना जाता है कि भगवान श्री राम ने शक्ति के लिए देवी दुर्गा से प्रार्थना की थी। 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by MY (@apno_pahad) on


 

विजयादशमी कब है?
विजयादशमी यानी दशहरा 08 अक्टूबर को मनाया जा रहा है। आप शुभ मुहूर्त में पूजा पाठ कर इसका यथोचित लाभ उठा सकते है।

उत्‍तर भारत समेत उत्तराखंड और बिहार में इस दिन रावण दहन का विशाल आयोजन किया जाता है। नौ दिनों से चलने वाली रामलीला का यह समापन दिन होता है। इस मौके पर कई जगहों पर रामलीला के मंचन का आयोजन भी किया जाता है। दिल्ली में रामलीला मैदान सहित कई जगहों पर आयोजन किया जाता है। रामलीला की झांकियों में विभिन्न किरदार रामायण के पात्रों की प्रस्तुति देते हैं। 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Ninecolours.com (@ninecolours) on

क्या है दशहरा का मतलब
दशहरा का मतलब ही होता है दसवीं तिथि। हिंदू ज्योतिष के जानकारों के मुताबिक सालभर में 3 सबसे शुभ घड़ियां होती हैं। पहली चैत्र शुक्ल प्रतिपदा, दूसरी कार्तिक शुक्ल की प्रतिपदा और तीसरा है दशहरा। ऐसी मान्यता है कि जिस भी काम की शुरुआत इस दिन की जाती है उसमें जरुर कामयाबी मिलती है। इसलिए इस दिन किसी भी काम का आरंभ उसमें सफलता की गारंटी माना जाता है। 

दशहरे के दिन गंगा स्नान से मिलता है पुण्‍य 
दशहरे के दिन गंगा स्नान करने का भी महत्‍व बताया जाता है। कहते हैं कि इस दिन जो भी व्‍यक्‍ति गंगा स्नान करता है उसको कई गुना फल मिलता है। कुछ लोग दशहरा को पान खाने का सगुन करते हैं।

अगली खबर