Vastu Tips for Depression : वास्‍तु से कम हो सकता है तनाव और डिप्रेशन, जरूर आजमाएं ये उपाय

Stress Removal Vastu Remedies : तनाव और डिप्रेशन से यदि आप या आपके परिजन जूझ रहे तो आपको घर में वास्तु के कुछ उपाय आजमाने चाहिए। इनसे अवसाद से बाहर आने में बहुत मदद म‍िलती है।

Vastu upay tips remedies for stress and depression kaise door karein avsad
Stress removal Vastu remedies : तनाव दूर करने के वास्तु उपाय  |  तस्वीर साभार: Shutterstock

मुख्य बातें

  • घर में सुगंधित धूप जलाएं या फूलों का गुलदस्ता लगाएं
  • अविवाहित हैं तो उत्तर और पश्चिम दिशा का अधिक प्रयोग करें
  • शाम के समय बेडरूम में कपूर और लौंग जलाएं

मौजूदा समय में तनाव और डिप्रेशन के एक नहीं कई कारण होते हैं। कई बार घर में वास्तु दोष के कारण भी ऐसा होता है। वहीं कई बार रिश्तों में मनमुटाव, नौकरी की समस्या या प्रेम में असफलता जैसे कई कारण तनाव और डिप्रेशन को जन्म देते हैं। तनाव देखते-देखते कब डिप्रेशन का रूप ले लेता है, पता नहीं चलता। इसलिए यदि आप स्ट्रेस में हैं तो आपको इससे निकलने के लिए खुद  प्रयास करना होगा। वास्तु के कुछ उपाय ऐसे हैं जो आपके डिप्रेशन को दूर करने में बहुत कारगर हैं। ये आसान से उपाय आप आजमा कर भी अपने तनाव को दूर कर सकते हैं। तो आइए जानें कि यदि कोई तनाव में है तो घर में कौन से वास्तु के उपाय काम आ सकते हैं। 

Vastu Tips for Stress and Depression

  1. तनाव में रहने वाले व्यक्ति को कभी उत्तर या पश्चिम दिशा में सिर करके नहीं सोना चाहिए। दिशा में सोने से तनाव और डिप्रेशन बढ़ता है। तनाव से बचने के लिए दक्षिण या पूर्व दिशा की ओर सिर कर के सोने की आदत डालें। घर के मुखिया को तनावमुक्त बनाने के लिए उसका कमरा दक्षिण-पश्चिम दिशा में होना चाहिए।
  2. यदि आप अविवाहित हैं तो आपको अपने तनाव और डिप्रेशन को कम करने के लिए उत्तर और पश्चिम दिशा का अधिक से अधिक इस्तेमाल करना चाहिए। सोने के लिए ये सबसे बेहतर दिशा होगी। अविवाहित लोगों का कमरा कभी भी दक्षिण-पश्चिम दिशा में नहीं होना चाहिए। इस दिशा में सोने से तनाव और चिड़चिड़ापन बढ़ता है।
  3. तनाव को दूर करने के लिए घर में हमेशा सुगंधित द्रव्य या धूप का प्रयोग करना चाहिए। घर में फूलों का गुलदस्ता रखना चाहिए। इसमें पीले और सफेद फूलों का मिश्रण करें। खुशबू से तनाव का स्तर कम होता है और खुशनुमा अहसास होता है।
  4. घर पर सुबह और शाम को कर्पूर का धुंआ करें। कोशिश करें कि शाम को सोने वाले कमरे में धूप दान में कपूर और लौंग की दो दाने डाल कर जला दें। इससे तन और मन दोनों ही स्वस्थ महसूस करता है।
  5. बेडरूम में कभी ऊर्जा से जुड़ी चीजें न रखें। साथ ही बेडरूम में कभी भी एल्कोकल जैसी चीजों का सेवन न करें। कमरे में केवल बेड होना चाहिए और फूलों के गुलदस्ते रखें। याद रखें गुलदस्तें में कभी मुरझाए फूल नहीं होने चाहिए।

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ने से व्यक्ति का तनाव दूर होता है और उसे खुशनुमा अहसास होता है। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर