बाथरूम गंदा रखने की आदत बना सकती है गरीब, वास्‍तु शास्‍त्र अनुसार जानें कहां हो इसका स्‍थान

वास्तु टिप्‍स
Updated Jul 21, 2019 | 15:20 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

बाथरूम अगर दिनों दिन गंदा पड़ा रहता है तो इससे आपके जीवन में राहु-केतु का दोष बढ़ेगा। यदि राहु-केतु नाराज हो गए तो अनेक तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

Vastu and astrolgy tips For Bathroom
Bathroom  |  तस्वीर साभार: Getty Images
मुख्य बातें
  • बाथरूम को गंदा छोड़ते हैं तो राहु-केतु का दोष बढ़ेगा
  • बाथरूम में पानी की बरबादी कुंडली में चंद्रमा कमजोर कर सकता है
  • घर में वास्तु दोष बढ़ने की वजह से परिवार वाले नकारात्मक विचार के हो जाते हैं

घर में स्नान घर यानि बाथरूम सबसे अहम जगह होती है, जिसका न सिर्फ परिवार वाले बल्‍कि घर में आने वाले महमान भी प्रयोग करते हैं। वास्‍तु के अनुसार बाथरूम बनाने की जगह के अलावा इसकी साफ सफाई पर भी काफी ध्‍यान देना चाहिये। बहुत से लोग घर तो साफ कर लेते हैं मगर बाथरूम की साफ सफाई करने पर उतना ध्‍यान नहीं देते। 

बाथरूम अगर दिनों दिन गंदा पड़ा रहता है तो इससे आपके जीवन में राहु-केतु का दोष बढ़ेगा। यदि राहु-केतु नाराज हो गए तो अनेक तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जब भी किसी की कुंडली में राहु की वक्री दृष्टि पड़ती है तो वह दिलो दिमाग खो बैठता है और उसका दिमाग ठीक से काम नहीं करता। यही नहीं इनकी बुरी छाया पेट में अल्सर, हड्डियों से संबंधित परेशानी और नौकरी में ट्रांसफर की समस्याा भी पैदा कर सकती है। 

  • यदि आप अपने घर के बाथरूम को गंदा छोड़ते हैं या फिर बिना वजह ही पानी बर्बाद करते हैं तो ज्योतिष के अनुसार आपकी जिंदगी में राहु-केतु का दोष बढ़ेगा। 
  • बाथरूम में पानी प्रयोग करने के बाद अगर आप नल खुला ही छोड़ देते हैं या फिर बाथरूम का नल खराब है तो भी कुंडली में चंद्र कमजोर हो सकता है। 
  • बता दें कि राहु और केतु हमेशा व्रकी रहते हैं। ये ग्रह एक राशि में करीब 18 माह तक रहते हैं जिस वजह से काल सर्प दोष बनता है। 
  • यदि आप अपने घर की साफ सफाई नहीं रखते तो राहु केतु अशुभ हो जाते हैं। यही नहीं यदि आपके घर का बाथरूम हमेशा गंदा रहता है तो इससे वास्तु दोष भी बढ़ते हैं। 
  • घर में वास्तु दोष बढ़ने की वजह से वहां रहने वाले लोग नकारात्मक विचार के हो जाते हैं। इससे कामों में आसानी से सफलता नहीं मिल पाती। 
  • चंद्र और राहु-केतु के दोष दूर करने के लिए बाथरूम की साफ सफाई करते रहें और पानी को बर्बाद न होने दें। 

किस दिशा में होना चाहिये घर का बाथरूम 
घर में स्नान घर हमेशा नैऋत्यकोण के मध्य एंव दक्षिण व पश्चिम दिशा के मध्य में होना, शुभ माना जाता है। यदि इस स्‍थान पर जगह न निकल पाए तो बाथरूम को पूर्व दिशा में भी बनाया जा सकता है। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर