Surya grahan upay 2019 : सूर्य ग्रहण के बुरे प्रभाव से बचाएंगे, राशि अनुसार किए गए ये खास उपाय 

उपाय-टोटके
Updated Dec 26, 2019 | 07:10 IST | Ritu

इस साल के आखिरी सूर्यग्रहण (Surya grahan) का प्रभाव हर राशि पर पड़ने वाला है। जरूरी है कि ग्रहण के प्रभाव को कम करने के लिए विशेष उपाय (Special measures) राशि (zodiac) अनुसार किए जाएं। 

Surya Grahan
Puja thali (Pixabay)  |  तस्वीर साभार: People

मुख्य बातें

  • ग्रहण पर सूतक का पालन जरूर करें
  • भगवान की अराधाना करें और चालीसा पढ़ें
  • गरीबों को दान-पुण्य करना फलदायी होगा

26 दिसंबर को साल का अंतिम सूर्यग्रहण लग रहा है। करीब 58 साल बाद ये ग्रहण आज के दिन पड़ रहा है। ग्रहण का प्रभाव कम करने के लिए कुछ विशेष बातों का ख्याल रखना चाहिए है। सूतक लगते ही धार्मिक कार्यों को करने से ग्रहण के बुरे प्रभाव से बचा जा सकता है। धर्म-कर्म और दान-पुण्य राशि के अनुसार किया जाए तो वह बहुत ही फलदायी होता है। ग्रहण के दौरान सूतक लगने के बाद से ही भगवान के मंदिर बंद हो जाते हैं, लेकिन लेकिन भगवान का नाम लेना या पाठ करना शुभ माना जाता है। तो राशि के अनुसार जानें की ग्रहण लगने पर किन धार्मिक कार्यों को करना आपके लिए शुभ होगा। 

 

ग्रहण के दौरान राशि अनुसार करें पूजा पाठ

  1. मेष राशि: मेष राशि वालों को ग्रहण के दौरान खुद को बुरे प्रभाव से बचाने के लिए अपने ईष्ट देव का जाप करना चाहिए। साथ ही हनुमान चालिसा का पाठ करते रहना विशेष फलदायी होगा। 
  2. वृष राशि: वृष राशि के जातकों को ग्रहण के प्रभाव को कम करने लिए गणपति जी की अराधना करनी चाहिए। साथ ही गणपति चालिसा को पढ़ना भी बहुत फलदायी होगा। वृष राशि के अष्टम भाव को ग्रहण प्रभावित करेगा। 
  3. मिथुन राशि: सूर्य ग्रहण का असर मिथुन के सातवें भाव पर पड़ेगा।  ग्रहण के प्रभाव को कम करने के लिए मिथुन राशि वालों को भगवान विष्णु व श्रीकृष्ण की आराधना करनी चाहिए। 
  4. कर्क राशि: इस राशि के जातकों को ग्रहण के बुरे प्रभाव से बचने के लिए भगवान शिव की अराधना करनी चाहिए। कर्क राशि के छठें भाव पर ग्रहण का प्रभाव पड़ेगा। 
  5. सिंह राशि: इस राशि के पांचवे भाव पर ग्रहण का प्रभाव पड़ेगा। सिंह राशि के जातकों को ग्रहण के प्रभाव से बचने के लिए सूर्य आदित्य ह्दय स्त्रोत का पाठ करना चाहिए।
  6. कन्या राशि: इन लोगों को ग्रहण के प्रभाव से बचने के लिए सूर्यदेव के की अराधाना करनी चाहिए और सूर्यदेव के बीज मंत्र  का जाप करना चाहिए। 
  7. तुला राशि: तुला राशि के जातकों को ग्रहण के प्रभाव से बचने के लिए मां दुर्गा की अराधना करनी होगी। तुला राशि के तीसरे भाव पर ग्रहण का प्रभाव पड़ेगा। 
  8. वृश्चिक राशि: इन जातकों को ग्रहणका प्रभाव कम करना है तो सुंदरकांड का पाठ करना होगा। 
  9. धनु राशि: इन जातकों को ग्रहण का प्रभाव कम करने के लिए विष्णु सहस्रनाम का पाठ करना चाहिए। 
  10. मकर राशि: इन पर ग्रहण का प्रभाव 12 वें भाव पर पड़ेगा। ग्रहण के प्रभाव को कम करने के लिए इस राशि के जातकों को शिव की उपासना करना चाहिए। 
  11. कुंभ राशि: इन लोगों के 11वें भाव में ग्रहण का प्रभाव पड़ेगा। ग्रहण प्रभाव को कम करने के लिए सरसों तेल का दीपक जलाना चाहिए।
  12. मीन राशि: इन लोगों पर ग्रहण का प्रभाव 10 वें भाव पर पड़ेगा। गरीबों को गेहूं का दान दें। इससे ग्रहण के अनिष्टकारी प्रभाव कट जांगे। 

ग्रहण के दौरान सूतक का पलान करना चाहिए और सूर्य को देखने की भूल कभी न करें। 

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...