Today Panchang 8 December: आज है कामदा एकादशी, जानें किस समय से लगेगा शुभ मुहूर्त

आज का पंचांग: पंचांग से शुभ अशुभ समय का ज्ञान होता है। प्रतिदिन प्रातःकाल पंचांग पढ़ना चाहिए। यह सूर्य तथा चंद्रमा की गति की बताता है। जानें आज किस समय बन रहा है शुभ मुहूर्त एवं राहुकाल। 

Today Panchang 8 December 2019
Today Panchang 8 December 2019 

Today Panchang 8 December 2019: पंचांग का ज्ञान अत्यंत आवश्यक है।किस दिवस पर कौन सी हिन्दी तिथि है इसकी जानकारी से व्रत इत्यादि का ज्ञान होता है। नक्षत्र का ज्ञान शुभ माना जाता है। पंचांग पढ़ने के नियम जानना बहुत आवश्यक है। चंद्रमा की स्थिति यानि गोचर तो बहुत ही महत्वपूर्ण है। मुहूर्त शास्त्र से  शुभ तथा अशुभ समय का ज्ञान होता है। आज जन्म लेने वाला बच्चा किस नक्षत्र में हुआ है इसकी जानकारी होती है। शुभ तथा अशुभ मुहूर्त के विचार के बाद ही हम जान पाते हैं कि आज शुभ कार्य करें या मत करें।नक्षत्र का महत्व बहुत ज्यादा है। चंद्रमा का गोचर सबसे महत्वपूर्ण है। राशि का निर्धारण चंद्रमा से ही होती है। अभिजीत मुहूर्त सबसे अच्छा है। विजय तथा अमृत मुहूर्त भी अच्छे माने जाते हैं। राहुकाल में कोई भी शुभ कार्य नहीं करते। राहु से संबंधित द्रव्यों का दान भी इस समय करने से कष्टों से मुक्ति मिलती है। जहां तक हो सके आप किसी भी शुभ यात्रा का आरंभ राहुकाल में ना करें।

आज जन्म लेने वाले बच्चों का भविष्य-
आज जिन बच्चों का जन्म होगा वो बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते हैं। वे जीवन में कला या फ़िल्म जगत में  बहुत ही सफल व्यक्ति बनते हैं।  वे नेता तथा प्रखर वक्ता हो सकते हैं। वो बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते हैं। उनके पास  कई उच्च डिग्री होती है।ये बहुत ज्यादा पढ़ाई करेंगे। पढ़ने पढ़ाने के बहुत शौकीन होंगे। यदि वो मेडिकल के फील्ड में भी जाते हैं तो उनके आगे बढ़ने की प्रायिकता बढ़ जाती है। स्वास्थ्य के दृष्टिकोंण से ये बहुत मजबूत  होते हैं परंतु स्किन तथा कफ रोग की संभावना बनी रहेगी। प्रायः घर से दूर पश्चिम दिशा में देश या विदेश में रहेंगे। इनकी मित्र संख्या बहुत ज्यादा लेकिन अच्छी हो सकती है।ये पैतृक बहुत ही अचल संपत्ति के स्वामी होंगे।इनका स्वभाव बहुत ही सुंदर होगा।इनके जीवन में धार्मिक कृत्य कुछ ज्यादा ही होंगे।ऐसे जातक बहुत दयालु लेकिन चंचल मन के होंगे।अपने माता पिता की कीर्ति को बढ़ाएंगे। भाई बहनों के प्रति बहुत ही अच्छे रहेंगे। ये जहां भी रहेंगे बहुत ही सम्पन्न रहेंगे। इनको सूर्य से संबंधित द्रव्यों का दान करते रहना चाहिए। भगवान सूर्य जी की उपासना अत्यंत लाभकारी रहेगी। प्रत्येक रविवार को श्री आदित्यहृदयस्तोत्र का  3 बार पाठ करें समय समय पर अन्न दान करते रहें।

  • वार-  रविवार      
  • माह-मार्गशीर्ष
  • पक्ष-शुक्ल
  • तिथि- एकादशी 08:31am तक फिर द्वादशी
  • नक्षत्र- अश्वनी
  • करण- विष्टि08:31am तक फिर बव
  • सूर्योदय-07:05am
  • सूर्यास्त-05:19pm
  • सूर्य राशि-वृश्चिक
  • चंद्र राशि- मेष
  • शुभ मुहूर्त-   अभिजीत-11:53am से 12:32 pm तक विजय मुहूर्त-01:55pm से 02: 37pm
  • अशुभ मुहूर्त-राहुकाल- सायंकाल 04:30 बजे से 06 बजे तक

 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर