Ganesh Ji ke Upay: गणेश जी को Vakratund Sankashti Chaturthi पर ऐसे करें प्रसन्‍न, आजमाएं ये उपाय

Ganesh Amritvani, Measures related to Ganapati ji: 4 नवंबर बुधवार को वक्रतुण्ड संकष्टी चतुर्थी है। इस दिन गणपति जी से जुड़े कुछ आसान से उपाय करने से आपके जीवन के बहुत से कष्ट दूर हो सकते हैं।

Measures related to Ganapati ji्, गणपति जी से जुड़े उपाय
Measures related to Ganapati ji्, गणपति जी से जुड़े उपाय 

मुख्य बातें

  • वक्रतुण्ड संकष्टी चतुर्थी पूजा करवाचौथ के दिन ही होगी
  • वक्रतुण्ड संकष्टी चतुर्थी पर गणपति जी के विशेष उपाय जरूर करें
  • धन संकट दूर करने के लिए इस दिन जरूर उपाय करें

बुधवार का दिन गणपति जी का होता है और इसी दिन वक्रतुण्ड संकष्टी भी पड़ रही है। ऐसे में इस दिन गणपति जी की पूजा के साथ कुछ कारगर टोटके कर के आप अपने जीवन के सारे कष्ट को दूर कर सकते हैं और यदि कोई मनोकामना है तो उसे भी पूर्ण कर सकते हैं। बुधवार को किए गए ये उपाय जल्दी ही फलीभूत होंगे। यदि आपको धन या नौकरी से जुड़ी दिक्कत हो अथवा किसी मानसिक या शारीरिक परेशानी से जूझ रहे तो आपको वक्रतुण्ड संकष्ठी पर उपाय जरूर करने चाहिए। तो आइए आपको बताए कि बुधवार के इस खास दिन आप कौन से उपाय करें।

वक्रतुण्ड संकष्टी पर करें ये खास उपाय

वक्रतुण्ड संकष्ठी के दिन एक अमरूद का पौधा ले और भगवान गणपति को इसे अर्पित कर दें। साथ ही प्रभु के चरणों में घी का दीप जला कर आपकी जितनी आयु है उतनी संख्या में “गं हं क्लौं ग्लौं उच्छिष्टगणेशाय महायक्षायायं बलिः” मंत्र जाप करें। भगवान कि विधिवत पूजा के बाद अमरूद के पौधे को घर में लाकर गमले में लगा दें। इस पौधे की जितनी हो सके देखभाल करें। जैसे-जैसे ये पौधा बढ़ेगा आपकी किस्मत भी खुलती जाएगी। एक बात और ध्यान रखें कि जब भी इस पौधे में फल आए तो सर्वप्रथम पहला फल का भोग गणपति जी को ही लगाएं। ये उपाय आपके धन, नौकरी, व्यवसाय आदि के संकट को दूर करेगा।

गुड़ और घी का लगाएं भोग

वक्रतुण्ड संकष्ठी के दिन भगवान गणपति के मंदिर में जाएं और विधिवत पूजन के बाद उन्हें गुड़ और घी का भोग लगाएं। आप चाहे तो गुड़ और घी से बने मोदक बना कर भी प्रभु को चढ़ा सकते हैं। पूजा के बाद इस भोग को आप गाय को खिलाएं। इस उपाय से आपके जीवन के हर संकट दूर हो जाएगा और यदि आपकी कोई कामना होगी तो वह भी पूरी हो जाएगी।

मनोकामना पूर्ति के लिए करें ये काम

वक्रतुण्ड संकष्ठी के दिन घर में श्रीगणेश की सफेद रंग की प्रतिमा स्थापना करें। यह अत्यंत शुभ माना गया है। साथ ही इस दिन सफेद मोदक का प्रसाद भी जरूर चढ़ा दें। इससे घर में और मन में शांति बनी रहेगी और आपकी हर मनोकामना पूरो होगी।

शमी के पत्ते चढ़ाने से मिलेगा अमोघ पुण्य लाभ

वक्रतुण्ड संकष्ठी के दिन गणेश जी को शमी के पत्ते जरूर अर्पित करें। ये उपाय अमोघ पुण्य प्राप्ति कराता है। इस उपाय से बुद्धि, विवेक और ज्ञान की बढ़ोतरी होती है। साथ ही इस दिन भगवान को लाल सिंदूर और बूंदी के लड्डू भी अर्पित करें। 

नौकरी और व्यवसाय में तरक्की के लिए

वक्रतुण्ड संकष्ठी के दिन गणपति जी के सिर पर दूर्वा अर्पित करें। दूर्वा की 11 या 21 गांठ भगवान को अर्पित करनी होगी और ये उपाय आप मंदिर में जा कर ही करें। इससे आपके करियर और नौकरी पर आया संकट दूर होगा।

वक्रतुण्ड संकष्ठी चतुर्थी पर किए गए ये उपाय तेजी से असर दिखाते हैं। बस इस उपाय को पूरी श्रद्धा और विश्वास के साथ करें।  

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर