गणपति की इन 11 प्रतिमाओं से मिलता है अलग वरदान, जानें किसकी पूजा से होगा आपको लाभ

Ganesh Amritwani, Different forms of Ganpati : घर में गणपति की प्रतिमा कैसी हो, यह आप अपनी मनोकामना के अनुसार तय कर सकते हैं, क्योंकि भगवान के11 स्वरूप की पूजा से विभिन्न वरदान मिलते हैं।

Different forms of Lord Ganpati, गणपति भगवान के विभिन्न स्वरूप
Different forms of Lord Ganpati, गणपति भगवान के विभिन्न स्वरूप 

मुख्य बातें

  • गणपति की प्रतिमा के रंग, स्वरूप और मुद्रा के अनुसार मिलते है वरदान
  • हरे रंग के गणपति की पूजा विद्यार्थियाें को जरूर करनी चाहिए
  • धन संकट दूर करने के लिए पारद के गणपति की पूजा करनी चाहिए

पुराणों में लिखित है कि गणपति जी के 11 प्रतिमाओं के स्वरूप की पूजा करने से मनुष्य के 11 प्रकार के क्लेश कट जाते हैं और उसकी हर मनोकामना पूर्ण हो जाती है, लेकिन घर में किसी एक ही प्रतिमा को स्थापित करना चाहिए। इसलिए मनुष्य को अपनी मनोकामना के अनुसार गणपति जी की प्रतिमा की मुद्रा, आकार-प्रकार और रंग का चयन करना चाहिए। बप्पा के हर स्वरूप और रंग की पूजा करने के विभिन्न परिणाम मिलते हैं। यदि आप गणपति की प्रतिमा घर में स्थापित करने की सोच रहे तो आपको सर्वप्रथम बप्पा के इन स्वरूप के बारे में जान लेना जरूरी है।

गणपति जी की इन प्रतिमाओं की पूजा के जानें क्या मिलेंगे लाभ

  1. सफेद आंकड़े के गणेशजी: श्वेतार्क गणपति यानी सफेद आंकड़ा (एक प्रकार का पौधा) की जड़ से निर्मित बप्पा की पूजा तंत्र साधना के लिए मुख्यत: की जाती है। घर में श्वेतार्क गणपति की स्थापना से ऊपरी बाधा या जादू टोने के असर को खत्म किया जाता है।
  2. मूंगे के गणेशजी : मूंगा के गणपति जी की स्थापना घर में उन लोगों को जरूर करनी चाहिए, जिनके शत्रु ज्यादा हों या विरोधियों के कारण उनका विकास रुकता हो। सिंदूरी रंग के इन गणपति की पूजा से शत्रुओं का भय खत्म होता है और विकास में आरही बाधाएं दूर हो जाती हैं।
  3. पन्ने के गणेशजी : पन्ने से निर्मित गणपति जी की स्थापना और पूजा से मनुष्य को बुद्धि व यश की प्राप्त होती है। हरे गणपति की पूजा से धन,मान-सम्मान और यश की प्राप्ति होती है। विद्यार्थियों बप्पा के इस प्रतिमा की पूजा जरूर करनी चाहिए।
  4. चांदी के गणेशजी : चांदी के गणपति की पूजा और स्थापना उन लोगों को करनी चाहिए जो आर्थिक संकट से गुजर रहे हैं। घर में चांदी के गणपति जी को स्थापित कर उन्हें दूर्वा जरूर अर्पित करनी चाहिए। इससे धन आगमन के रास्ते खुलते हैं और जीवन का सुख प्राप्ति होती है।
  5. चंदन की लकड़ी के गणेशजी : चंदन की लकड़ी से निर्मित गणपति की पूजा से घर के संकट दूर होते हैं। घर पर आई सारी विपदाएं ऐसे गणपति जी की प्रतिमा की पूजा से दूर हो जाती हैं। परिवार में सुख और शांति का भी वास होता है।
  6. पारद गणेश : धन-संपत्ति पाने के लिए पारद के गणपति की स्थापना घर में करें। इनकी पूजा से व्यवसाय और नौकरी के संकट दूर होते है। साथ ही यदि किसी पर कोई तांत्रिक प्रयोग हुआ हो तो पारद गणपति की पूजा जरूर करनी चाहिए।
  7. बांसुरी बजाते गणेशजी : घर में यदि पारिवारिक मन मुटाव या क्लेश बना रहता है तो बांसुरी बजाने वाले गणपति जी की स्थापना करनी चाहिए। इस मुद्रा की पूजा से घर में सुख-शांति और प्रेम का संचार बढ़ता है।
  8. हरे रंग के गणपति जी : हरे रंग के गणपति जी की पूजा करने से ज्ञान व बुद्धि की वृद्धि होती है। विद्यार्थियों को विशेषतौर पर हरे रंग की श्रीगणेश की मूर्ति या तस्वीर का पूजन करना चाहिए।
  9. हाथी पर बैठे गणेशजी : हाथी पर बैठे मुद्रा वाले गणपति की स्थापना करने से घर में धन संकट दूर हो जाता है। भगवान की इस मुद्रा की पूजा से पैसा, इज्जत व शोहरत मिलती है।
  10. नृत्य करते गणपति जी : नृत्य करते हुए गणपति जी की घर में स्थापना और पूजा से मानसिक शांति मिलती है। यदि घर में तनाव का माहौल हो तो आप इन मुद्रा वाली गणपति की स्थापना जरूर करें।
  11. पंचमुखी गणपतिजी : पंचमुखी गणपति जी की स्थापना और पूजा तंत्र क्रिया की सिद्धि के लिए की जाती है। साथ ही तंत्र क्रियाओं से मुक्ति के लिए भी गणपति जी की पूजा की जाती है।

भगवान गणपति की इन विभिन्न मुद्राओं, रंग और धातु की बनी प्रतिमाओं की पूजा के विभिन्न फल प्राप्त होते हैं। इसलिए अपनी कामना के अनुसार प्रतिमा का चयन करना चाहिए।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर