Solar Eclipse 2020 : 14 द‍िसंबर को लगेगा खंडग्रास सूर्य ग्रहण, जानें 2020 के आख‍िरी ग्रहण में क्‍या है खास

सूर्य ग्रहण 2020 : साल के अंतिम चंद्र ग्रहण के बाद जल्द ही साल का आखिरी सूर्य ग्रहण भी लगने जा रहा है। ग्रहण से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें आप यहां जान सकते हैं।

surya grahan december 2020 in india date time sutak kaal
surya grahan december 2020 in india 

मुख्य बातें

  • इस साल लगे हैं कुल 6 ग्रहण
  • 14 द‍िसंबर को लगेगा साल का आख‍िरी ग्रहण
  • दो तारीख में आएगा यह सूर्य ग्रहण

हिंदू पंचांग के अनुसार 14 दिसंबर को वर्ष का अंतिम सूर्य ग्रहण देखने को मिलेगा। इस अंतिम सूर्य ग्रहण को ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बहुत महत्वपूर्ण बताया गया है। ज्योतिष गणना के अनुसार इस ग्रहण से सभी राशियां प्रभावित होंगी। सनातन धर्म के अनुसार ग्रहण के दौरान आपको क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए, ये हम आपको बताएंगे। इस साल कुल 6 ग्रहण लग चुके हैं जिनमें साल का पहला सूर्य ग्रहण 21 जून 2020 को लगा था।

कब लगेगा ग्रहण (surya grahan december 2020 in india date time ) 

14 दिसंबर 2020 की शाम 7 बजे कर 3 मिनट तक से 15 दिसंबर 2020 की रात 12 बज कर 23 मिनट तक रहेगा। यह सूर्य ग्रहण लगभग 5 घंटे तक रहेगा।

सूतक काल (surya grahan december 2020 sutak kaal)

इस सूर्य ग्रहण में सूतक काल लगेगा। सूतक काल ग्रहण लगने से 12 घंटे पहले ही शुरू हो जाता है। जैसा कि आपको पता है इससे पहले लगे चंद्रग्रहण में सूतक काल मान्य नहीं था क्योंकि वह उपछाया चंद्रग्रहण था।

ग्रहण और सूतक काल के दौरान नहीं करने चाहिए यह काम (what not to during surya grahan)

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रहण और सूतक काल के दौरान विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। खासतौर से गर्भवती महिलाओं को इस काल के दौरान घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए और ना ही सोना चाहिए। बल्कि इस दौरान उन्हें भगवान की भक्ति में लीन रहना चाहिए।
गर्भवती महिलाओं को इस दौरान किसी भी नुकीली चीज का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए। ग्रहण के दौरान कुछ भी खाना या पीना नहीं चाहिए। इससे आप पर और आपके होने वाले बच्चे पर बुरा असर पड़ सकता है। ग्रहण के पश्चात अगर संभव हो तो स्नान जरूर करना चाहिए। सूतक काल के प्रारंभ होने से लेकर ग्रहण के समाप्त होने तक गर्भवती महिलाओं को कोई भी चीज नहीं काटनी चाहिए और ना ही मन में कोई दुर्भावना रखनी चाहिए।

यहां दिखेगा सूर्य ग्रहण (solar eclipse 2020 december where and how to see)

यह सूर्य ग्रहण भारत, दक्षिण अमेरिका, साउथ अफ्रीका और प्रशांत महासागर के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा। 2 दिनों तक लगने वाले इस सूर्यग्रहण को खंडग्रास सूर्यग्रहण भी कहा जाता है।

ग्रहण के बाद करें दान (what to donate after solar eclipse)

हिंदू धर्म के अनुसार किसी भी ग्रहण के बाद दान करने की परंपरा सदियों से चली आई है। जिसमें ग्रहण के बाद लोग पवित्र नदियों में स्नान करते हैं और जरूरतमंदों को उनके जरूरत का सामान दान करते हैं। इससे आपके जीवन में हमेशा सुख और समृद्धि बनी रहती है तथा घर में शांति का वास होता है। दान करने से आप की ग्रह दशा भी हमेशा सुधरी हुई होती है।

खाने की चीजों पर तुलसी के पत्ते जरूर रखें

सूतक काल लगने से पहले घर में मौजूद सभी खाने और पीने की चीजों पर तुलसी के पत्ते जरूर रखते हैं। क्योंकि माना जाता है कि तुलसी का पत्ता ग्रहण से पड़ने वाले दुष्प्रभावों को कम कर देता है।
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर