सात गुरुवार साईं स्तुति का कर लें पाठ, चमत्कारिक रूप से मिलेगी हर कष्ट से मुक्ति

Sai Kripa , Benefits of Sai Stuti: गुरुवार के दिन साईं की स्तुति का पाठ भर कर लेने से मनुष्य के दुख-दर्द दूर हो जाते हैं। साईं की स्तुति पाठ करने से चमत्कारिक असर देखने को मिलता हैं।

Sai Kripa,साईं कृपा
Sai Kripa,साईं कृपा 

मुख्य बातें

  • साईं की स्तुति का पाठ करने से हर तरह के कष्टों से मुक्ति मिलती है
  • साईं की चरणों में स्तुति पीले कागज पर लाल स्याही से लिखकर चढ़ाएं
  • 7 गुरुवार स्तुति लगातार पढ़ने से पूरी हो जाती है सारी कामनाएं

यदि आप किसी ऐसे कष्ट से गुजर रहे जिसका हल आपके बस में नहीं तो आपको गुरुवार के दिन साईं की स्तुति का पाठ जरूर करना चाहिए। साईं स्तुति का पाठ लगातार 7 गुरुवार यदि मनुष्य कर ले तो उसे चमत्कारिक रूप से कष्टों से मुक्ति मिल जाती है। यही नहीं यदि कोई मनोकामना के साथ यह स्तुति की जाए तो वह भी आसानी से पूर्ण हो जाती है। मान्यता है कि साईं की स्तुति का पाठ करने के चमत्कारिक असर देखने को मिलते हैं। साईं की कृपा पाने का ये सबसे आसान और सरल उपाय है।

साईं स्तुति के पाठ से पहले करें यह उपाय

साईं की कृपा पाने के लिए गुरुवार के दिन साई मंदिर में जाकर या फिर घर पर ही एक पीले कागज पर लाल रंग की स्याही वाली कलम से साईं की स्तुति लिखें। इसे लिखने के बाद उस कागज को कुछ देर के लिए साई के चरणों में रख दें। इसके बाद साईं की स्तुति का पाठ करें। स्तुति का पाठ जब पूरा हो जाए तो साईं की चरणों में चढ़ाए स्तुति को अपने साथ घर ले आएं और अपने घर के पूजा स्थल पर रख दें। सात गुरुवार यदि भक्त ऐसा कर लें तो उनकी सभी समस्याएं चमत्कारिक रूप से दूर हो जाती हैं।

साईं बाबा स्तुति का करें पाठ

जो शिरडी में आएगा, आपद दूर भगाएगा।

चढ़े समाधि की सीढ़ी पर, पैर तले दुख की पीढ़ी पर।

त्याग शरीर चला जाऊंगा, भक्त हेतु दौड़ा आऊंगा।

मन में रखना दृढ़ विश्वास, करे समाधि पूरी आस।

मेरी शरण आ खाली जाए, हो तो कोई मुझे बताए।

जैसा भाव रहा जिस जन का, वैसा रूप हुआ मेरे मन का।

भार तुम्हारा मुझ पर होगा, वचन न मेरा झूठा होगा।

आ सहायता लो भरपूर, जो मांगा वो नहीं है दूर।

मुझमें लीन वचन मन काया , उसका ऋण न कभी चुकाया।

धन्य धन्य व भक्त अनन्य , मेरी शरण तज जिसे न अन्य।

साईं के इस चमत्कारिक स्तुति का पाठ सच्ची श्रद्धा और विश्वास के साथ करें। तभी इसके सकारात्मक परिणाम मिलते हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर