अगर कुंडली में ये ग्रह हैं कमजोर तो हो सकता है डायबिटीज का रोग, यहां जानें इससे बचने के उपाय

अगर किसी जातक की कुंडली में कुछ ग्रह कमजोर हैं तो इस वजह से उस जातक को डायबिटीज का खतरा हो सकता है। डायबिटीज के साथ यह कमजोर ग्रह कई और बीमारियों और रोगों के कारण बन सकते हैं। 

इन ग्रहों से होता है डायबिटीज, कुंडली में ना होने दें कमजोर
इन ग्रहों से होता है डायबिटीज, कुंडली में ना होने दें कमजोर  

मुख्य बातें

  • कुंडली में मौजूद कमजोर ग्रहों की वजह से जातकों को डायबिटीज का रोग होता है जिससे बचना जरूरी है। 
  • शुक्र के कमजोर होने से इंसान बनता है रोगी, डायबिटीज के अलावा हो सकते हैं गुप्त और कुष्ठ जैसे रोग।
  • कमजोर शनि ग्रह भी बनता है बीमारियों की वजह, रोग से बचने के लिए करें कमजोर लोगों की मदद। 

डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जो लंबे समय तक इंसान का पीछा नहीं छोड़ती है और अब तक इसके लिए कोई सटीक इलाज उपलब्ध नहीं है। डायबिटीज के लेवल को नियंत्रित रखने के लिए दुनिया भर के डॉक्टर्स कुछ दवाई और सही दैनिक जीवन पर ध्यान देने के लिए मरीजों को प्रोत्साहित करते हैं। यह बीमारी आज के जमाने में बहुत आम हो गई है जो कम उम्र के लोगों में भी पाई जाती है। वैसे तो किसी भी बीमारी का जड़ खराब लाइफस्टाइल या कई और कारणों को माना जाता है लेकिन ज्योतिषाचार्य बताते हैं कि कुछ बीमारी के पीछे ग्रहों का हाथ भी होता है।

जानकारों का मानना है कि अगर किसी जातक के कुंडली में शुक्र, शनि और राहु ग्रह कमजोर हैं तो यह डायबिटीज के रोग का कारक बनते हैं। डायबिटीज जैसी बीमारी से दूर रहने के लिए सही लाइफस्टाइल को अपनाना बेहद जरूरी है इसके साथ कमजोर ग्रहों को कुंडली में मजबूत करना भी आवश्यक है। यहां जानिए, कैसे शुक्र, शनि और राहु बनते हैं डायबिटीज के रोग के कारक और क्या करें उपाय। 

शुक्र ग्रह

शुक्र ग्रह को खूबसूरती, आकर्षण और विलासिता का कारक कहा गया है लेकिन अगर यह किसी जातक की कुंडली में कमजोर है तो कई तरह के रोग और परेशानियों को बुलावा दे सकता है। शुक्र ग्रह अगर कमजोर होता है तो‌ इससे जातक को डायबिटीज का रोग लग सकता है,‌ इसके साथ जातक कुष्ठ रोग, गर्भाशय संबंधित समस्याएं और गुप्त रोग से भी परेशान हो सकता है। सिर्फ रोग ही नहीं बल्कि कमजोर शुक्र ग्रह आर्थिक परेशानियों का भी घर होता है। 

शुक्र ग्रह को मजबूत करने के क्या हैं उपाय?

अगर आप शुक्र ग्रह को मजबूत करना चाहते हैं तो ॐ सं शुक्राय नमः मंत्र का जाप अवश्य करें। इसके साथ ‌माता लक्ष्मी की पूजा और महिलाओं का सम्मान करें। शुक्र ग्रह को मजबूत करने के लिए शुक्रवार के दिन सफेद चीजों का दान‌ भी कर‌ सकते हैं जैसे चीनी, दूध, सफेद वस्त्र, चावल, दही आदि। 

शनि ग्रह

जातक की कुंडली में कमजोर शनि ग्रह भी डायबिटीज जैसी बीमारियों को बुलावा दे सकता है। जानकार बताते हैं कि डायबिटीज जैसी लंबी बीमारियों का कारण कमजोर शनि ग्रह होता है। इसीलिए इससे बचने के लिए लोगों को अपनी कुंडली में शनि ग्रह को मजबूत रखना चाहिए। 

क्या करें शनि ग्रह को मजबूत करने के लिए उपाय? 

अपनी कुंडली में शनि ग्रह को मजबूत करने के लिए कमजोर और असहाय लोगों की मदद शनिवार के दिन अवश्य करें इसके साथ पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दिया अवश्य जलाएं। शनि ग्रह को मजबूत करने के लिए हनुमान बाबा की पूजा कीजिए और सूर्य देव को रोजाना अर्घ्य दीजिए। इसके साथ, अपने घर के आस-पास मौजूद किसी भी काले कुत्ते को सरसों का तेल लगाकर रोटी खिलाएं इससे आपकी परेशानी दूर हो जाएगी। 

राहु ग्रह

कमजोर राहु ग्रह मानसिक समस्याओं का कारक कहा जाता है। अगर किसी जातक की कुंडली में राहु ग्रह कमजोर है तो उसे डर, तनाव, नींद ना आने और भ्रम जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इसी के साथ कमजोर राहु डायबिटीज के रोग का कारण भी बन सकता है। 

ऐसे करें राहु ग्रह को मजबूत

अपनी कुंडली में राहु ग्रह को शांत करने के लिए रोजाना ॐ भ्रां भ्रीं भ्रौं स: राहुवै नम: मंत्र का जाप कीजिए और सुबह तुलसी के पत्ते का सेवन कीजिए। इसके साथ भगवान शिव की आराधना अवश्य करें। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर