गांव में नीली रोशनी गिरने से हुआ 20 फीट का गहरा गड्ढा, लोग बोले- 'उल्कापिंड'

साइंस
Updated Jul 31, 2019 | 16:51 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

राजस्थान के एक गांव में नीली रोशनी पड़ने से खेत में 20 फीट गहरा गड्ढा हो गया। गांव के लोगों का कहना है कि खेत में उल्कापिंड गिरा था।

Meteorite falls in village
खेत में गिरा उल्कापिंड  |  तस्वीर साभार: Times Now
मुख्य बातें
  • राजस्थान के गांव में दिखी नीली रोशनी
  • नीली रोशनी भरे पिंड के गिरने से हुआ 20 फीट गहरा गड्ढा
  • गांव के लोगों ने बताया उल्कापिंड

जयपुर। Meteorite falls in village राजस्थान के नगला कसोटा गांव से हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है, यहां कथित तौर पर एक खेत में उल्कापिंड गिरने से गहरा गड्ढा हो गया। जी हां, सही सुना आपने... गांव के लोगों का कहना है कि आसमान से नीली से रोशनी चमकी थी और उसके थोड़ी देर बाद जमीन में 20 फीट गहरा गड्ढा हो गया।

बता दें गांव के लोगों का कहना है कि यहां खेत में उल्कापिंड गिरने से गहरा गड्ढा हो गया। गांव के लोगों ने बताया गांव के निवासी सुरेंद्र सिंह सोमवार को शाम को करीब 7.15 बजे खेत पर ट्रैक्टर चला रहे थे, तभी आसमान से नीली रोशनी पड़ी। इतना ही नहीं उन्होंने ये भी बताया कि नीली रोशनी जहां पड़ी वहां गहरा गड्ढा हो गया।

वो गड्ढा करीब 4 फीट चौड़ा और 20 फीट से ज्यादा गहरा है। इस घटना के बाद गांव के लोगों ने इस बात की जानकारी पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस इसकी जांच कर रही है। पुलिस पता लगाने की कोशिश कर रही है कि ऐसा कैसा हो सकता है। उल्कावस्था एक ठोस वस्तु है जो एक क्षुद्रग्रह के समान संरचना से बना है लेकिन आकार में बहुत छोटी है।

गौरतलब है कि इसरो की ओर से श्रीहरिकोटा से लॉन्च किए जाने के बाद चंद्रयान 2 धरती के चक्कर लगा रहा था। यह चांद की ओर रवाना होने से पहले धरती की कक्षा में चक्कर लगाकर अपनी रफ्तार बढ़ाने का काम कर रहा था। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) की ओर से मिली जानकारी के अनुसार भारत के महत्वाकांक्षी चंद्र अभियान ‘चंद्रयान 2’ को पृथ्वी के इर्द गिर्द दूसरी बार उसकी कक्षा में आगे बढ़ाया गया था, जिससे वह चंद्रमा पर उतरने की दिशा में एक कदम और आगे बढ़ गया था।

 

 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर