Coronavirus Vaccine: कोरोना के गहराते संकट के बीच अच्‍छी खबर! फार्मा कंपनी को यकीन- अक्‍टूबर तक बन जाएगा टीका

साइंस
आईएएनएस
Updated May 30, 2020 | 17:10 IST

Coronavirus Vaccine News: कोरोना महामारी के कारण गहराते वैश्विक संकट के बीच इससे बचाव के लिए टीके पर दुनियाभर की नजर टिकी है। एक बड़ी फार्मा कंपनी ने भरोसा जताया है कि टीका अक्‍टूबर तक बनकर तैयार हो जाएगा।

कोरोना से बचाव के लिए अक्‍टूबर तक बन जाएगा टीका!
कोरोना से बचाव के लिए अक्‍टूबर तक बन जाएगा टीका!  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • कोरोना संकट दुनियाभर में गहराता जा रहा है, जिससे अब तक 3.67 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है
  • दुनियाभर में इस घातक संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और यह आंकड़ा अब 60.55 लाख से भी अधिक हो गया है
  • कोरोना वायरस महामारी के गहराते संकट को देखते हुए हर किसी को इससे बचाव के लिए टीके के बनने का इंतजार है

न्यूयॉर्क : वैश्विक दवा प्रमुख फाइजर का मानना है कि कोविड -19 को रोकने के लिए एक वैक्सीन अक्टूबर के अंत तक तैयार हो सकती है। कंपनी के सीईओ अल्बर्ट बोरला ने ये जानकारी दी है। फाइजर जर्मन एमआरएनए कंपनी बायोएनटेक के सहयोग से कोविड -19 को रोकने के लिए बीएनटी 162 वैक्सीन कार्यक्रम के लिए अमेरिका और यूरोप में क्लीनिकल परीक्षण कर रही है।

बोरला ने इस सप्ताह इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ फार्मास्यूटिकल मैन्युफैक्च र्स एंड एसोसिएशन (आईएफपीएमए) द्वारा आयोजित एक वर्चुअल कार्यक्रम में भाग लेते हुए यह टिप्पणी की। फियर्सबायोटेक द्वारा आयोजित इस समारोह में बोरला ने कहा, अगर चीजें अच्छी तरह से चलती हैं, तो हमारे पास एफडीए (यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन) और ईएमए (यूरोपीय मेडिसिन एजेंसी) के लिए सुरक्षा और प्रभावकारिता के पर्याप्त सबूत होंगे और अक्टूबर के अंत के आसपास हमारे पास एक वैक्सीन होगा।

टीका विकसित करने में जुटीं कंपनियां

इस कार्यक्रम में वक्ताओं में एस्ट्राजेनेका के सीईओ पास्कल सोरियट, ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन की प्रमुख एमा वाल्स्ले, जॉनसन एंड जॉनसन के मुख्य वैज्ञानिक अधिकारी पॉल स्टॉफल्स भी शामिल थे। इनमें से प्रत्येक कंपनी अपने साझेदारों के साथ मिलकर बीमारी से बचाव के लिए वैक्सीन विकसित कर रही है, जबकि जीएसके सैनोफी के साथ सेना में शामिल हो गया है, वहीं एस्ट्राजेनेका ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में विकसित किए जा रहे टीके का समर्थन कर रहा है।

जे एंड जे अपने वैक्सीन को विकसित करने के लिए अमेरिका के बायोमेडिकल एडवांस्ड रिसर्च एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी के साथ सहयोग कर रहा है। अब तक दुनिया भर में 120 से अधिक टीके प्रस्तावित हैं। वर्तमान में, क्लीनिकल ट्रायल में कम से कम 10 वैक्सीन उम्मीदवार हैं और ऐसे 115 वैक्सीन उम्मीदवार हैं जिनके क्लीनिक ट्रायल से पूर्व के मूल्यांकन में हैं।

WHO का टीकों के परीक्षण पर जोर

डब्ल्यूएचओ के अनुसार, जितना संभव हो उतने टीकों का मूल्यांकन करना महत्वपूर्ण है क्योंकि हम यह अनुमान नहीं लगा सकते हैं कि यह कितने व्यवहारिक साबित होंगे। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि सफलता की संभावना बढ़ाने के लिए, सभी उम्मीदवारों के टीके का परीक्षण तब तक करना आवश्यक है जब तक वे विफल नहीं हो जाते।

फाइजर और बायोएनटेक के डेवलपमेंट प्रोग्राम में चार वैक्सीन उम्मीदवार शामिल हैं, जिनमें से प्रत्येक एमआरएनए के अलग कॉम्बिनेशन और टारगेट एंटीजन का प्रतिनिधित्व करते हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर