लगातार चांद के करीब पहुंच रहा है चंद्रयान 2, पाकिस्तान सहित दुनिया भर में हो रही तारीफ

साइंस
Updated Jul 28, 2019 | 00:55 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो की ओर से चंद्रमा की ओर लॉन्च किया गया दूसरा मिशन चंद्रयान 2 धीरे- धीरे चांद के करीब पहुंचता जा रहा है। इस मिशन की पाकिस्तान सहित दुनिया भर के लोग तारीफ कर रहे हैं।

Chandrayan 2
चांद की ओर कदम बढ़ा रहा है चंद्रयान 2 

नई दिल्ली: इसरो की ओर से श्रीहरिकोटा से लॉन्च किए जाने के बाद चंद्रयान 2 धरती के चक्कर लगा रहा है। यह चांद की ओर रवाना होने से पहले धरती की कक्षा में चक्कर लगाकर अपनी रफ्तार बढ़ाने का काम कर रहा है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) की ओर से मिली जानकारी के अनुसार भारत के महत्वाकांक्षी चंद्र अभियान ‘चंद्रयान 2’ को पृथ्वी के इर्द गिर्द दूसरी बार उसकी कक्षा में आगे बढ़ाया गया है, जिससे वह चंद्रमा पर उतरने की दिशा में एक कदम और आगे बढ़ गया है।

इसरो ने एक बयान में कहा कि चंद्रायान ने गुरुवार देर रात करीब एक बजकर आठ मिनट पर पृथ्वी के गुरुत्वीय प्रभाव वाले क्षेत्र की कक्षा में आगे बढ़ते हुए अपनी दूसरी कक्षा में प्रवेश किया। इसके लिए उसने यान में मौजूद थ्रस्ट टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया है, इस पूरी प्रक्रिया में 15 मिनट का समय लगा। इसरो ने यह भी बताया कि अंतरिक्षयान (चंद्रयान 2) की सभी गतिविधियां सामान्य स्थिति में हैं।

देश के महत्वाकांक्षी और बेहद कम लागत वाले अंतरिक्ष कार्यक्रम की दिशा में यह मिशन एक बड़ी छलांग है। इसरो ने 22 जुलाई को आंध्र प्रदेश स्थित श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र से अपने शक्तिशाली जीएसएलवी-एमकेIII-एम 1 रॉकेट के जरिए ‘चंद्रयान 2’ को सफलतापूर्वक पृथ्वी की कक्षा में स्थापित कर दिया था। अगर यह मिशन सफल रहता है तो रूस, अमेरिका और चीन के बाद चंद्रमा की सतह पर उतरने वाला भारत चौथा देश बन जाएगा।

गौरतलब है कि चंद्रयान-2 का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण करने पर पाकिस्तान सहित पूरी दुनिया में भारत की इस उपलब्धि की सराहना की जा रही है। पाकिस्तान के लोगों का कहना है कि पाकिस्तान को भारत से सीख लेने की जरूरत है। कई यूट्यूबरों और सोशल मीडिया यूजर्स ने पाकिस्तान में चंद्रयान 2 पर लोगों के रिएक्शन लिए हैं। एक वीडियो में एक व्यक्ति ने कहा है- 'अच्छा कदम, प्रौद्योगिकी में वे हमेशा बहुत आगे हैं। पाकिस्तान को इससे सीखना चाहिए।'

भारत ने 22 जुलाई को चंद्रयान-2 का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया। चंद्रयान-2 निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार, 20 अगस्त को चांद पर पहुंचेगा। वीडियो में एक अन्य व्यक्ति ने कहा- 'हम इसकी सराहना करते हैं। हमें उनसे सीखना चाहिए और यह निर्णय लेना चाहिए कि हमें क्या करना चाहिए।'

हालांकि कुछ लोगों ने सचेत करते हुए कहा कि विज्ञान और प्रौद्योगिकी में भारत की प्रगति ने पाकिस्तान के लोगों को एक खतरनाक पड़ोस में ला खड़ा कर दिया है, इसलिए देश को युवाओं और विज्ञान व प्रौद्योगिकी पर निवेश करना चाहिए। वहीं, इजरायल, अमेरिका और जर्मनी सहित कई देशों के दूतावासों ने भी भारत की अंतरिक्ष एजेंसी की बड़ी छलांग का स्वागत किया है। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर