राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी की संयुक्त प्रवेश परीक्षा से 2.5 करोड़ लोगों को नौकरी में मदद मिलेगी

सरकारी नौकरी
भाषा
Updated Aug 31, 2020 | 20:41 IST

केन्द्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (एनआरए) द्वारा कराई जाने वाली संयुक्त प्रवेश परीक्षा (सीईटी) से 2.5 करोड़ लोगों को नौकरी में मदद मिलेगी।

National Recruitment Agency's Joint Entrance Examination
राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी एंट्रेस टेस्ट नौकरी में होगी सहायक। 

कोलकाता:  केन्द्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह ने सोमवार को कहा कि विभिन्न सरकारी एजेंसियों में रिक्त पदों को भरने के लिये राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (एनआरए) द्वारा कराई जाने वाली संयुक्त प्रवेश परीक्षा (सीईटी) से नौकरी चाहने वाले कम से कम 2.5 करोड़ लोगों को मदद मिलेगी।सिंह ने एक वेबिनार को संबोधित करते हुए कहा कि पहले विभिन्न कारणों से भर्ती परीक्षा नहीं दे पाए लोगों को एक और मौका मिलेगा और इससे आवेदकों की संख्या काफी बढ़कर तीन करोड़ पहुंच सकती है।

केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने केन्द्र सरकार की अधिकतर नौकरियों पर अभ्यर्थियों के चयन को लेकर ऑनलाइन सीईटी परीक्षा कराने के लिये 19 अगस्त को एनआरए के गठन को मंजूरी दी थी।केन्द्रीय कार्मिक राज्य मंत्री सिंह ने कहा, ''देश में नौकरी चाहने वाले लगभग 2.5 करोड़ युवा हैं और वे प्रारंभिक (भर्ती) परीक्षाएं देने के लिये देश में कहीं भी जाने के लिये तैयार हैं।'

उन्होंने कहा कि सीईटी देश के हर जिले के कम से कम एक केन्द्र में आयोजित की जाएगी। इससे दूर-दराज के इलाके में रह रहे लोगों को काफी मदद मिलेगी क्योंकि उन्हें परीक्षाएं देने के लिये दूसरे राज्यों या शहरों की लंबी यात्राएं नहीं करनी पड़ेंगी 
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर