पुणे का हैरान कर देने वाला मामला, स्टूडेंट ने इसलिए बना डाला सोशल मीडिया पर मैडम का फर्जी अश्लील अकाउंट

Pune Crime: छात्र ने सोशल मीडिया पर टीचर का फेक पॉर्न अकाउंट बनाया और उसे सेक्स वर्कर के रूप में दिखाया। पीड़िता ने गलती करने वाले छात्र को स्कूल के नियमों का उल्लंघन करने के लिए दंडित किया था। छात्र ने इस बात का बदला लिया।

Pune Cyber Crime
पुणे के छात्र ने टीचर को सोशल मीडिया पर बताया सेक्स वर्कर  |  तस्वीर साभार: BCCL
मुख्य बातें
  • सोशल मीडिया पर मैडम का बनाया फर्जी अश्लील अकाउंट
  • सोशल मीडिया पर टीचर को बताया सेक्स वर्कर
  • पनिशमेंट देने पर लिया टीचर से बदला

Pune Crime: एक सैन्य स्कूल के छात्र ने महिला टीचर के नाम से ही एक नकली सोशल मीडिया अकाउंट खोला और उसे सेक्स वर्कर के रूप में दिखाया। पुलिस के अनुसार, मुंबई का 19 वर्षीय छात्र एक बॉयज स्कूल में बारहवीं का छात्र है। उसने अपने 20 वर्षीय दोस्त को बदला लेने के लिए नकली सोशल मीडिया अकाउंट बनाने के लिए मजबूर किया। बताया गया है कि, टीचर ने लड़के को नियम तोड़ने के लिए पनिशमेंट दी थी।

पिछले चार साल से स्कूल में काम कर रही पीड़िता को फर्जी अकाउंट के बारे में तब पता चला जब एक साथ काम करने वाले पुरुष टीचर ने उन्हें इस बारे में बताया और 7 अप्रैल को उसके स्क्रीनशॉट भेजे। इस अकाउंट पर किसी ने उसकी तस्वीर और मोबाइल नंबर पोस्ट किया था। खाता और पेड सर्विस के लिए डीएम पोस्ट भी डाली गई थी।

टीचर का बनाया नकली अकाउंट

एक पोस्ट में लिखा था, पेड सर्विस फॉर स्पेशल ऑफर फॉर कॉमर्स स्टूडेंट्स। इसके बाद पीड़िता साइबर थाने पहुंची और शिकायत दर्ज कराई। साइबर पुलिस ने जांच के बाद दोनों छात्रों का पता लगा लिया। आईपी ​​​​एड्रेस से अकाउंट बनाने वाले छात्र का पता चला जिसने साथी छात्र के कहने पर फर्जी इंस्टाग्राम प्रोफाइल तैयार की थी। साइबर थाने से जुड़े पुलिस सब-इंस्पेक्टर धनाजी टोन ने मीडिया को बताया कि, पीड़िता ने छात्र को दो महीने पहले स्कूल के नियमों की धज्जियां उड़ाने के लिए पनिशमेंट दी थी। इसके बाद आरोपी ने उससे बदला लेने का फैसला किया। पुलिस ने अकाउंट बनाने वाले छात्र को उसके आईपी पते से ट्रैक किया।

बदला लेने के लिए बनाया था अकाउंट

पूछताछ करने पर उसने खुलासा किया कि छात्र ने उसे महिला शिक्षिका का खाता खोलने के लिए कहा था। जब उसने मना किया तो छात्र ने छात्रावास में हुए नाइट आउट का खुलासा करने की धमकी दी। उन्होंने कहा कि छात्र स्कूल में शरारत करता था। वह बिना अनुमति के छात्रावास से बाहर निकल जाता था और नियम तोड़ता था जिसके लिए उसे पनिशमेंट मिली। साइबर पुलिस ने दोनों को सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम के भारतीय दंड संहिता की धारा 199 (झूठा बयान देने), 200 , भारतीय दंड संहिता की 500 (मानहानि) और संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया। साइबर पुलिस ने जांच पूरी कर मामले को लोनीकंद थाने भेज दिया। हालांकि अभी तक दोनों को लोनीकंद थाना पुलिस ने गिरफ्तार नहीं किया है। पुलिस ने कहा कि, पीड़िता पुणे में नहीं है। हम उनका विस्तृत बयान दर्ज करना चाहते हैं। हम इस मामले में और जानकारी हासिल करना चाहते हैं। इसलिए, हमने उन्हें अभी तक गिरफ्तार नहीं किया है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर