Pune Bank Locker Theft: पुणे के बैंक लॉकर से चुराए थे लाखों के गहने, ऐसे दिया वारदात को अंजाम, पकड़ाया चोर

Pune Bank Locker Theft: अब शातिर चोर लॉकर भी सेंध लगाने लगे हैं। ऐसा ही एक सनसनीखेज मामला सामने आया है पुणे से। यहां लॉकर से एक बुजुर्ग महिला के लाखों के जेवर चोरी हो गए। हालांकि पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए आरोपी को पकड़ लिया और उससे गहने भी बरामद कर लिए हैं।

Pune Bank Locker Theft
पुणे में सामने आया अनोखा मामला, लॉकर से गहने चोरी   |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • पुणे में सामने आया अनोखा मामला, लॉकर से गहने चोरी
  • बैंककर्मियों की एक भूल का फायदा उठा लिया चोर ने
  • पुलिस आई एक्शन मोड में, पकड़ा चोर, बरामद किए गहने

Pune Bank Locker Theft: अपना कीमती सामान, जेवर और दस्तावेज रखने के लिए कोई भी व्यक्ति बैंक लॉकर को सबसे सुरक्षित स्थान मानता है। लेकिन अब शातिर इसमें भी सेंध लगाने लगे हैं। जी हां, ऐसा ही एक सनसनीखेज मामला सामने आया है पुणे से। यहां लॉकर से एक बुजुर्ग महिला के लाखों के जेवर चोरी हो गए। जब महिला को इस बात का पता चला तो उसके पैरों तले जमीन निकल गई। वहीं जब उसने इस बात की सूचना बैंक को दी तो वहां भी हड़कंप मच गया। हालांकि पुलिस ने तत्पराता दिखाई और आरोपी को दो दिन में ही पकड़ लिया। 

जानकारी के अनुसार घटना 10 मई को सतारा रोड स्थित एक निजी बैंक की है। मामले के बारे में खुलासा होने पर 66 वर्षीय महिला ने सहकार नगर थाने में एक जून को केस दर्ज करवाया। महिला ने पुलिस को बताया कि उसके 4.80 लाख रुपये के सोने के गहने बैंक के लॉकर से चोरी हो गए हैं।

ऐसे​ दिया शातिर ने चोरी को अंजाम 

महिला ने पुलिस को बताया कि वह बैंक में लॉकर ऑपरेट करने गई थी। इस दौरान उसके लॉकर का दरवाजा ठीक से बंद नहीं हो रहा था। जिसकी शिकायत उसने बैंक कर्मचारियों से की। इसपर महिला को लॉकर से अपना सामान बाहर निकालने के लिए कहा गया। जब महिला ने गहने देखे तो वह हैरान रह गई। जेवरों से भरा एक बैग गायब था, जिसमें करीब  4.80 लाख रुपये जेवर थे। महिला ने तुरंत इसकी सूचना बैंककर्मियों को दी। जिसके बाद पुलिस में मामला दर्ज करवाया गया। 

बैंककर्मियों की एक भूल का उठाया फायदा

पुलिस जांच में पता चला कि एक फर्म में काम करने वाला शख्स बीते दो माह से लॉकर्स की मरम्मत का काम कर रहा था। पुलिस को उसपर शक हुआ तो उससे पूछताछ की गई जिसमें सतारा के मुलिकवाड़ी निवासी सोमनाथ जयचंद मुलिक ने अपना जुर्म कबूल लिया। मुलिक ने पुलिस को बताया कि जब वह लॉकर की मरम्मत कर रहा था तो रूम में कोई नहीं था। ऐसे में उसने इसी का फायदा उठाया और ड्रिल मशीन से लॉकर खोलकर उससे गहने चुरा लिए। अधिकारियों ने बताया कि पुलिस से बचने के लिए सोमनाथ जयचंद मुलिक ने अपना नाम भी बदल लिया था। उसने गहने अपने ही घर पर छिपा दिए थे, जिन्हें पुलिस ने बरामद कर लिया है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर