अखिलेश यादव ने डॉक्टर को डांटा, कहा- तुम सरकार का पक्ष ले रहे हो..बाहर भाग जाओ, वीडियो हुआ वायरल

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने एक अस्पताल में डॉक्टर को डांटते हुए कहा कि बाहर जाओ। तुम सरकार का पक्ष नहीं ले सकते। 

SP president Akhilesh Yadav slams doctor
SP president Akhilesh Yadav slams doctor  |  तस्वीर साभार: PTI

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को कन्नौज के छिबरामऊ के एक अस्पताल में डॉक्टर को डांटते हुए देखा गया। जहां वह 12 जनवरी को हुए बस दुर्घटना में घायल लोगों से मिलने गए थे। इस हादसे में 20 लोग मारे गए थे। शुक्रवार को एक ट्रक से टकराने के बाद एक डबल डेकर बस आग लग गई थी। लपटों की चपेट में आने से कई अन्य घायल हो गए थे। घायलों के परिजनों के साथ बातचीत करते हुए अखिलेश यादव को डॉक्टर पर चिल्लाते हुए सुना गया। उन्होंने कहा कि आप आरएसएस से हो सकते हैं या बीजेपी से, लेकिन आप मुझे यह नहीं बता सकते कि वे क्या कह रहे हैं। वह इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर को कमरे से बाहर जाने के लिए कहते है क्योंकि वह घायलों को दी गई मुआवजे की रकम पर बात करते है और कहते हैं कि तुम सरकार का पक्ष नहीं ले सकते ... बाहर भाग जाओ।

अखिलेश ने डॉक्टर को जमकर फटकार लगाई जब बाद में हस्तक्षेप करने की कोशिश की जब कुछ मरीजों ने समाजवादी पार्टी के नेता से शिकायत की कि उन्हें मुआवजा नहीं मिला है। यह जानने पर कि डॉक्टर गोरखपुर से हैं, अखिलेश ने कहा कि अब यह स्पष्ट है कि आप पक्ष क्यों ले रहे हैं। जब आप मरीजों से बात कर रहे थे तो आपको बीच में नहीं रोकना चाहिए था। आप नहीं बोलते, आप एक सरकारी आदमी हैं। मुझे पता है। आपको मुझे कुछ भी समझाने की आवश्यकता नहीं है। आप इसलिए नहीं बोलते हैं क्योंकि आप एक सरकारी कर्मचारी हैं। आप मुझे नहीं कह सकते कि वे क्या कह रहे हैं। आपको सरकार की ओर से बोलने की आवश्यकता नहीं है। यहां से आप जाइए।

डॉक्टर की पहचान इमरजेंसी मेडिकल अधिकारी डीएस मिश्रा के रूप में की गई है जिन्होंने बाद में स्पष्ट किया कि उन्होंने परिजनों को मुआवजा नहीं मिलने के दावे को सही करने की कोशिश की थी। मिश्रा ने कहा कि मैं वहां मौजूद था जब मैं मरीजों का इलाज कर रहा था। मरीजों में से एक ने कहा कि उसे मुआवजे का चेक नहीं मिला। मैंने स्पष्ट करने की कोशिश की कि चेक दिया गया था। इस पर अखिलेश जी नाराज हो गए और मुझे कमरे से बाहर जाने को कहा।

कन्नौज (सदर) से एसपी विधायक अनिल दोहरे ने कहा कि डॉक्टर राजनीतिक लाइन पर बात कर रहे थे, हालांकि उनका काम मरीजों की देखभाल करना है। अखिलेश मरीजों के स्वास्थ्य और उनके इलाज के बारे में जानना चाहते थे। लेकिन डॉक्टर ने बोलना शुरू कर दिया। और बताना शुरू कर दिया कि कितने लोग बस में थे और कितना मुआवजा दिया गया। सरकार को इस मुद्दे पर संज्ञान लेना चाहिए। 

सपा ने मृतकों के परिवार को 20 लाख रुपए की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है, जबकि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को 2 लाख रुपए और घायलों को 50,000 रुपए की राहत देने की घोषणा की है। शुक्रवार की रात छिबरामऊ के पास ग्रैंड ट्रंक रोड पर दुर्घटनाग्रस्त बस फर्रुखाबाद से जयपुर जा रही थी बस में तीन स्टाफ समेत 45 यात्री सवार थे। पूरी तरह से क्षतिग्रस्त बस से 10 लोगों के शव बरामद किए गए हैं जबकि शेष शव नहीं मिले हैं।

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...