योगी का भू-माफियाओं पर शिंकजा, छोटा हो या बड़ा सब पर चलेगा 'पीला पंजा'

एक समय पर भूमाफ‍ियाओं का गढ़ रहा उत्‍तर प्रदेश मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के नेतृत्‍व में नई छवि पेश कर रहा है। यह छवि है पारदर्शी शासन की जहां किसी तरह के अपराध के लिए कोई जगह नहीं है।

Yogi Adityanath Action
Yogi adityanath CM Uttar Pradesh 

मुख्य बातें

  • भूमाफ‍ियाओं पर प्रभावी तरीके से कार्रवाई कर रही योगी सरकार
  • लखनऊ में सपा सरकार के राज्‍यमंत्री के कॉलेज को क‍िया ध्‍वस्‍त
  • उससे पहले मुख्‍तार अंसारी के अवैध न‍िर्माण पर की थी कार्रवाई

एक समय पर भूमाफ‍ियाओं का गढ़ रहा उत्‍तर प्रदेश मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के नेतृत्‍व में नई छवि पेश कर रहा है। यह छवि है पारदर्शी शासन की जहां किसी तरह के अपराध के लिए कोई जगह नहीं है। खुद योगी आदित्‍यनाथ ने मुख्‍यमंत्री पद की शपथ लेते ही इस बात संदेश साफ तौर पर गुंडे, बदमाशों और भूमाफ‍ियाओं को दे दिया था। इसका परिणाम ये रहा है कि अपराधी किस्‍म के लोग भूमिगत हो गए या तो प्रदेश से पलायन कर गए। अब योगी आदित्‍यनाथ ने बीती सरकारों में किए गए कुकर्मों पर डंडा चलाने का काम कर रही है। 

इसी क्रम में योगी आदित्‍यनाथ ने अखिलेश यादव की सरकार में राज्यमंत्री इकबाल अली के कैरियर मेडिकल और डेंटल कॉलेज पर बुल्‍डोजर चलवा दिया। तहसील सदर लखनऊ द्वारा सरकारी ज़मीन पर अवैध अतिक्रमण के विरुद्ध इस कार्यवाई में भू-माफिया अजमत अली और इकबाल अली से करोड़ों की जमीन योगी सरकार के न‍िर्देशन के बाद छुड़वाई गई। इस कार्रवाई से योगी आदित्‍यनाथ ने उस सोच को बदलने का काम किया है, जब लोग कहते थे कि नेताओं का किसी सरकार में कुछ नहीं बिगड़ता। कभी शायद ही किसी ने सोचा होगा कि किसी नेता-मंत्री की अवैध इमारत, ताश के पत्ते की तरह यूं ढहा दी जाएगी। 

भाजपा ने की सरकार की कार्रवाई की प्रशंसा

यूपी भाजपा के प्रवक्‍ता डॉ. चंद्रमोहन ने इस कार्रवाई पर सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा कि अखिलेश सरकार भूमाफिया सरकार थी। अब योगी सरकार में कानून का 'इकबाल' बुलंद है। आपने जितने भी भूमाफिया आजम, अंसारी और इकबाल पैदा किये हैं योगी सरकार उन्हें उखाड़ फेंकेगी, उनका 'इकबाल' धूल में मिल जाएगा। 3 सालों से योगी का बुलडोज़र लगातार अवैध इमारतों पर चल रहा,आज सरकारी ज़मीनें भूमाफ़ियों से पूरी तरह ख़ाली हो चुकी हैं। पूर्व राज्यमंत्री इकबाल अली की ज़मींदोज़ हो रही इमारत सबूत है। 

पहले आजम और अंसारी पर हुई कार्रवाई

भाजपा प्रवक्‍ता और सूचना सलाहकार शलभमणि त्रिपाठी ने भी ट्वीट करते हुए योगीराज में कानून का राज स्‍थापित होने की बात कही। उन्‍होंने ल‍िखा- पूर्व राज्यमंत्री इकबाल अली की ज़मींदोज़ हो रही इमारत सबूत है योगीराज में बुलंद हो चुके क़ानून राज का। ये इमारत पिछली सरकार में सरकारी ज़मीन क़ब्ज़ा कर बनाई गई थी। 3 सालों से योगी का बुलडोज़र लगातार ऐसी इमारतों पर चल रहा है। आज सरकारी ज़मीनें भूमाफ़ियों से पूरी तरह ख़ाली हो चुकी हैं। बता दें योगी सरकार इससे पहले समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खां की अवैध प्रॉपर्टी पर ध्‍वस्‍तीकरण की कार्रवाई कर चुकी है। सरकार ने आजम खान को भूमाफ‍िया घोषित किया था और रामपुर में उनके रिसॉर्ट पर बुलडोज़र चलवाया था। आजम खान ने सिंचाई विभाग की 1000 स्क्वायर मीटर जमीन हड़पी और उस पर अवैध तरीके से निर्माण किया था। 

मुख्‍तार अंसारी पर योगी की सख्‍ती 

योगी राज में बाहुबली मुख्तारी अंसारी पर नकेल कसी जा रही है। योगी सरकार ने कुछ वक्‍त पहले ही मुख्तार अंसारी के करीबी ठेकेदारो पर ताबड़तोड़ कार्रवाई करते अवैध कब्जा कर बनाये गए 3 हॉट मिक्सिंग प्लांट ध्वस्त किए। वहीं एयरपोर्ट की जमीन पर कब्जा कर बनाए प्‍लांट से मशीनों को भी जब्त किया। इन कार्रवाइयों से योगी शासन में मुख्‍तार की कम टूट रही है।

गठित की है एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स

बता दें कि योगी आदित्यनाथ सरकार ने कैबिनेट बैठक में एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स गठित करने का फैसला किया था। यह फोर्स भू-माफियाओं पर नकेल कसने के लिए काम करती है और जमीनों से अवैध कब्जे हटवाती है। जमीनों से अवैध कब्जे हटाने के लिए कई स्तर पर टास्क फोर्स भी गठित की जागई हैं। उत्‍तर प्रदेश के भीतर राज्य, मंडल, जिला और तहसील स्तर पर एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स तैनात हैं। 

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर