CM योगी का निर्देश- कोरोना जांच के ल‍िए गठित करें एक लाख टीमें, प्रतिदिन 25 हजार टेस्‍ट पर जोर

कोरोना वायरस पर चौतरफा वार के ल‍िए उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने प्रदेशभर में एक लाख स्‍क्रीनिंग और टेस्टिंग टीम गठ‍ित करने का न‍िर्देश द‍िया है।

CM Yogi Adityanath Team 11 Meeting
CM UP Yogi Adityanath 

मुख्य बातें

  • शुक्रवार को टीम 11 की बैठक में सीएम ने द‍िए महत्‍वपूर्ण न‍िर्देश
  • कोरोना जांच को प्रतिद‍िन 25 हजार तक ले जाने का रखा लक्ष्‍य
  • स्‍क्रीन‍िंग और टेस्‍ट‍िंंग के ल‍िए एक लाख टीमें गठ‍ित करने के न‍िर्देश

कोरोना वायरस पर चौतरफा वार के ल‍िए उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने प्रदेशभर में एक लाख स्‍क्रीनिंग और टेस्टिंग टीम गठ‍ित करने का न‍िर्देश द‍िया है। साथ ही उन्‍होंने जांच की संख्‍या को 25000 प्रतिदिन तक ले जाने का प्रयास करने की बात कही है। मुख्यमंत्री ने सोमवार को अपने आवास पर टीम 11 की बैठक में सभी जिलाधिकारियों तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को कार्ययोजना बनाकर मेडिकल स्क्रीनिंग का वृहद अभियान संचालित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि कंटेनमेंट जोन के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी सर्वे के माध्यम से स्क्रीनिंग की जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा है कि टीमों की संख्या में वृद्धि करते हुए लगभग 01 लाख से अधिक टीम गठित कर मेडिकल स्क्रीनिंग की कार्यवाही की जाए। उन्होंने स्क्रीनिंग में संदिग्ध पाए गए व्यक्तियों के उपचार की पूरी व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने निर्देश दिए हैं कि ग्रामीण तथा शहरी इलाकों में प्रत्येक सप्ताह टीम द्वारा निर्धारित क्षेत्रों में स्क्रीनिंग की जाए। स्क्रीनिंग टीम को पल्स ऑक्सीमीटर, इंफ्रारेड थर्मामीटर तथा सैनिटाइजर आदि अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराए जाए।

प्रदेश में स्थापित होंगी कोविड हेल्‍प डेस्‍क

मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कोरोना की टेस्टिंग क्षमता को बढ़ाकर 25 हजार टेस्ट प्रतिदिन किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में वैकल्पिक टेस्टिंग व्यवस्था के तहत एन्टीजेन टेस्ट आदि को आवश्यकतानुसार अपनाए जाने पर विचार किया जाए। वहीं उन्‍होंने कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना-कार्य को तेज करने, मंत्रियों द्वारा कोविड हेल्प डेस्क का निरीक्षण करने और डीजीपी यूपी से व्‍यवस्‍थाओं का निरीक्षण करने के लिए कहा।

रोगियों को ना हो परेशानी, भरपूर मिले खाना

मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोविड अस्पतालों में भर्ती रोगियों को निश्चित समय पर दवा, भोजन तथा नाश्ता आदि उपलब्ध कराया जाए। मरीजों को पीने के लिए गुनगुने पानी की व्यवस्था की जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि डाॅक्टर तथा नर्सिंग स्टाफ नियमित राउंड लें। वहीं उन्‍होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा योग्य, अनुभवी एवं वरिष्ठ स्वास्थ्य विशेषज्ञों की टीम तैयार की जाए, जो प्रदेश की चिकित्सा व्यवस्था को बेहतर करने में सहयोग कर सके। 

सीएम की अपील, कोरोना से घबराएं नहीं

मुख्‍यमंत्री ने प्रदेश के लोगों से कोरोना महामारी से ना घबराने की अपील की। उन्‍होंने कहा कि कोरोना से बचाव सम्बन्धी जागरूकता कार्यक्रम निरन्तर संचालित किए जाएंगे जो लोगों को जागरूक करेंगे। वहीं उन्‍होंने कहा कि अस्पतालों में PPE किट, एन-95 मास्क, ग्लव्स, सैनिटाइजर आदि की सुचारु व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। पी.ए.सी. वाहिनी जैसे स्थान, जहां सामूहिक रूप से लोगों को रहना पड़ता है, वहां दो गज की दूरी के नियम का अनिवार्य रूप से पालन सुनिश्चित किया जाए। 

अगली खबर