राम खिलावन हत्याकांड में लखनऊ पुलिस का चौंकाने वाला खुलासा, हत्या के बाद तीनों बेटों ने मिलकर जलाई थी पिता की लाश

Lucknow Murder Case: लखनऊ पुलिस ने राम खिलावन की हत्या मामले में एक चौंकाने वाला खुलासा किया है। पुलिस की जांच में पता चला कि हत्या के बाद तीनों बेटों ने मिलकर पिता के शव को जलाया था।

Lucknow
राम खिलावन हत्याकांड में लखनऊ पुलिस ने बेटों को भेजा जेल  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • लखनऊ में राम खिलावन हत्या में चौंकाने वाला खुलासा
  • हत्या के बाद तीनों बेटों ने मिलकर जलाई थी पिता की लाश
  • पुलिस ने तीनों बेटों को भेजा जेल

Lucknow Murder Case: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हुए राम खिलावन की हत्या के मामले में पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। पुलिस ने हत्या के मामले में दो बेटों को और गिरफ्तार किया है, जबकि बड़े बेटे कौशल को पहले ही पुलिस ने गिरफ्तार लिया था। पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश किया था, जहां से उसे जेल भेज दिया गया था। पुलिस की जांच में पता चला कि तीनों बेटों ने मिलकर अपने पिता के शव को जलाया था। पुलिस जल्द ही इस पूरे मामले का खुलासा करेगी।

बता दें कि दुबग्गा के जेहटा चौकी के दौलतखेड़ा निवासी राम खिलावन (60) की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने उस समय हत्या के आरोप में बड़े बेटे कौशल को गिरफ्तार किया था। अब अन्य दो आरोपी बेटों रोहित और मोहित को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

पिता के साथ हुआ था बड़े बेटे कौशल का विवाद

पुलिस की जांच में पता चला है कि राम खिलावन का अपने बड़े बेटे कौशल के साथ विवाद हो गया था। दोनों के बीच कहासुनी हुई थी, जिसके बाद कौशल ने अपने पिता की पीट-पीटकर हत्या कर डाली थी। हत्या के बाद कौशल ने अपने दोनों छोटे भाइयों के साथ मिलकर लाश को गोमती नदी के किनारे खाली प्लॉट में फेंक कर जला दिया था। पुलिस ने आरोपी कौशल से सख्ती के साथ पूछताछ की तो उसने अपने दोनों भाइयों के नाम भी उजागर कर दिए। पुलिस ने तीनों भाइयों को जेल भेज दिया है।

जमीन को लेकर था बाप-बेटे में विवाद

पुलिस के मुताबिक, बड़े बेटे कौशल का अपने पिता राम खिलावन से जमीन को लेकर विवाद चल रहा था। बताया गया कि राम खिलावन ने करीब चार साल पहले एक बीघा जमीन बेच दी थी। उसने यह रकम अपनी पत्नी के होने के बावजूद भी किसी दूसरी महिला को दे दी थी। यही नहीं राम खिलावन की कुछ आदतें भी ठीक नहीं थीं। इन्हीं बातों को लेकर परिजन नाराज रहते थे। सभी परिजन राम खिलावन से अलग दूसरे मकान में रहते हैं। वहीं एक हत्या के आरोप में करीब चार साल पहले राम खिलावन के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था। दो साल पहले ही राम खिलावन जमानत पर रिहा होकर आया था।

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर