राम मंदिर पर बोले कल्‍याण स‍िंह- 'पूरा हो रहा है करोड़ों हिन्‍दुओं का सपना, ऐतिहासिक होगा पल'

Kalyan Singh on bhoomi pujan : अयोध्‍या में भूमि पूजन की तैयारियों के बीच बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता कल्‍याण सिंह ने 1990 के दशक के शुरुआती वर्षों को याद किया। वह यूपी के सीएम थे, जब विवाद‍ित ढांचा गिराया गया था।

'500 वर्षों के संघर्ष के बाद मिली सफलता, सरकार चली गई अफसोस नहीं', अयोध्या में भूमि पूजन पर बोले कल्याण सिंह
'500 वर्षों के संघर्ष के बाद मिली सफलता, सरकार चली गई अफसोस नहीं', अयोध्या में भूमि पूजन पर बोले कल्याण सिंह  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • अयोध्‍या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन 5 अगस्‍त को होने जा रहा है
  • भूमि पूजन कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भी शिरकत करने का कार्यक्रम है
  • बीजेपी में अयोध्‍या आंदोलन के 'हीरो' रहे कल्‍याण सिंह के मुताबिक यह ऐतिहासिक दिन होगा

लखनऊ : अयोध्‍या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन को लेकर लोगों में खासा उत्‍साह है। इसे लेकर जोरशोर से तैयारियां जारी हैं। भूमि पूजन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भी 5 अगस्‍त को अयोध्‍या पहुंचने का कार्यक्रम है। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए देशभर से 200 से अधिक गणमान्‍य लोगों को आमंत्रित किया गया है, जिसमें उत्‍तर प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री व बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता कल्‍याण सिंह भी शामिल हैं।

'ऐतिहासिक होगी 5 अगस्‍त की तारीख'

बीजेपी में कल्‍याण सिंह को अयोध्‍या आंदोलन के 'नायक' के तौर पर देखा जाता है। वह उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री थे, जब अयोध्‍या में 6 दिसंबर, 1992 को कारसेवकों ने विवादित ढांचा गिरा दिया था। अब अयोध्‍या में राम मंदिर निर्माण को लेकर कल्‍याण सिंह का कहना है कि वर्षों के आंदोलन के बाद यह सफलता मिली है। 5 अगस्त का दिन ऐतिहासिक होने जा रहा है। यह भारत के सांस्कृतिक गुलामी से स्वतंत्र होने का दिन है।

'500 वर्षों के संघर्ष के बाद मिली सफलता'

बकौल कल्‍याण सिंह, 'अयोध्‍या में राम जन्‍मभूमि को मुक्‍त कराने के लिए 500 वर्षों तक संघर्ष हुआ। लेकिन राम जन्मभूमि मुक्त नहीं हो पाई थी। अब जाकर यह सफलता मिली है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भूमि पूजन करने अयोध्‍या पहुंच रहे हैं।' उन्‍होंने यह भी कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए वह भूमि पूजन कार्यक्रम से एक दिन पहले 4 अगस्‍त को ही वहां पहुंचेंगे और कार्यक्रम में हिस्‍सा लेंगे।

'गर्व है किसी कारसेवक की जान लेने का आरोप नहीं लगा'

उस दौरान अपने कार्यकाल को याद करते हुए कल्‍याण सिंह ने कहा कि बतौर सीएम उन्‍होंने किसी पर भी गोली नहीं चलाने के आदेश दिए थे। उस वक्‍त जो स्थिति थी, उसमें गोलीबारी की घटना से माहौल बिगड़ सकता था। बड़ी संख्‍या में लोगों की मौत हो सकती थी और देश में हिंसा भड़क सकती थी। उन्‍होंने कहा, 'मुझे गर्व है कि मेरे माथे पर किसी भी कारसेवक की जान लेने का आरोप नहीं लगा।'

'पूरा होने जा रहा है करोड़ों हिन्‍दुओं का सपना'

इस घटना के बाद कल्‍याण सिंह की सरकार बर्खास्‍त कर दी गई थी, उन्‍हें मुकदमों का भी सामना करना पड़ा। हालांकि यूपी के पूर्व सीएम का कहना है कि उन्हें इसका कोई अफसोस नहीं है। उन्‍होंने कहा, 'जिसके प्रति श्रद्धा होती है उसके मुकाबले सरकार का गिरना छोटी बात है।' कारसेवकों द्वारा ढांचा गिराए जाने पर बीजेपी नेता ने कहा, जो होना था वो हो गया। करोड़ों हिन्दुओं की आशा थी कि यहां राम मंदिर बने। अब यह सपना पूरा होने जा रहा है। उन्‍होंने यह भी कहा कि इसका श्रेय उन सभी को मिलना चाहिए, जिन्‍होंने मंदिर निर्माण के लिए संघर्ष किया और अपने प्राण न्यौछावर किए।

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर