लखनऊ से कानपुर के बीच चार लाइन पर दौड़ेंगी हाईस्पीड ट्रेनें, अभी नहीं चलेगी मेमू

Indian Railway News: लखनऊ के चारबाग से कानपुर के बीच डबल रेल लाइन अब फोर लेन होगी। इसे रेलवे बोर्ड की ओर से मंजूरी दी गई है। इस रूट के रेलवे अधिकारी जमीन तलाशने के लिए एक और सर्वे करेंगे।

Indian Railway
भारतीय रेलवे  |  तस्वीर साभार: Facebook
मुख्य बातें
  • रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर, इस रूट पर दौड़ेंगी हाईस्पीड ट्रेनें
  • चारबाग से कानपुर के बीच होगी फोरलेन रेलवे लाइन
  • फाइनल लोकेशन सर्वे की रेलवे बोर्ड से मिली मंजूरी

लखनऊ के चारबाग से कानपुर के बीच फोरलेन रेलवे लाइन का काम जल्द शुरू होगा। इसके लिए फाइनल लोकेशन सर्वे की रेलवे बोर्ड की ओर से मंजूरी दी गई है। लखनऊ-कानपुर रूट पर रेलवे अधिकारी जमीन तलाशने के लिए एक और सर्वे करेंगे। सर्वे में जमीन को लेकर जो भी समस्याएं होंगी, वह राज्य सरकार के सहयोग से दूर की जाएंगी। इसके बाद रूट पर हाईस्पीड ट्रेनें रफ्तार भर सकेंगी। यह जानकारी उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल ने दी। वह लखनऊ मंडल के चारबाग रेलवे स्टेशन पर आयोजित प्रेसवार्ता में बोल रहे थे। उन्होंने लखनऊ से कानपुर के बीच रूट का निरीक्षण भी किया।  

महाप्रबंधक ने बताया कि जमीन मिलते ही इस पूरे प्रोजेक्ट पर डीपीआर बनाकर रेलवे बोर्ड को भेजेंगे। इसके अतिरिक्त चारबाग यार्ड रिमॉडलिंग का कार्य दिसंबर में पूरा किया जाना था, लेकिन अब इसे अगले साल तक पूरा किया जा सकेगा। 

अयोध्या रूट का भी किया निरीक्षण

उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल ने मल्हार से बाराबंकी के बीच तीसरी व चौथी लाइन के कार्य की भी समीक्षा की। इसके अलावा मल्हौर व बाराबंकी में वार्ड रिमॉडलिंग की जानकारी भी हासिल की। उन्होंने अयोध्या रूट का भी निरीक्षण किया और अयोध्या रेलवे स्टेशन के विकास कार्यों को भी देखा। अयोध्या में जमीन के मामले में फंसे पेच को लेकर उन्होंने मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव से भी मुलाकात की। 

स्टेशन पर ट्रेनों की मेंटेनेंस की भी व्यवस्था होगी

पहले चरण में बन रहे अयोध्या रेलवे स्टेशन की ओर एप्रोच रोड के लिए नजूल की जमीन दिए जाने का आश्वास दिया गया है। जीएम ने बताया कि अयोध्य जंक्शन स्टेशन पर जमीन कम है, इसलिए स्टेशन पर यात्री सुगमता का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। स्टेशन पर ट्रेनों की मेंटेनेंस की भी व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने अयोध्या समेत रुकी हुई परियोजनाओं का जायजा लिया तथा प्रदेश के पांच रेलवे स्टेशनों को हाईटेक बनाने और यात्री सुविधाएं बढ़ाने पर आला अधिकारियों के साथ विचार विमर्श किया। इन रेलवे स्टेशनों में लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी कैंट, अयोध्या और गाजियाबाद शामिल हैं।

इस रूट पर दौड़ेंगी हाईस्पीड ट्रेनें 

आपको बता दें कि लखनऊ से कानपुर रूट पर फोरलेन लाइन बनाने का मकसद हाईस्पीड ट्रेनों को चलाना है। वर्तमान में इस रेल खंड पर चल रही 70 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार को बढ़ाकर 130 किमी प्रति घंटा किया जाएगा। दूसरी तरफ कोरोना काल से बंद मेमू ट्रेन का संचालन अभी नहीं किया जाएगा। लखनऊ-कानपुर रूट पर ट्रेनों का दबाव ज्यादा होना इसकी वजह बताई गई है। 
 

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर