लॉकडाउन में इस तरह करें बच्चों की देखभाल, ये टिप्स करेंगे आपकी मदद

बच्चों का दिल बहुत कोमल होता है, ऐसे में उनके सामने क्या बोले और क्या नहीं इसपर खास ध्यान देने की जरूरत होती है। बता दें कि अगर बच्चे तनाव में आ जाए तो उसका प्रभाव उनके शरीर पर पड़ता है।

Take care of children during lockdown
Take care of children during lockdown  |  तस्वीर साभार: Representative Image

मुख्य बातें

  • लॉकडाउन में माता-पिता को बच्चों की खास ख्याल रखने की जरूरत है।
  • बच्चों को मानसिक और शारीरिक दोनों तरीके से हेल्दी रखने की कोशिश करें।
  • लॉकडाउन में बच्चों को इस तरह करें उनकी देखभाल।

देश में कोरोना वायरस का कहर जारी है, इसकी वजह से अब तक 80 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। पूरे देश में कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा बढ़ता ही जा रहा है। इस मुश्किल हालात में माता-पिता को अपने बच्चों का खास ध्यान देने की जरूरत है। उनके सामने ऐसी बातें बिल्कुल न करें, जिससे वह डर जाएं। उन्हें मानसिक और शारीरिक दोनों तरीके से हेल्दी रखने की कोशिश करें और इसके लिए आप उन्हें अलग-अलग एक्टिविटी जोड़ सकते हैं।

इस तरह बच्चों को मानसिक और शारीरिक तौर पर रखें हेल्दी

बच्चों के लिए बनाएं रूटीन- रोजाना बच्चों के लिए एक रूटीन बनाएं। लॉकडाउन में सारे स्कूल को बंद कर दिया गया है, ऐसे में घर पर बच्चों के लिए एक रूटीन बनाएं। जिसके मुताबिक उनके उठने से लेकर सोने तक के समय को निर्धारित करें। कोशिश करें कि बच्चे अपने समय का सदुपयोग करें और मानसिक-शारीरिक तौर पर हेल्दी भी रहें।

बच्चों को खुद से जोड़े रखें- प्लान बनाएं, जिससे वह अपने दोस्त या परिवार के सदस्य से जुड़े रहें। चाहे वह फोन हो या फिर मैसेज कोशिश करें कि वह एक दूसरे से जुड़े रहें। कई बार होता है, जब हम फोन या फिर सोशल मीडिया पर काफी बिजी रहते हैं, इस दौरान बच्चों से बात नहीं करते। ऐसा बिल्कुल न करें, समय-समय पर अपने बच्चों से बात करते रहें।

आप क्या बोल रहें हैं इस पर खास ध्यान दें- ऐसा अक्सर होता है कि जब हम तनाव में होते हैं तो कभी-कभी दोष लगाने या दूसरों पर गुस्सा निकालने लगते हैं। ऐसे में ध्यान रहे कि वायरस किसी को भी संक्रमित कर सकता है, इसलिए COVID-19 किसको हो सकता है, इसके बारे में धारणा न बनाएं।  इसके अलावा, किसी भी ऐसी कमेंट को लेकर सजग रहें जो आप या आपके दोस्त बच्चों के आसपास कर रहे हैं। बच्चों को बताएं कि उनके कमेंट का क्या मतलब है, उन्हें अपनी बातों के बारे में बताएं।

खबरों पर रखें खास ध्यान- बच्चों को हर वक्त हम टीवी देखने से मना नहीं कर सकते हैं। ऐसे में सीमित खबरों को ही देखने दें। बता दें कि दुनियाभर में कोरोना वायरस को लेकर भयावह स्थिति बनी हुई है, ऐसे में बच्चों को इस तरह की खबरों से दूर रखें।  इस तरह की खबरों को देखने के बाद बच्चों को घबराहट हो सकती है। ऐसे में बच्चों को बताएं कि टीवी या इंटरनेट पर वे सब कुछ नहीं सुनते हैं, और उन्हें बताएं कि फैक्ट्स जानने के बाद वह सही जानकारी खुद देंगे। इस तरह वह परेशान नहीं होंगे।

बच्चों को टास्क दें- बच्चे इधर-उधर की बातों पर अधिक ध्यान न दें, इसके लिए उन्हें अलग-अलग एक्टिविटी से जोड़े रखें। ऐसे में आप उन्हें टास्क दें सकते हैं, जिससे वह खुद को व्यस्त रख सकें। खाली वक्त में आप उन्हें इंडोर गेम या फिर पेंटिंग करने की सलाह दे सकते हैं। इससे उन्हें कुछ क्रिएटिव करने की प्रेरणा मिलेगी, इसके अलावा आप चाहे तो उन्हें घर के काम में भी शामिल कर सकते हैं। अपने बच्चों को ईमानदार और मजबूत बनाएं, उन्हें बताएं कि हर मुश्किल स्थिति में आप उनके साथ हैं। 

अगली खबर