World Gratitude Day 2020: क्यों मनाया जाता है विश्व आभार दिवस ? कैसे करें लोगों का आभार व्यक्त ?

लाइफस्टाइल
अबुज़र कमालुद्दीन
अबुज़र कमालुद्दीन | जूनियर रिपोर्टर
Updated Sep 21, 2020 | 07:35 IST

World Gratitude Day 2020: हमारे जीवन में कई ऐसे लोग आते हैं और जाते हैं। कुछ लोग हमारे दिलों पर अपनी छाप छोड़ जाते हैं। 21 सितंबर को दुनिया में इसलिए आभार दिवस मनाया जाता जाता है ताकि हम आभार व्यक्त कर सकें।

world gratitude day 2020
world gratitude day 2020  |  तस्वीर साभार: Shutterstock

मुख्य बातें

  • 1966 से हुआ इस परंपरा की शुरुआत
  • निजी या संस्थागत तौर पर मना सकते हैं विश्व आभार दिवस
  • अपने आसपास रहने वालों का आभार व्यक्त करना बहुत महत्वपूर्ण होता है

नई दिल्ली: यूं तो कोरोना महामारी ने पूरे विश्व को अपनी चपेट में ले रखा है और हर दूसरा व्यक्ति किसी न किसी वजह से परेशान नजर आता है। लेकिन हमें इस मुश्किल समय में भी उन सभी चीजों के लिए भगवान को धन्यवाद कहना चाहिए जो हमने हासिल किया है। आज ‘विश्व आभार दिवस’ है। यह दिन हमें उन तमाम लोगों का आभार व्यक्त करने का मौका देता है जिन्होंने हमारे जीवन को सजाने संवारने में अपना योगदान दिया है। विश्व आभार दिवस नीजी और संस्थागत दोनों तौर पर मनाया जा सकता है। हर कोई चाहता है कि उसके काम की तारीफ हो। ऐसे में विश्व आभार दिवस से अच्छा दिन नहीं हो सकता।

क्यों मनाते हैं विश्व आभार दिवस ?

बात कोई साल 1965 की है। अमेरिका के हवाई राज्य में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक समूह जमा हुआ। वहाँ इस बात का प्रस्ताव रखा गया कि हर साल एक ऐसा दिन रखा जाए जब लोग एक दूसरे के अच्छे कार्यों पर आभार व्यक्त कर सकें, अपनो को धन्यवाद कह सकें। इसके लिए 21 सितंबर का दिन चुना गया। जब यह लोग अपने-अपने देश वापस गए तो साल 1966 से 21 सितंबर को विश्व आभार दिवस के रूप में मनाना शुरू किया। उसके बाद इसके मनाने वालों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ती गई और आज विश्व में करोड़ों लोग 21 सितंबर को इसे मनाते हैं। इसे मनाने का सबसे प्रमुख कारण है पूरे वैश्विक समुदाय को एक साथ लाना। इस दुनिया में हर व्यक्ति चाहता है कि कोई उसके काम की तारीफ करे।

कैसे करें लोगों का आभार व्यक्त ?

यूं तो किसी की तारीफ करने और आभार व्यक्त करने के सैकड़ो तरीके हैं। हम अपने रिश्तेदारों, माता-पिता, दोस्त और भी कई लोगों का आभार व्यक्त कर सकते हैं जो हमारे जीवन में हर पल हमारे साथ चले।

  1. हम घरों में अक्सर पालतू जानवर रखते हैं। वो हमारे मनोरंजन का साधन होता है साथ ही हमारे घर की रखवाली भी करता है। हम 21 सितंबर को उसके साथ कुछ पल बिता कर और खेल कर उसका आभार व्यक्त कर सकते हैं।
  2. हमे उस पर्यावरण को भी धन्यवाद कहना चाहिए जहाँ से हमें शुद्ध हवा मिलती है। हम पेड़ पौधे लगा कर पर्यावरण का आभार व्यक्त कर सकते हैं।
  3. अपने परिवार का आभार व्यक्त करने का सबसे बेहतर तरीका है कि आप उनके साथ बैठ कर खाना-पीना करें और उनके साथ अपने अनुभवों को साझा करें।
  4. जिन लोगों ने भी आपके जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है उनके साथ समय बीताना और उन्हें धन्यवाद कहना सबसे बेहतर होगा।
  5. आप चाहें तो घर में एक आभार पत्रिका की शुरुआत कर सकते हैं। यह आने वाली पीढ़ी के लिए भी एक शानदार अनुभव होगा।
  6. ईश्वर के प्रति अपना आभार प्रकट करने के लिए आप वैसे लोगों के साथ समय बीता सकते हैं जो परेशान हैं या वैसे लोग जिनकी झोली मे खुशियां बहुत कम आती हैं। अनाथालय या वृद्धाश्रम इसके लिए सबसे बेहतर जगह है।

विश्व आभार दिवस मनाने के क्या हैं फायदे ?

आभार और धन्यवाद पर विश्व के सबसे बड़े शोधकर्ता रोबर्ट इमंस का मानना है कि हर मनुष्य चाहता है कि उसके काम और मेहनत के बदले लोग उसकी तारीफ करें और उसको धन्यवाद कहें। रोबर्ट बताते हैं कि जब आप किसी का आभार व्यक्त करते हैं तो वो मनुष्य मानसिक तनाव से मुक्त होता है। उसे नींद अच्छी आती है साथ ही शारिरिक परेशानियों से वो दूर रहता है। इन वजहों से वो डॉक्टर के पास भी बहुत कम जाता है। आभार प्रकट करने से मनुष्य के अंदर आत्मबल आता है। आप भी आज के दिन अपने तमाम चाहने वालों का ज़रूर आभार व्यक्त करें साथ ही उन्हें शुभकामनाएं भी दें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर