क्या आपका पार्टनर भी भावनात्मक रूप से आपका फायदा उठा रहा है ? इन 6 अहम बातों से लगाएंं पता

लाइफस्टाइल
श्वेता सिंह
श्वेता सिंह | सीनियर असिस्टेंट प्रोड्यूसर
Updated Aug 22, 2020 | 17:49 IST

Foundation of good relationships: पति-पत्नी के रिश्ते में छोटी छोटी बात पर दूरियां या दरारें आ जाती है। भावनात्मक रुप से आपका पार्टनर लाभ तो नहीं उठा रहा? इन बातों से आप परख सकते हैं।

foundation of good relationships
foundation of good relationships 

मुख्य बातें

  • पति-पत्नी का रिश्ता संवेदनशील होता है
  • इस रिश्ते में आपसी विश्वास बहुत जरुरी होता है
  • भावनात्मक रूप से फायदा उठाने की बात को आप परख सकते हैं

नई दिल्ली: शादी का बंधन और पति-पत्नी का रिश्ता उस कड़ी की तरह हैं, जो विश्वास और अपनत्व से एक-एक करके जुड़ी है। इस रिश्ते में किसी एक द्वारा दूसरे का फायदा उठाना, रिश्ते की इस कड़ी को तोड़ देता है।  

पति-पत्नी के नाजुक रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए समय के साथ-साथ एक-दूसरे के साथ की आवश्यकता होती है। अपने स्वार्थ के लिए दूसरे का फायदा उठाना उचित नहीं। रिश्ते में दोनों एक समान हैं। शादीशुदा जीवन में पहला और दूसरा पायदान नहीं होता। ये एक ऐसी रेस है, जिसमें एक की हार में दूसरे की हार तो जीत में जीत छुपी है किंतु अक्सर इस रिश्ते में पार्टनर द्वारा भावनात्मक रूप से फायदा उठा लिया जाता है। ये 6 लक्षण, जिससे आप समझ जाएंगे कि आपका पार्टनर आपका भावनात्मक रूप से फायदा उठा रहा है या नहीं।   

1) आपकी क्षमता पर संदेह  

हर बार जब भी आप कुछ नया करने जाते हैं और आपका पार्टनर आपको बीच में ही रोककर आपकी क्षमता पर सवाल उठाते हुए कहे कि तुमसे ये नहीं होगा, तुम कभी नहीं कर पाओगे, तो समझ जाएं कि वो भावनात्मक रूप से आप पर हावी होना चाह रहा है। वो हर छोटी-बड़ी चीजों के लिए आपको खुद पर आश्रित होने के लिए मजबूर कर रहा है।  

2) अपराधबोध महसूस कराना  

जीवनसाथी वो होता है, जो आपके साथ कदम से कदम मिलाकर चलता है। आपके हर काम में कमी निकालना, काम करने के बाद आपको दोषी ठहराना और ये कहना कि आपसे कुछ काम सही नहीं होता, ये लक्षण हैं पार्टनर के भावनात्मक रूप से आप पर हावी होने के। वो आपका फायदा उठा रहा है।

3) माइंड गेम खेलना  

आपके साथी ने कुछ योजनाएँ बनाई होंगी और आप किसी कारण से असहमत थे। इसलिए, आपके साथ कुछ नई योजनाएँ बनाने के बजाय,  आपका साथी आपसे बात करना बंद कर देगा,  आपको टाल देगा और मानसिक रूप से आपको परेशान करेगा, जब तक आप योजना से सहमत नहीं हो जाते। साफ और सरल तरीके से कहें कि अपनी योजना पर हामी भराने के लिए वो किसी भी हद तक जाकर आपको परेशान कर सकता है।  

4) समस्या की वजह आप हैं  

आपका पार्टनर जब अपनी गलती भी आप पर थोपने लगे और बार-बार ये कहे कि इन सारी समस्या का जड़ आप ही हैं, तो समझ जाइए कि अब वो इस रिश्ते में आपका भरूपर फायदा उठा रहा है।  

5) सिर्फ अपने तक सीमित करना  

शादी का मतलब ये बिल्कुल नहीं हैं कि आपका रिश्ता आपके पुराने दोस्तों, रिश्तेदारों और आपके घर से खत्म हो गया है। जब भी किसी नए रिश्ते में हम जुड़ते हैं तो पुराने की अहमियत और बढ़ जाती है, लेकिन अगर आपका पार्टनर आपके सारे रिश्ते से आपको मुहं मोड़ने और केवल खुद तक सिमित रहने के लिए कहे, तो आप समझ जाएं।  

6) कभी भी प्रोत्साहित न करना  

अगर आपका पार्टनर हर कदम पर आपको प्रोत्साहित करने की बजाय आपका मनोबल गिरा रहा है, तो वो आपको भावनात्मक रूप से कमजोर बनाने के साथ ही आपका फायदा उठा रहा है।   पति-पत्नी के रिश्ते में हावी होने की बजाय एक-दूसरे के पक्के साथी बनिए। यही आप दोनों के उज्जवल भविष्य के लिए उचित होगा।  

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर