Kanpur: बिकरू वारदात में इस शख्स का था बड़ा हाथ, चित्रकूट मंदिर में साधु के भेष में था छुपा, गिरफ्तार

बिकरू कांड का बड़ा आरोपी और विकास दुबे का कजिन जिसकी पुलिस को तलाश थी वह चित्रकूट के एक मंदिर में साधु के भेष में छिपा था जिसे स्पेशल टास्क फोर्स की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है।

vikas dubey cousin arrested by stf
विकास दुबे का कजिन चित्रकूट से गिरफअतार 

मुख्य बातें

  • बिकरू कांड का बड़ा आरोपी बाल गोविंद चित्रकूट के एक मंदिर से गिरफ्तार
  • वह विकास दुबे का कजिन है, मंदिर में साधु के भेष में छुपा हुआ था
  • उसने पुलिस की टीम पर बम फेंके थे जो उसने पूछताछ में कबूल किया है

कानपुर: बिकरू गोलीकांड वाली वारदात के पीछे जिस शख्स का बड़ा हाथ था उसे स्पेशल टास्क फोर्स (एसआईटी) की टीम ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया है। वह गैंग्स्टर विकास दुबे का कजिन भाई है। एसआईटी ने उसे मध्य प्रदेश की सीमा पर चित्रकूट में कामतानाथ मंदिर से गिरफ्तार किया है। एसआईटी ने आरोपी का पर्दाफाश करते हुए बताया कि वह जुलाई महीने से इस मंदिर में भगवा कपड़े धारण कर साधु के भेष में छुपा हुआ था। इसका नाम बाल गोविंद दुबे बताया जाता है।    

पूछताछ में बाल गोविंद ने कबूल कर लिया कि उसने 3 जुलाई को छत पर से पुलिस की टीम पर देसी बम फेंके थे साथ ही उन पर फायरिंग भी की थी।
उसने ये भी बताया कि राहुल तिवारी के द्वारा पुलिस में एक एफआईआर दर्ज कराई गई थी जिसका प्रॉपर्टी को लेकर दामाद विनीत के साथ विवाद हो गया था। इसी एफआईआर के आधार पर पुलिस बिकरू में छापेमारी करने आई थी। और इसी दौरान विकास दुबे ने अपने कजिन के साथ मिलकर इस हत्याकांड का प्लान बनाया जिसमें 8 पुलिसकर्मी मारे गए।

टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए एक एसटीएफ कर्मी ने बताया कि चित्रकूट जिले के करवी कोतवाली एरिया में कामनाथ मंदिर के परिक्रमा क्रॉसिंग के पास से बाल गोविंद को गिरफ्तार किया गया। उसने पूछताछ में ये कबूल कर लिया है कि वह और उसका दामाद इस बिकरू कांड के पीछे जिम्मेदार हैं। 

उसने पुलिस को ये भी बताया कि राहुल ने अवैध तरीके से विनीत का भैंस बेच दिया था और इस मामले में एक अलग शिकायत चौबेपुर थाने में दर्ज कराई गई थी। प्रॉपर्टी विवाद के अलावा बाल गोविंद को राहुल से ये भी शिकायत थी कि वह कथित तौर पर उसके दामाद की बहन को अपने साथ इसी साल अप्रैल में भगा कर ले गया था।

पुलिस ने राहुल को गिरफ्तार कर लिया उससे पूछताछ करने के लिए उसे बालगोविंद के घर लेकर गए जहां पर विकास दुबे भी अपने पांच दबंग साथियों के साथ था। विकास ने अपनी दबंगई दिखाते हुए तब चौबेपुर थानेदार विनय तिवारी का फोन छीन लिया और राहुल को धमकाया। इसके बाद पुलिस राहुल को फौरन वहां से थाने ले आई।   

बाल गोविंद ने बताया कि वारदात वाली रात विकास ने अपने साथी प्रभात मिश्रा को उसके घर भेजा कि एक बड़ी लड़ाई के लिए तैयार रहे। करीब 60 लोग विकास के घर और उसकी छत पर हथियार से लैस तैनात हो गए। विकास ने बताया था कि राहुल के एफआईआर के बाद पुलिस उसके घर छापा मारने आ रही है।
 

Kanpur News in Hindi (कानपुर समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर