फेरे होने के बाद भी ना हो पाई दो बेटियों की विदाई, दहेज में बाइक नहीं मिली तो बिना दुल्हन लौट गए दूल्हे, अब...

Dowry System: शादी के फेरे होने के बाद भी एक घर की दो बेटियों की डोली विदाई के लिए न उठ पाई। वजह थी, दहेज की बाइक और लाखों रुपय कैश, जिनके लिए दूल्हे सुबह के समय बिना दुल्हन साथ लिए ही वापस लौट गए। पीड़ित परिजनों ने अब पुलिस ने इस संबंध में शिकायत की है।

Two Groom refuse to take brides for dowry
फेरे होने के बाद भी दहेज के कारण नहीं हुई दो बेटियों की विदाई  |  तस्वीर साभार: BCCL
मुख्य बातें
  • शादी के बाद भी नहीं हुई दो बेटियों की विदाई
  • दहेज की बाइक के लिए दुल्हन छोड़ गए दूल्हे
  • दहेज में कर रहे थे बाइक और लाखों की मांग

Dowry System:  राजस्थान के भरतपुर जिले से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसे सुनकर आप भी हैरान रह जाएंगे। जहां एक घर की दो बेटियों की शादी तो हुई लेकिन विदाई के समय उन्हें बिना साथ लिए ही दूल्हे वापस लौट गए। दूल्हा पक्ष की मांग थी कि, उन्हें बाइक और कैश दिया जाए, मांग पूरी नहीं हुई तो इसी वजह से फेरे होने के बावजूद भी घर की दोनों बेटियों की विदाई नहीं हो पाई। आखिरकार दुल्हनों के परिवार को पुलिस का सहारा लेना पड़ा और शिकायत दर्ज कराई। पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

मिली जानकारी के अनुसार, मामला भरतपुर के बयाना थाने के सिकंदरा गांव का है। गांव में एक घर की दो चचेरी बहन सुष्मा और राजकुमारी की शादी रामपुर निवासी गौरव और पवन के साथ होनी थी। शादी तो पूरे रिवाज के साथ संपन्न हुई लेकिन विदाई के समय दहेज को लेकर बात बिगड़ गई। जिसके बाद दोनों दूल्हे बिना दुल्हन साथ लिए ही वहां से लौट गए।

इस कारण नहीं हुई विदाई

बता दें कि, दूल्हों के परिवार ने दुल्हन के परिजनों से लाखों रुपये और एक बाइक की मांग की थी। ऐसे में लड़कियों का परिवार ये मांग पूरा नहीं कर पाया तो, बात बिगड़ती चली गई। फेरे तो किसी तरह हो गए लेकिन, सुबह विदाई के समय दूल्हा पक्ष ने साफ कर दिया कि, वे दुल्हनों को साथ नहीं लेकर जाएंगे। जिसके बाद सजी-धजी दुल्हनों को छोड़कर बारात वापस लौट गई। इस घटना के बाद दुल्हनों के परिजन थाना पहुंचे और दूल्हे के परिजनों के खिलाफ केस दर्ज कराया। 

क्या बोली दुल्हन 

मामले में एक दुल्हन सुष्मा भारती ने कहा कि, हम दोनों बहनों की शादी की रस्म पूरी हो गई थी और फेरे भी पड़ गए थे। सुबह के समय हमारी विदाई होनी थी लेकिन, दूल्हों के परिजन उस समय तक पांच लाख रुपये और बाइक व कुछ आभूषण की लगातार मांग कर रहे थे। 
 

Jaipur News in Hindi (जयपुर समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर