21 दिन के लॉकडाउन में देश, पीएम बोले- कोरोना से बचना है तो सोशल डिस्टेंसिंग ही एकमात्र उपाय

देश
किशोर जोशी
Updated Mar 24, 2020 | 22:02 IST

पीएम मोदी ने कहा कि आने वाले 21 दिन हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं और इस दौरान लोगों से अपील है कि वे घरों में और एक ही काम करें कि अपने घर में रहें।

PM Modi emphasizes on social distancing for Coronavirus
कोरोना से बचना है तो सोशल डिस्टेंसिंग ही एकमात्र उपाय 

मुख्य बातें

  • 21 दिन के लिए लॉकडाउन हुआ देश, क्या होती है सोशल डिस्टेंसिंग जिस पर पीएम मोदी ने दिया जोर
  • कोरोना वायरस की संक्रमण की सायकिल तोड़ने के लिए कम से कम 21 दिन का समय बहुत अहम है- पीएम मोदी
  • पीएम मोदी बोले- घर में रहें, घर में रहें और एक ही काम करें कि अपने घर में रहें।

नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते हुए मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एक महत्वपूर्ण घोषणा करते हुए कहा कि देश में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन रहेगा। यह लॉकडाउन आज रात 12 बजे से प्रभावी हो जाएगा। पीएम मोदी ने देशवासियों से अपील करते हुए कहा ‘आज रात 12 बजे से पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन होने जा रहा है।  हिंदुस्तान को बचाने के लिए, हिंदुस्तान के हर नागरिक को बचाने के लिए आज रात 12 बजे से, घरों से बाहर निकलने पर, पूरी तरह पाबंदी लगाई जा रही है।'

सोशल डिस्टेंसिंग की अपील की
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आने वाले 21 दिन हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो, कोरोना वायरस के संक्रमण चक्र को तोड़ने के लिए कम से कम 21 दिन का समय बहुत अहम है। लोगों से अपील करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि दो महीनों के अध्ययन से जो निष्कर्ष निकल रहा है, और विशेषज्ञ भी यही कह रहे हैं कि कोरोना से प्रभावी मुकाबले के लिए एकमात्र विकल्प है- सामाजिक दूरी यानि सोशल डिस्टेंसिंग। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि वो इस गलतफहमी में ना रहें कि सोशल डिस्टेंसिंग केवाल बीमार लोगों के लिए है बल्कि यह हर नागरिक, परिवार तथा हर सदस्य के लिए जरूरी है।

ये भी पढ़ें- PM Modi Speech on Corona : आज रात 12 बजे से संपूर्ण लॉकडाउन कर दिया गया है, ये 21 दिन का होगा

क्या होती है सोशल डिस्टेंसिंग
दरअसल सोशल डिस्टेंसिंग का मतलब होता है समाजिक दूरी। कोरोना के इलाज के लिए अभी तक कोई दवा नहीं बन सकी है औऱ लगातार वैज्ञानिक इसका रिसर्च कर रहे हैं। दुनियाभर के देशों में जहां भी यह बीमारी फैली है वहां सोशल डिस्टेंसिंग ही इसके फैलाव को कम करने में कामयाब हो रहा है। एक बार यह वायरस अगर देश में कम्युनिटी के जरिए फैल गया तो फिर यह बेलगाम हो सकता है।  अगर आपस घर में ही रहते हैं तो इससे ना केवल आप बचेंगे बल्कि इस वायरस के खतरे को भी काफी हद तक कम किया जा सकता है।

बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा मंगलवार शाम को अपडेट किए गए डेटा के अनुसार देश में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 519 तक पहुंच गई है जिनमें 470 सक्रिय मामले हैं। इन आंकड़ों में 41 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 65 वर्षीय एक रोगी की मुंबई में मौत हो गई जिससे महानगर में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या तीन हो गई है। 

ये भी पढ़ें- 'लक्ष्मण रेखा' लांघी तो देश के कई परिवार हो जाएंगे तबाह, 21 साल पीछे हो जाएगा देश- पीएम मोदी

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर