Delta Plus variant: 3 राज्यों से आगे पांव पसारने लगा कोरोना का डेल्टा प्लस वैरिएंट, 40 से ज्यादा केस मिले

कोराना वायरस अपना समय-समय पर अपना स्वरूप बदल रहा है। कोरोना का जो नया वैरिएंट सामने आया है उसे डेल्टा प्लस नाम दिया गया है। देश में इस वैरिएंट के 40 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं।

 Over 40 Delta Plus cases detected samples found positive in other states
देश में पांव पसारने लगा कोरोना का डेल्टा प्लस वैरिएंट। 

मुख्य बातें

  • कोरोना के नए वैरिएंट डेल्टा प्लस को भी खतरनाक बताया जा रहा है
  • देश भर में इस वैरिएंट के अब तक 40 से ज्यादा केस मिल चुके हैं
  • स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों को विशेष एहतियात बरतने का निर्देश दिया है

नई दिल्ली : कोरोना वायरस के नए वैरिएंट डेल्टा प्लस की संख्या देश में बढ़ने लगी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि अब तक इस नए वैरिएंट से संक्रमित होने के 40 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। सूत्रों का कहना है कि डेल्टा प्लस के ये मामले महाराष्ट्र, केरल और मध्य प्रदेश में मिले हैं। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के शीर्ष अधिकारी ने मिरर नाउ से बातचीत में कहा, 'देश में डेल्टा प्लस वैरिएंट के अब तक 40 से ज्यादा केस मिले हैं और ये केवल केरल, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश तक सीमित नहीं हैं...ये वैरिएंट अन्य राज्यों में भी मिल रहे हैं लेकिन ये मामले एक जगह नहीं बल्कि बिखरे हुए हैं।'

स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसे 'वैरिएंट ऑफ कंसर्न'
बता दें कि केंद्र सरकार ने मंगलवार को कोविड-19 के इस डेल्टा प्लस रूप को 'वैरिएंट ऑफ कंसर्न' माना। देश में डेल्टा प्लस से संक्रमण के मामलों में आ रही तेजी को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने एक बयान में कहा कि 'इस डेल्टा प्लस को चिंतित करने वाला वैरिएंट माना जा रहा है।' इस नए वैरिएंट की मौजूदगी पंजाब, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, जम्मू सहित कई राज्यों में पाई गई है। 

पंजाब, जम्मू में मिले केस
अधिकारी ने कहा, 'पंजाब में डेल्टा प्लस का एक केस मिला है। तमिलनाडु में तीन मामले सामने आए हैं। इसी तरह से आंध्र प्रदेश और जम्मू में एक-एक केस मिलने का पता चला है।'  अधिकारी ने कहा कि कोरोना के इस नए वैरिएंट के प्रसार पर रोक लगाने के लिए राज्यों को खास रणनीति लागू करनी होगी। उन्हें अपनी निगरानी एवं सतर्कता बढ़ानी होगी। 

मंत्रालय ने कहा-सतर्क रहें राज्य 
इस बीच, मंत्रालय ने महाराष्ट्र, केरल और मध्य प्रदेश को पत्र लिखा है। जिन इलाकों में डेल्टा प्लस के केस सामने आए हैं, वहां राज्यों को कंटेनमेंट उपायों को लागू करने की सलाह दी गई है। राज्यों से टेस्टिंग, ट्रैकिंग और टीकाकरण अभियान तेज करने के लिए कहा गया है।   

इससे पहले डेल्टा प्लस के 22 केस सामने आए
इसके पहले सरकार ने बताया कि देश में अब तक कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वैरिएंट के 22 मामले सामने आए हैं। डेल्टा प्लस वैरिएंट के 22 मामलों में से महाराष्ट्र के रत्नागिरि, जलगांव से 16 और मध्य प्रदेश तथा केरल से शेष मामले सामने आए हैं। मंगलवार को स्वास्थ्य सचिव ने डेल्टा प्लस को पहले 'वेरिएंट ऑफ इंटरेस्ट' के रूप में लेबल किया। बाद में मंत्रालय ने इसे 'वैरिएंट ऑफ कंसर्न' बताया।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर