ISIS कमांडरों के संपर्क में था दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में आया आतंकी, 15 अगस्त को थी हमले की योजना

देश
लव रघुवंशी
Updated Aug 22, 2020 | 17:21 IST

मुठभेड़ के बाद पकड़े गए आईएसआईएस के संदिग्ध आतंकवादी ने दिल्ली के भीड़भाड़ वाले इलाकों में आतंकी हमले की योजना बनाई थी। वह आईएसआईएस आतंकवादियों के संपर्क में था।

delhi police
दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के डीसीपी 

मुख्य बातें

  • आईएसआईएस के आतंकी की गिरफ्तारी के बाद राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में हाई अलर्ट घोषित
  • दिल्ली में पकड़े गए आईएसआईएस के आतंकवादी ने हमले की योजना बनाई थी : पुलिस
  • ISIS आतंकवादी की गिरफ्तारी के बाद उत्तर प्रदेश में भी अलर्ट

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने धौला कुआं के पास मुठभेड़ के बाद आईईडी के साथ एक आईएसआईएस (ISIS) ऑपरेटिव को गिरफ्तार किया। इसे 8 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि संक्षिप्त मुठभेड़ के बाद पकड़े गए आईएसआईएस के संदिग्ध आतंकवादी ने दिल्ली के भीड़भाड़ वाले इलाकों में आतंकी हमले की योजना बनाई थी। पुलिस उपायुक्त (विशेष प्रकोष्ठ) पी. एस. कुशवाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश के बलरामपुर निवासी मोहम्मद मुस्तकीम खान उर्फ अबू यूसुफ ने 15 अगस्त को दिल्ली में आतंकवादी हमले की योजना बनाई थी, लेकिन भारी सुरक्षा इंतजामों के चलते वह ऐसा नहीं कर पाया।

खान आईएसआईएस आतंकवादियों के संपर्क में था, जिन्होंने उसे भारत में आतंकवादी हमले की योजना बनाने का निर्देश दिया था। इसके कब्जे से 30 बोर की पिस्टल, 4 जिंदा कारतूस बरामद किए गए। 

15 अगस्त को करना चाहता था हमला

डीसीपी स्पेशल सेल ने कहा, 'स्पेशल सेल की एक टीम ने कल रात एक ISIS ऑपरेटिव को पकड़ा है। इसे देर रात धौला कुआं रिंग रोड के पास मुठभेड़ के बाद पकड़ा गया। हमारा ऑपरेशन पिछले 1 साल से चल रहा था। ये कई सालों से ISIS से कनेक्टेड था। इसके पास से 2 प्रेशर कुकर IED बम मिले हैं। जिन्हें ये दिल्ली में किसी भीड़भाड़ वाली जगह लगाने आ रहा था। 15 अगस्त के आस-पास ये दिल्ली आने वाला था, परंतु भारी सुरक्षा व्यवस्था के कारण नहीं आ पाया। अब जब इसने कोशिश की तो पकड़ा गया।' 

सीधे ISIS के संपर्क में था

डीसीपी स्पेशल ने बताया, 'बरामद दो प्रेशर-कुकर आईईडी को एनएसजी बम दस्ते द्वारा निष्क्रिय किया गया। वह खुरासान प्रांत में इस्लामिक स्टेट के गुर्गों साथ संपर्क में था। उसने कहा है कि उसने कुछ महीने पहले अपने गांव में विस्फोटक उपकरण का परीक्षण किया था। वह आईएसआईएस कमांडरों के सीधे संपर्क में था। उसके पास उसकी पत्नी, 4 बच्चों के पासपोर्ट थे। वह इससे पहले सीरिया में मारे गए युसुफ अलहिंदी द्वारा नियंत्रित किया गया था। बाद में अबू हुजैफा एक पाकिस्तानी उसे हैंडल कर रहा था। बाद में अफगानिस्तान में ड्रोन हमले में हुजैफा मारा गया।
 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर