दिल्ली हिंसा:23-25 फरवरी के बीच क्या हुआ खुलेगा राज,ताहिर हुसैन से पूछताछ की होगी वीडियो रिकॉर्डिंग

देश
रवि वैश्य
Updated Mar 06, 2020 | 01:17 IST

आईबी अधिकारी अंकित शर्मा की हत्‍या के आरोप में वांछित AAP के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन गुरुवार को कोर्ट में आत्मसमर्पण करने पहुंचे, जहां उन्हें दिल्‍ली पुलिस ने गिरफ्तार किया।

Tahir Hussain
दिल्ली की एक अदालत ने गुरुवार को ताहिर हुसैन की आत्मसमर्पण करने की याचिका ठुकरा दी 

मुख्य बातें

  • दिल्ली पुलिस ताहिर हुसैन से पूछताछ की वीडियो रिकॉर्डिंग कराने की बात कह रही है
  • दिल्ली पुलिस का सवाल मुख्य रूप से 23 फरवरी से 25 फरवरी तक की घटनाओं पर फोकस होगा
  • क्राइम ब्रांच 24 फरवरी के वीडियो साक्ष्य और फोरेंसिक रिपोर्ट के साथ उससे पूछताछ करेगी

नई दिल्ली: ताहिर हुसैन की गिरफ्तारी के बाद उनसे पूछताछ की जा रही है बताया जा रहा है कि दिल्ली पुलिस इस पूछताछ की वीडियो रिकॉर्डिंग कराने की बात कह रही है। दिल्ली पुलिस का सवाल मुख्य रूप से 23 फरवरी (जब पहले दौर की झड़पें हुईं) से 25 फरवरी तक की घटनाओं पर केंद्रित होगा (जब अंकित शर्मा मारा गया था और उत्तर पूर्व में अधिकतम हिंसा देखी गई थी) वहीं पूछताछ के दो घंटे में ताहिर ने कहा कि वह एक पीड़ित है जिसके घर पर हमला हुआ है।

उसने दावा किया कि वह छत पर चला गया जब उसके कार्यकर्ताओं ने उसे बताया कि उसके घर में आग लगाई जा सकती है। क्राइम ब्रांच 24 फरवरी के वीडियो साक्ष्य और फोरेंसिक रिपोर्ट के साथ उससे पूछताछ करेगी जिसमें कहा गया कि उसके घर से पेट्रोल बम और एसिड की बोतलें फेंकी गईं।

विरोध प्रदर्शन ताहिर के आवास के काफी करीब हुआ था
ताहिर का दावा है कि वह 25 फरवरी को घर में नहीं था इस बात की उस अधिकारी द्वारा जांच की जाएगी जिन्होंने अंकित के परिवार के सदस्यों और अन्य लोगों के बयान दर्ज किए हैं। ताहिर से उनके सीएए विरोध के समर्थन के बारे में भी पूछा जाएगा, जो 24 फरवरी को हिंसक हो गया था और हेड कांस्टेबल की हत्या सहित पुलिस पर हमला किया गया था, यह विरोध प्रदर्शन उनके आवास के काफी करीब हुआ।

क्राइम ब्रांच उससे पूछेगी कि 25 फरवरी को घर में कौन-कौन मौजूद थे। क्या उसने 24 फरवरी को घर छोड़ दिया था क्योंकि उसने दावा किया था और 25 फरवरी को वापस आ गया था क्योंकि कई लोग संदेह कर रहे हैं। यहां तक ​​कि अगर वह 25 फरवरी को घर में नहीं था, तो भी वह अंकित के साथ मारपीट करने वालों के संपर्क में था।

ताहिर ने सभी आरोपों से किया है इंकार
ताहिर ने इस सब से इनकार किया है, उसने कहा कि 24 फरवरी को एसओएस कॉल करने के बाद उन्होंने पुलिस की उपस्थिति में अपना घर छोड़ दिया और किसी से संपर्क नहीं किया। उन्हें इस बात का कोई अंदाजा नहीं है कि अंकित शर्मा पर हमला किसने किया और उसे यह नहीं पता था कि अंकित आईबी के लिए काम कर रहा था,ताहिर ने पूछताछ में बताया।

जहां क्राइम ब्रांच को नाले में अंकित (खून के नमूने) के फॉरेंसिक साक्ष्य मिले हैं, वहीं अधिकारियों इस बात पर चुप हैं कि घर के अंदर कोई फॉरेंसिक सबूत मिले हैं या नहीं। वह किस ऐप समूह से जुड़ा हुआ था, इसका विश्लेषण भी किया जाएगा।

कोर्ट ने ताहिर हुसैन की आत्मसमर्पण करने की याचिका ठुकराई
दिल्ली की एक अदालत ने गुरुवार को आम आदमी पार्टी के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन की आत्मसमर्पण करने की याचिका ठुकरा दी, जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। हुसैन पर आईबी के अधिकारी अंकित शर्मा की हत्या के मामले में शामिल होने का आरोप है। अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट विशाल पाहूजा ने हुसैन की याचिका यह कहते हुए खारिज कर दी कि उसके द्वारा मांगी गई राहत इस अदालत के अधिकार क्षेत्र से बाहर है। 

कोर्ट ने कहा कि दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 177 के तहत अपराध की जांच और मुकदमा उसी अदालत द्वारा चलाया जाना चाहिए जिसके अधिकार क्षेत्र में अपराध हुआ है। न्यायाधीश ने कहा, 'इस मामले में अपराध दयालपुर थाना क्षेत्र में हुआ जो कि कड़कड़डूमा अदालत के क्षेत्राधिकार में आता है। आवेदन में इसे यहां दायर करने के लिए बताई गई वजह राहत के लिए इस मंच को चुनने के आवेदक के आचरण को उचित नहीं ठहराती है।'

दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (AAP) ने हिंसा में कथित संलिप्तता को लेकर ताहिर हुसैन को निलंबित कर दिया था।

दिल्ली में हुई सांप्रदायिक हिंसा में कम से कम 42 व्यक्तियों की जान गई है और करीब 200 लोग घायल हुए हैं।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर