Uddhav Thackeray बोले- हां, शिवसैनिक को ही मुख्यमंत्री बनाकर रहूंगा, बालासाहेब को दिया था वचन

महाराष्ट्र चुनाव
Updated Oct 07, 2019 | 09:15 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनाव (Maharashtra Election) से पहले शिवसेना (Shiv sena) प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा है कि राज्य में मुख्यमंत्री एक शिवसैनिक ही बनेगा।

Uddhav Thackrey
उद्धव ठाकरे  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • आदित्य ठाकरे चुनाव लड़ रहे हैं इसका मतलब ये नहीं है कि मैने सन्यास ले लिया है- उद्धव
  • उद्धव बोले- मैंने बालासाहेब को वचन दिया था उसे पूरा कर के रहूंगा
  • महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनाव में शिवसेना और बीजेपी मिलकर चुनाव लड़ रहे है

मुंबई: महाराष्ट्र में भले ही भाजपा (BJP) और शिवसेना (Shiv Sena) मिलकर विधानसभा चुनाव (Maharashtra Electio) लड़ रही हो लेकिन शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने एक ऐसा बयान दिया जिससे एक बार फिर सियासी घमासान मचना तय है। शिवसेना के मुखपत्र सामना (Saamana) को दिए एक साक्षात्कार में उद्धव ठाकरे ने आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर अपनी रणनीतियों के बारे में खुलकर चर्चा की। शिवसेना प्रमुख ने कहा कि महाराष्ट्र में एक शिवसैनिक ही मुख्यमंत्री बनेगा।

उद्धव ठाकरे ने कहा, 'आदित्य ठाकरे चुनाव लड़ रहे हैं इसका मतलब मैने सन्यास ले लिया है और खेती करने गया हूं, ऐसा नहीं है। मैं हूं ही। मैं भागनेवाले और रोनेवालों में से नहीं हूं।' शिवसेना के मुख्यमंत्री पद संबंधित एक सवाल का जवाब देते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा, 'शिवसैनिक को मुख्यमंत्री बनाकर रहूंगा, ये वचन मैंने बालासाहेब को दिया था और मैं पूरा करके रहूंगा। कोई सुने या ना सुने, ये वचन मैंने किसी को पूछकर नहीं दिया। ये वचन मैंने मेरे सर्वेसर्वा अर्थात् पिता, मेरे नेता .. उन्हें जो कुछ भी मानता हूं, उन्हें दिया गया ये वचन है। इसके लिए मैंने किसी की अनुमति नहीं ली और किसी की अनुमति की जरूरत थी भी नहीं।'

लोकसभा और विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी के साथ अलग सीट शेयरिंग को लेकर पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा, 'लोकसभा चुनाव के समय स्वयं अमित शाह जी मेरे पास आए थे । फिर मैंने, अमित शाह और फडणवीस तीनों ने मिलकर मीडिया को संबोधित किया। वैसे देखा जाए तो दोनों दलों की विचारधार एक ही। सत्ता में रहते हुए भी हम हमेशा जनता की आवाज बने और अन्याय के खिलाफ हमेशा लड़ते रहे।'

महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव को लेकर शिवसेना प्रमुख ने कहा कि किसी भी परिस्थिति का मुकाबला करने के लिए जिद और हिम्मत से शिवसेना तैयार रहती है। एक अन्य सवाल के जवाब में उद्धव ठाकरे ने कहा, 'जहां अन्याय दिखेगा वहां शिवसेना की गर्जना होगी ही। फिर वो फसल बीमा की बात हो या फिर कोई अन्य समस्या। अन्याय दिखाई देगा तो हमारी गर्जना होगी. न्याय और अधिकारों के लिए ही शिवसेना का जन्म हुआ है, न कि सत्ता प्राप्ति के लिए।'

राम मंदिर से संबधित एक सवाल का जवाब देते हुए उद्धव ने कहा कि यह एक ऐसा मुद्दा है जिस पर कोर्ट को रोज खुज सुनवाई करनी पड़ रही है और डेढ़ से दो महीने में इसका परिणाम आना अपेक्षित है। ये अपने महाराष्ट्र के शिवनेरी और उस मिट्टी का कमाल है। 

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को विधानसभा के लिए वोट डाले जाने हैं और 24 को परिणाम घोषित होने हैं। राज्य की 288 सीटों में से शिवसेना 124 सीटों पर चुनाव लड़ रही है जबकि भाजपा 150 तथा 14 सीटें सहयोगियों के लिए छोड़ रखी है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर