Maharashtra swearing-in ceremony: मैं आज शपथ नहीं लूंगा, बिल्कुल भी निराश नहीं हूं- अजित पवार

Maharashtra swearing-in ceremony today: शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे आज महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। अजित पवार ने अपने बारे में ये बात कही।

Maharashtra swearing-in ceremony: मैं आज शपथ नहीं लूंगा, मैं बिल्कुल भी निराश नहीं हूं- अजित पवार
Maharashtra swearing-in ceremony: पूर्व डिप्टी सीएम अजित पवार ने शपथग्रहण को लेकर सस्पेंस बनाए रखा  |  तस्वीर साभार: ANI

मुंबई : उद्धव ठाकरे आज महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। एनसीपी नेता अजित पवार शपथ लेंगे या नहीं इस पर उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री समेत तीनों पार्टियों (शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी) से दो-दो सदस्य मंत्री पद की शपथ लेंगे। अजित ने अपने बारे में स्पष्ट किया कि मैं मंत्री के तौर पर आज शपथ नहीं लूंगा। आज मुंबई के शिवाजी पार्क में शपथग्रहण समारोह होने वाला है। अजित पवार ने पार्टी चीफ शरद पवार के आवास पर एनसीपी नेताओं की बैठक के बाद मीडिया से कहा कि मैं आज शपथ नहीं लूंगा। केवल छगन भुजबल और जयंत पाटिल एनसीपी के मंत्रियों के रूप में शपथ लेंगे।

उन्होंने कहा, शिवसेना और कांग्रेस के दो-दो विधायक भी मंत्री पद की शपथ लेंगे। अजीत पवार ने उन रिपोर्टों को भी खारिज कर दिया कि गुरुवार को डिप्टी सीएम के रूप में शपथ नहीं लेने पर वह निराश हैं। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि मैं बिल्कुल भी निराश नहीं हूं। क्या आपको मेरे चेहरे पर निराशा देखती है?

महाराष्ट्र के पूर्व डिप्टी सीएम ने भी अपने 'रिवोल्ड' की खबरों का खंडन किया। अजीत पवार ने पिछले शनिवार को सरकार बनाने के लिए बीजेपी के साथ हाथ मिलाया था, लेकिन बाद में उन्होंने "व्यक्तिगत कारणों" का हवाला देते हुए देवेंद्र फडणवीस की नेतृत्व वाली सरकार से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने कहा कि यह रिवोल्ट नहीं था। मैं एनसीपी में था, मैं एनसीपी में हूं और एनसीपी में ही रहूंगा। उन्होंने कहा कि वह शाम को अपनी कजिन और लोकसभा सदस्य सुप्रिया सूले के साथ शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे।

शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस राज्य में सरकार बनाने के लिए 'महा विकास अगाधी' मोर्चे के तहत एक साथ आए हैं। पिछले महीने हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी और शिवसेना ने क्रमश: 105 और 56 सीटें जीतकर सहज बहुमत हासिल किया। हालांकि, बाद में मुख्यमंत्री पद को साझा करने से इनकार करने के बाद शिवसेना ने बीजेपी के साथ अपने 30 साल के लंबे संबंधों को तोड़ दिया। एनसीपी और कांग्रेस ने क्रमशः 54 और 44 सीटें जीतीं।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर