Haryana Chunav 2019: इनेलो का जाट आधार खिसका, जजपा और कांग्रेस को जबरदस्त फायदा

हरियाणा
Updated Oct 24, 2019 | 12:39 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Haryana Election 2019: साल 2019 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के प्रदर्शन में गिरावट देखने को मिली है जबकि कांग्रेस का प्रदर्शन बेहतर रहा है।

Manohar Lal Khattar
Haryana Election 2019: मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो) 

मुख्य बातें

  • हरियाणा: चुनाव परिणाम में अपने 'मिशन 75' से दूर बीजेपी
  • राज्य में सबसे बड़ी पार्टी बनने की ओर बीजेपी, बहुमत से दूर

नई दिल्ली: हरियाणा में सभी 90 सीटों के रुझान अब सामने है। रुझानों से साफ है कि बीजेपी मिशन 75 से काफी पीछे है। ये बात अलग है कि बीजेपी बड़ी पार्टी के तौर पर उभर कर सामने आ रही है, हालांकि उसके पांच मंत्री और प्रदेश अध्यक्ष पीछे हैं। इसके साथ ही अगर कांग्रेस के प्रदर्शन को देखें तो आपसी खींचतान और कलह के बीच पार्टी का प्रदर्शन अच्छा है। इन सबके बीच करीब 9 महीने पहले बनी जननायक पार्टी बेहतर प्रदर्शन कर रही है। यहां ये जानना जरूरी है कि  जाटलैंड के नाम से विख्यात हरियाणा में जाट मतदाताओं की झुकाव किस दल की तरफ रहा है। 

अगर फिलहाल के वोट शेयर पर नजर डालें तो एक बात साफ है कि कभी जाटों पर अपना अधिकार समझने वाली इनेलो को जबरदस्त नुकसान हुआ है। इनेलो सिर्फ दो सीटों पर आगे है और उसके वोट शेयर में गिरावट दर्ज की गई है। आईएनएलडी को महज 2.47 फीसद मत मिले हैं और कांग्रेस को करीब 28.39 फीसद मत मिला है। 

अब सवाल ये है कि इस दफा जाट मतदाताओं का झुकाव किस तरफ रहा है। नतीजों से साफ है कि जाट मतदाता जजपा और कांग्रेस दोनों की तरफ गए हैं। लेकिन जजपा के पक्ष में उनका झुकाव ज्यादा देखने को मिला है। जिन जाट मतदाताओं की नाव पर सवार होकर बीजेपी ने 2014 और 2019 में बेहतर प्रदर्शन किया था वो झुकाव इस दफा नहीं दिखाई दे रहा है।

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर