Weather Update: जानें- कैसा रहेगा मौसम का मिजाज, बारिश और बर्फबारी के बारे में पूरी जानकारी

Weather Update: पिछले तीन दिनों की बारिश में दिल्ली-एनसीआर समेत देश के अलग अलग हिस्सों में तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। इसके अलावा पहाड़ी राज्यों में बर्फबारी भी हो रही है। मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले दिनों में देश के कुछ हिस्सों में बारिश होने के साथ पहाड़ी राज्यों के ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी हो सकती है।

weather, weather today, weather forecast, weather forecast today, weather today india, delhi weather, aaj ka mausam kaisa rahega,
Weather Update: जानें- कैसा रहेगा मौसम का मिजाज, बारिश और बर्फबारी के बारे में पूरी जानकारी 

Weather Update: आईएमडी ने 9 जनवरी तक भारी बारिश की भविष्यवाणी की थी और कहा था कि इसके बाद कम हो जाएगी।आईएमडी के आंकड़ों से पता चलता है कि 26 जनवरी, 1962 (45.5 मिमी), 21 जनवरी, 1973 (39.2 मिमी) और 27 जनवरी, 2017 (35.0 मिमी) 1959 और 2022 के बीच की अवधि में तीन रिकॉर्ड बने थे। सोमवार को दिल्ली और आसपास के शहरों में हल्की धूंध छायी रहेगी हालांकि दोपहर होते होते मौसम साफ हो जाएगा। 

लोदी रोड (5.7 मिमी), रिज (5.4 मिमी) और आया नगर (6.3 मिमी) में दोपहर 12 बजे से पहले बारिश हुई और उसके बाद बारिश नहीं हुई।बारिश का असर तापमान पर भी पड़ा है। 24 घंटों में सफदरजंग, पालम और लोदी रोड वेधशालाओं में अधिकतम तापमान 16.4 से 16.6 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया था और सभी का न्यूनतम तापमान 15.2 डिग्री सेल्सियस था, जो मुश्किल से 1.2 डिग्री सेल्सियस का अंतर था।


राजस्थान में पिछले 24 घंटे के दौरान कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम स्तर की बारिश हुई है। मौसम विभाग ने न्यूनतम तापमान में पांच डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट होने का पूर्वानुमान जताया है।मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे के दौरान अलवर में अधिकतम 37 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। इसके बाद टोंक के वनस्थली में 2.5 मिलीमीटर और राजधानी जयपुर में 1.8 मिलीमीटर बारिश हुई है।
जम्मू-कश्मीर का मौसम

हिमाचल का मौसम

मौसम विभाग का कहना है कि मकर संक्राति तक देश के अलग अलग हिस्सों में बारिश मध्यम और तेज होगी। 15 जनवरी के बाद पश्चिमी विक्षोभ में कमी आने के बाद बारिश और बर्फबारी दोनों में कमी आएगी और तापमान में बढ़ोतरी दर्ज होगी। हालांकि वायुमंडल में बदलाव के चलते इस तरह के हालात में परिवर्तन भी हो सकता है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर