[VIDEO] प्रदेश स्तर के कांग्रेस नेताओं ने माना- पार्टी की दुर्गति के लिए नेताओं की आपसी खींचतान जिम्मेदार

देश
Updated Oct 09, 2019 | 20:01 IST | टाइम्स नाउ ब्यूरो

Congress insider exposes rift in party : कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं का कहना है कि नेताओं की अंदरूनी खींचतान की वजह से पार्टी की दुर्गति हो रही है। 

[VIDEO] From Maharashtra to Haryana, cadre goes against Gandhis
कांग्रेस नेतृत्व पर कार्यकर्ताओं ने उठाए सवाल। 

नई दिल्ली : देश के दो राज्यों महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं लेकिन देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस नेतृत्व स्तर से लेकर कार्यकर्ताओं के स्तर तक हताश दिख रही है। कांग्रेस के बड़े नेता आत्मचिंतन की बात कर रहे हैं तो प्रदेश स्तर के नेता एवं कार्यकर्ता कांग्रेस आलाकमान पर अंगुली उठा रहे हैं। प्रदेश स्तर के नेताओं एवं जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं ने टाइम्स नाउ से बातचीत में माना है कि पार्टी नेतृत्व उनकी बात नहीं सुनता। कार्यकर्ताओं का मानना है कि राहुल गांधी की अपनी  पार्टी और नेताओं पर पकड़ नहीं है। नेताओं की अंदरूनी खींचतान की वजह से पार्टी की दुर्गति हो रही है। 

हरियाणा कांग्रेस के संगठन सचिव बीजेंद्र रांगा ने कहा, 'कांग्रेस नेतृत्व और राज्य के नेताओं के बीच बन रही है। टिकट वितरण पर मारा-मारी हो रही है। कार्यकर्ताओं को मौका नहीं मिल रहा है। हाई कमान कार्यकर्ताओं से मिलता नहीं है। यहां तक कि मैं सचिव हूं, मैं भी हाई कमान से मुश्किल से मिल पाता हूं।'

बता दें कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने बुधवार को कहा कि कांग्रेस पार्टी को आत्मचिंतन की जरूरत है। उन्होंने कहा, 'कांग्रेस पार्टी को यह समझना होगा कि देश बदल रहा है।' हमारी सबसे बड़ी समस्‍या यह है कि हमारे नेता हमें छोड़ गए। लोकसभा चुनाव में हार के कारणों के विश्‍लेषण के लिए हम अभी एकजुट भी नहीं हुए थे, पार्टी अभी हार को लेकर आत्‍मनिरीक्षण भी नहीं कर पाई थी कि हमारे नेता ने हमें छोड़ दिया।' वही, चंबल क्षेत्र के दौरे पर आए कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने खुर्शीद के बयान पर कोई टिप्पणी करने से इंकार कर दिया लेकिन उन्होंने कहा कि कांग्रेस को आत्मचिंतन करने की जरूरत है। 
  
 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर