Uttar Pradesh midday meal: बच्चों के खाने के साथ बार-बार हो रहा खिलवाड़, इस बार निकला मरा हुआ चूहा, 9 बीमार

देश
लव रघुवंशी
Updated Dec 03, 2019 | 21:26 IST

Mid day meal: उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के एक सरकारी स्कूल में मध्याह्न भोजन में मृत चूहा मिला। इससे 8 छात्रों और एक शिक्षक की तबीयत खराब हो गई और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

mid day meal
मिड डे मील में निकला मरा हुआ चूहा 

मुजफ्फरनगर: मिड डे मील में लापरवाही का एक और उदाहरण सामने आया है। मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुजफ्फनगर में एक स्कूल में परोसे गए भोजन में मरा हुआ चूहा पाया गया। इसके बाद जिला प्रशासन ने जांच का आदेश दिया है। एडिशनल डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट अमित कुमार सिंह ने बताया कि एक प्लेट में चूहा पाए जाने के बाद मुस्तफाबाद पंचेन्दा गांव में जनता इंटर कॉलेज के आठ छात्र और एक शिक्षक बीमार हो गए, जिन्हें अस्पताल ले जाया गया। 

हापुड़ के एनजीओ जनकल्याण समिति ने स्कूल में मध्याह्न भोजन की आपूर्ति की थी। सिंह ने कहा कि घटना की जांच का आदेश दिया गया है और लापरवाही के दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

वहीं राज्य के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने इस मामले पर कहा, 'प्रारंभिक जांच के अनुसार एक एनजीओ द्वारा भोजन की आपूर्ति की जाती है। हमने एनजीओ को ब्लैक लिस्ट में डाल दिया है और एफआईआर दर्ज कराई गई है। आगे की कार्रवाई पूरी जांच के बाद की जाएगी।' 

 

एक छात्र ने बताया कि हम खाना बांट रहे थे, इसी दौरान हमने एक मरा हुआ चूहा देखा। हमने तुरंत खाना रोक दिया। लेकिन तब तक कुछ छात्र खाना खा चुके थे और उन्हें सिरदर्द होने लगा।

मुजफ्फरनगर के सरकारी अस्पताल में चिकित्सा अधिकारी डॉ. नवनीत बंसल ने कहा कि छात्रों और शिक्षक की हालत स्थिर है और वे खतरे से बाहर हैं।

अमित कुमार सिंह ने कहा, 'खाद्य सुरक्षा विभाग ने खाने के नमूने लिए हैं और एनजीओ के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। जिन शिक्षकों को भोजन उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी, उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।'

पिछले हफ्ते एक और मामला सामने आया था जब एक लीटर दूध को पानी में मिलाकर उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के एक सरकारी स्कूल में दोपहर के भोजन के दौरान 81 बच्चों को परोसा गया। इसके बाद एक शिक्षक को निलंबित कर दिया गया।

उससे पहले मिर्जापुर जिले के सियूर प्राइमरी स्कूल में बच्चों को मध्याह्न भोजन में नमक के साथ रोटी दी गईं। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) ने मिर्जापुर की घटना पर ध्यान दिया और उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव को एक नोटिस भेजा जिसके बाद दो शिक्षकों को निलंबित कर दिया गया।

इसके बाद राज्य सरकार ने उस पत्रकार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी जिसने स्कूली बच्चों को उनके दोपहर के भोजन में नमक और रोटी परोसने का वीडियो रिकॉर्ड किया था।

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर