कागजों में उलझी जिंदगी, 12 साल से परेशान यूपी के इस शख्‍स ने मांगी 'मरने की आजादी'

यूपी में एक शख्‍स ने सरकार से यूथेनेशिया की मांग की है। उसका कहना है कि वह 12 साल से बिस्‍तर पर है और उसे कोई सरकारी सहायता नहीं मिली। वहीं, प्रशासन का कहना है कि इसके लिए उसके पास पर्याप्‍त कागजात नहीं हैं।

UP Banda man requests government to give him medical treatment or euthanasia
यूपी में एक शख्‍स ने सरकार से यूथेनेशिया की मांग की है  |  तस्वीर साभार: ANI

बांदा : यूपी के बांदा में एक शख्‍स ने सरकार से 'यूथेनेशिया' (इच्‍छा मृत्‍यु) की मांग की है। यह शख्‍स पिछले 12 साल से बिस्‍तर पर पड़ा है। उसका कहना है कि उसे उपचार के लिए किसी तरह की सरकारी सहायता नहीं मिली है और उसके पास ऐसा कोई अपना नहीं है, जो उसकी देखभाल कर सके। हर तरह से निराश इस शख्‍स ने कहा है कि या तो सरकार उसे उपचार मुहैया कराए या अपनी मर्जी से मौत को चुनने की आजादी दे।

सरकार से 'यूथेनेशिया' की गुहार लगाने वाला यह शख्‍स जगदीश जाटव लकवा से पीड़‍ित है, जिसके कारण पिछले एक दशक से भी अधिक समय से वह बिस्‍तर पर पड़ा है। सरकार से अपनी इच्‍छा से मौत को चुनने की आजादी को लेकर लगाई गई उसकी इस गुहार के बाद अब प्रशासन भी हरकत में आया है, पर उसका कहना है कि इस शख्‍स के पास ऐसे कागजात नहीं हैं, जिसके आधार पर उसे चिकित्‍सा उपचार मिल सके।

बांदा के डीएम हीरा लाल के मुताबिक, 'उसके पास ऐसा कोई कागज नहीं है, जिसके आधार पर उसे किसी भी तरह की सरकारी सहायता उपलब्ध कराई जा सके। एसडीएम ने उसका वोटर आईडी कार्ड बनाने के लिए आवेदन भेजा है। जैसे ही उसका वोटर आईडी कार्ड बन जाता है, हम उसका आधार कार्ड और विकलांगता प्रमाण-पत्र बनाएंगे। इसके बाद वह वह सभी सुविधाएं हासिल कर पाएगा।'

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर