उन्नाव रेप केस : संसद परिसर में विपक्षी दलों का प्रदर्शन, पीड़िता से मिलने अस्पताल जाएंगे अखिलेश यादव

देश
Updated Jul 30, 2019 | 11:54 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Unnao Rape Case : उन्नाव रेप केस में पीड़िता के ऊपर हुए संदिग्ध हमले के खिलाफ संसद परिसर में मंगलवार को विपक्षी दलों के नेताओं ने विरोध-प्रदर्शन किया। विपक्ष ने योगी सरकार पर निशाना साधा।

Protest in parliament over unnao rape case
यूपी की कानून-व्यवस्था के खिलाफ संसद परिसर में प्रदर्शन करते विपक्षी दलों के नेता।  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • संसद परिसर में एकजुट होकर विपक्षी दलों ने उठाया कानून-व्यवस्था का मुद्दा
  • लखनऊ के अस्पताल में चल रहा है हादसे में घायल रेप पीड़िता का इलाज
  • अखिलेश यादव और मायावती ने योगी सरकार पर साधा निशाना

नई दिल्ली/लखनऊ : उन्नाव रेप पीड़िता की संदिग्ध सड़क दुर्घटना और उत्तर प्रदेश की कानून-व्यवस्था को लेकर विपक्ष ने योगी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। मंगलवार को संसद परिसर में विपक्षी दलों के नेताओं ने रेप पीड़िता पर हुए संदिग्ध हमले और अमेठी में पूर्व सैनिक की पीटकर हुई हत्या के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया। समाजवादी पार्टी, तृणमूल कांग्रेस के सांसद संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष एकत्र हुए और उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था की हालत पर योगी सरकार पर निशाना साधा। इस दौरान सांसदों ने अपने हाथों में 'भारत शर्मिंदा है# उन्नाव' और 'क्या हमारे पूर्व सैनिक इस लायक हैं?' लिखी तख्तियां ले रखी थीं। इस बीच खबर यह भी है कि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज रेप पीड़िता का हाल जानने के लिए अस्पताल का दौरा करेंगे।   

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने राज्य की कानून-व्यवस्था पर योगी सरकार पर निशाना साधा है। मायावती ने भाजपा पर विधायक सेंगर को संरक्षण देने का आरोप लगाया है। बसपा सुप्रीमो ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट को इस मामले का संज्ञान लेना चाहिए। साथ ही उन्होंने पीड़िता के परिजनों का ध्यान रखने की सरकार से अपील की है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कानून-व्यवस्था पर योगी सरकार को घेरते हुए कहा कि पुलिस वही कहती है जो ऊपर से कहलवाया जाता है। आज जनता को न्याय नहीं मिल रहा है। अखिलेश ने सेवारत जज के अधीन गठित एसआईटी से उन्नाव केस की जांच कराने की मांग की है।

लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी और पांच अन्य सांसदों ने महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध पर चर्चा के लिए स्थगन प्रस्ताव दिया है। 

संदिग्ध सड़क हादसे में जख्मी उन्नाव रेप केस की पीड़िता की हालत नाजुक बनी हुई है। जबकि पीड़िता के परिजन अस्पताल के बाहर धरने पर बैठे हैं। परिजन भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को सजा देने और पीड़िता के चाचा को जेल से रिहा करने की मांग कर रहे हैं। बता दें कि रविवार को रायबरेली जाते वक्त इस सड़क हादसे में पीड़िता की चाचा और मौसी की मौत हो गई जबकि पीड़िता और वकील दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। इस घटना के बाद कुलदीप सेंगर सहित 10 लोगों पर हत्या का केस दर्ज हुआ है। विधायक सेंगर अभी जेल में बंद हैं।

उन्नाव रेप पीड़िता की सड़क दुर्घटना मामले की होगी CBI जांच, प्रदेश सरकार ने की सिफारिश

संदिग्ध सड़क हादसे में घायल पीड़िता का इलाज लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रामा सेंटर में किया जा रहा है। इस ट्रामा सेंटर के बाहर पीड़ित परिजन धरने पर बैठे हैं और वे विधायक सेंगर को जल्द से जल्द सजा देने और रेप पीड़िता के चाचा महेश सिंह को जेल से रिहा करने की मांग कर रहे हैं। परिजनों का कहना है कि अस्पताल प्रशासन ने अभी उन्हें पीड़िता से मिलने की अनुमति नहीं दी है। 

'ट्रक की मंशा कार को टक्कर मारने की थी'
एक प्रत्यक्षदर्शी ने टाइम्स नाउ को बताया कि यह घटना दिन के करीब डेढ़ बजे के आस-पास की है। ट्रक इस पोजीशन पर था कि उसे देखने से लग रहा था कि उसने पहले से ही कार को टक्कर मारने की अपनी मंशा बना रखी है। लाल गंज की तरफ से आने वाली कार धीमी गति से सड़क के किनारे की तरफ जा रही थी। इसी दौरान ट्रक ने कार को सामने से काफी तेजी से टक्कर मारी। टक्कर लगने के बाद कार बीच सड़क में आ गई। कार में सवार लोग जख्मी हो गए थे और वहां जुटे लोगों ने कार का शीशा तोड़कर घायलों को बाहर निकाला। 

विधायक के लोगों पर डराने-धमकाने का आरोप
अस्पताल में भर्ती रेप पीड़िता की हालत नाजुक बनी हुई है। अस्पताल ने हालांकि आज पीड़िता की मेडिकल बुलेटिन जारी नहीं किया है लेकिन सोमवार की बुलेटिन में बताया गया कि उसकी हालत नाजुक है और उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है। पीड़ित परिजन पीड़िता के चाचा को जेल से रिहा करने की मांग कर रहे हैं। परिजनों का कहना है कि चूंकि पीड़ित परिवार में कोई पुरुष सदस्य नहीं है इसलिए प्रशासन को पीड़िता के चाचा को जेल से रिहा करना चाहिए। पीड़ित परिजनों का दावा है कि विधायक सेंगर के लोगों ने उन्हें डराया-धमकाया है।
 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर