Amit Shah: गृह मंत्री अमित शाह ने ममता बनर्जी को लिखा पत्र, 'आपका रवैया मजदूरों के साथ अन्‍याय'

Amit Shah writes to Mamata Banerjee: गृह मंत्री अमित शाह ने श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनों को लेकर पश्चिम बंगाल सरकार पर आरोप लगाए हैं और कहा है कि इसे लेकर केंद्र को राज्‍य सरकार से अपेक्षित सहयोग नहीं मिल रहा है।

गृह मंत्री अमित शाह ने ममता बनर्जी को लिखा पत्र, 'आपका रवैया मजदूरों के साथ अन्‍याय'
गृह मंत्री अमित शाह ने ममता बनर्जी को लिखा पत्र, 'आपका रवैया मजदूरों के साथ अन्‍याय'  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को पत्र लिखा है
  • उन्‍होंने कहा कि प्रवासियों की घर वापसी में बंगाल सरकार का सहयोग नहीं मिल रहा
  • देश के गृह मंत्री ने ममता सरकार के रवैये को मजदूरों के साथ अन्‍याय करार दिया है

नई दिल्ली : गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को पत्र लिखकर कहा है कि लॉकडाउन के कारण देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में फंसे प्रवासियों को उनके घर पहुंचाने में राज्य सरकार का अपेक्ष‍ित सहयोग नहीं मिल रहा है। उन्‍होंने कहा कि राज्‍य सरकार का रवैया मजूदरों के साथ अन्‍याय है। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में फंसे मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए केंद्र ने जो पहल की है, उसमें पश्चिम बंगाल सरकार से उसे अपेक्षित सहयोग नहीं मिल रहा है, जो राज्‍य के प्रवासी मजदूरों के साथ अन्‍याय है।

अमित शाह का ममता बनर्जी को पत्र 
पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी को शनिवार को लिखे पत्र में उन्‍होंने कहा कि केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण/लॉकडाउन के बीच दो लाख से अधिक प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचने में मदद दी। देशभर में फंसे पश्चिम बंगाल के मजदूरों की भी बड़ी संख्‍या है, जो अपने गृह राज्‍य लौटना चाहते हैं, लेकिन इसके लिए केंद्र सरकार को राज्‍य से अपेक्षित सहयोग नहीं मिल रहा है। पश्चिम बंगाल में रेलवे द्वारा संचालित श्रमिक ट्रेनों को नहीं पहुंचने दिया जा रहा है। राज्‍य सरकार का यह असहयोगात्‍मक रवैया मजदूरों की मुश्किलें बढ़ाने वाला है। 

केंद्र, राज्‍य सरकारें फिर आमने-सामने
देश में जारी कोरोना संकट के बीच पश्चिम बंगाल सरकार और केंद्र के बीच टकराव का यह नवीनतम मामला है। इससे पहले कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों को लेकर भी केंद्र और पश्चिम बंगाल के बीच टकराव देखने को मिला था, जब राज्‍य पर कोरोना संक्रमण के मामलों और इससे होने वाली मौतों की संख्‍या कम बताने के आरोप लगे। हालांकि राज्‍य सरकार ने इन आरोपों को खारिज किया। वहीं, केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने गुरुवार को कहा था कि उत्‍तर प्रदेश, ओडिशा के साथ-साथ पश्चिम बंगाल में भी जांच बढ़ाने तथा मामले पर कड़ी नजर रखने की जरूरत है।

इन राज्‍यों में संक्रमण का खतरा बढ़ा
यहां उल्‍लेखनीय है कि देश के विभिन्‍न हिस्‍सों से प्रवासी मजदूरों की जो घर वापसी हो रही है, उनमें ज्‍यादातर संख्‍या उत्‍तर प्रदेश, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, बिहार, मध्‍य प्रदेश जैसे राज्‍यों की बताई जा रही है। ऐसे में आशंका इस बात की भी बढ़ रही है कि बड़ी संख्‍या में मजदूरों की घर वापसी से इन राज्‍यों में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ सकते हैं, क्‍योंकि यह संक्रमण जिस तेजी के साथ फैल रहा है, उसमें अगर कोई प्रवासी मजदूर किसी के संपर्क में आने से संक्रमित हो जाता है तो फिर जिन लोगों के भी संपर्क में वह आएगा, उन्‍हें भी संक्रमण का खतरा होगा।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर