भारत अपनी रक्षा के लिए ताकत के इस्तेमाल करने से हिचकिचाएगा नहीं: राजनाथ सिंह

देश
रामानुज सिंह
Updated Sep 05, 2019 | 14:13 IST

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में परमाणु हथियार के इस्तेमाल और देश की रक्षा को लेकर अपनी बात जोरदार तरीके से रखा।

Rajnath Singh
Rajnath Singh  |  तस्वीर साभार: Twitter

नई दिल्ली: केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारत दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में गुरुवार को रक्षा वार्ता को संबोधित करते हुए अपनी रक्षा के लिए अपनी ताकत का इस्तेमाल करने से पीछे नहीं हटेगा। राजनाथ सिंह दो देशों के दौरे के दूसरे चरण में दक्षिण कोरिया की तीन दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर हैं जिसमें जापान भी शामिल था। वे गुरुवार को सियोल डिफेंस डायलॉग के एक विशेष सत्र को संबोधित कर रहे थे, जिसके कुछ अंश उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर साझा किए।

रक्षा मंत्री ने कहा कि कोरियाई प्रायद्वीप में मौजूद शांति के प्रति मजबूती साथ अपने विचार साझा किए। उन्होंने कहा, 'भारत अपने इतिहास में कभी भी आक्रामक नहीं रहा है और न ही कभी होगा। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि भारत अपनी रक्षा के लिए अपनी ताकत के इस्तेमाल करने में संकोच नहीं करेगा।'

अगस्त में, राजनाथ सिंह ने भारत के परमाणु सिद्धांत और नो फर्स्ट यूज की पॉलिसी पर बहस छेड़ दी थी। पूर्व पीएम स्वर्गीय अटल बिहार वाजपेयी की जयंती के अवसर पर पोखरण की यात्रा के दौरान राजनाथ सिंह ने कहा था कि भारत ने मजबूती के साथ नो फर्स्ट यूज सिद्धांत के साथ है लेकिन भविष्य में क्या होगा, यह परिस्थितियों पर निर्भर करता है।

रक्षा मंत्री ने सियोल में कहा, डिफेंस डिप्लोमेसी भारत की स्ट्रटेजिक टूलकिट का एक प्रमुख स्तंभ है। वास्तव में, डिफेंस डिप्लोमेसी और मेंटेनिंग स्ट्रॉन्ग डिफेंस फोर्सेस एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। वे हाथों-हाथ चलते हैं।'

 राजनाथ सिंह का बयान गुरुवार को तब आया जब 5 अगस्त को जम्मू और कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाला अनुच्छेद 370 वापस लेने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच सैन्य तनाव सामने आया।

अगस्त के अंतिम सप्ताह में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपने राष्ट्र के एक संबोधन के दौरान भारत-पाक क्षेत्र में परमाणु युद्ध के बारे में चेतावनी दी थी। उन्होंने कहा था, अगर यह मुद्दा युद्ध जैसी स्थिति बनता है, तो किसी को यह याद रखना चाहिए कि दोनों देश परमाणु सपन्न हैं और कोई देश युद्ध नहीं जीतेगा। चाहे दुनिया हमारा समर्थन करे या न करे, पाकिस्तान अब किसी भी हद तक जाएगा।

हालांकि इमरान खान ने इस हफ्ते के शुरू में पाकिस्तान के परमाणु पॉलिसी पर यू-टर्न लिया जब उन्होंने कहा कि उनका देश 'नो फर्स्ट यूज' पॉलिसी के लिए प्रतिबद्ध है।


 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर