Telangana: बस चालक की इलाज के दौरान मौत, सरकार के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान सुसाइड करने की कोशिश की थी

देश
Updated Oct 13, 2019 | 15:28 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Telangana News: तेलंगाना में राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे तेलंगाना स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन के एक कर्मचारी की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। उसने आत्महत्या करने की कोशिश की थी।

RTC bus employee died
तेलंगाना में बस कर्मचारी की मौत  |  तस्वीर साभार: ANI

तेलंगाना : तेलंगाना स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन (टीएसआरटीसी) कर्मचारियों की हड़ताल के दौरान एक बस ड्राइवर ने आत्महत्या करने की कोशिश की थी जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था उसकी मौत हो गई है। श्रीनिवास रेड्डी नाम के पेशेंट जिसे डीआरडीओ अपोलो हॉस्पीटल में शनिवार को भर्ती कराया गया था उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई।

दरअसल उसने खुद को जलाकर अपनी जान लेने की कोशिश की थी। अस्पताल ने अपने बुलेटिन में बताया कि इलाज के दौरान ही उसने दम तोड़ दिया। शनिवार को प्रदर्शन करने वाले टीएसआरटीसी के 48,000 कर्माचारियों में से रेड्डी भी एक था। ये सबी तेलंगाना सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे थे।

खम्माम में अपने आवास पर ही रेड्डी ने खुद के उपर किरोसिन डाल कर आग लगा ली जिसमें वह गंभीर रुप से घायल हो गया था।
खम्माम पुलिस कमिश्नर तफसीर इकबाल ने बताया कि ड्राइवर श्रीनिवास रेड्डी ने खुद के उपर किरोसिन का तेल डाल लिया और खुद को आग लगा ली। वह 80 फीसदी जल चुका था जिसके बाद उसे अपोलो अस्पताल में दाखिल कराया गया। 

 

 

श्रीनिवास की फैमिली ने बताया कि आरटीसी कर्मचारियों के प्रति राज्य सरकार की उदासीनता से नाराज था। इस संबंध में एक केस दर्ज कर लिया गया है। तेलंगाना जन समिति प्रमुख प्रोफेसर कोडंडरम, कांग्रेस नेता वी हनुमंथा राव समेत कई राजनेताओं ने अस्पताल का दौरा कर रेड्डी का हाल चाल पूछा। 

इस बीच अस्पताल के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिए गए थे। बता दें कि 5 अक्टूबर से ही तेलंगाना में आरटीसी कर्मचारी विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं जब से राज्य सरकार ने 40,000 कर्मचारियों के निकाले जाने का बयान जारी किया था। लगातार नौवें दिन भी ये सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी है। 

 

 

तेलंगाना मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने कहा है कि प्रदर्शन कर रहे 48,000 आरटीसी कर्मचारियों के साथ बातचीत करने का कोई सवाल ही नहीं है। इधर बीजेपी, कांग्रेस, टीडीपी और सीपीआई समेत कई सारी राजनीतिक पार्टियां आरटीसी कर्मचारियों के समर्थन में है और वे सरकार से अपना आदेश वापस लेने की मांग कर रहे हैं। तेलंगाना हाई कोर्ट ने गुरुवार को आरटीसी मामले में संज्ञान लेते हुए 15 अक्टूबर तक सरकार से इस पर विस्तृत रिपोर्ट की मांग की है।
 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर