'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे लगाने वाली महिला की हत्या पर 10 लाख के इनाम का ऐलान

देश
लव रघुवंशी
Updated Feb 22, 2020 | 22:08 IST

Pakistan zindabad slogan: पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वाली महिला अमूल्या लियोना की हत्या करने पर श्रीराम सेना के कार्यकर्ता संजीव मराडी ने 10 लाख रुपए के इनाम का ऐलान किया है।

Sanjeev Maradi
श्रीराम सेना का कार्यकर्ता संजीव मराडी  |  तस्वीर साभार: ANI

बेल्लारी (कर्नाटक):  हाल ही में AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की मौजूदगी में 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा लगाने वाली महिला अमूल्या लियोना के खिलाफ श्रीराम सेना के एक कार्यकर्ता ने इनाम घोषित किया है। कार्यकर्ता संजीव मराडी ने अमूल्या की हत्या पर 10 लाख रुपए का इनाम घोषित किया है। एक वीडियो फुटेज में वो कहता है कि सरकार उसे रिहा नहीं करे अन्यथा वह उसे मार डालेगा।

अमूल्या लियोना के खिलाफ शनिवार को बेल्लारी में श्रीराम सेना द्वारा रैली आयोजित की गई। यहां मराडी कहता है, 'राज्य और केंद्र सरकार को किसी भी परिस्थिति में उसे रिहा नहीं करना चाहिए। अगर उसे रिहा किया जाता है, तो हम उसे मार देंगे।' उसने कहा, 'हम श्रीराम सेना की तरफ से उसे मारने वाले को 10 लाख रुपए का इनाम देंगे।'

बेल्लारी के पुलिस अधीक्षक सी के बाबा ने कहा कि उन्होंने ऐसी किसी भी घोषणा के बारे में वीडियो नहीं देखा है और न ही सुना है। उन्होंने कहा कि मुझे इसके बारे में पता लगाने दीजिए। उसने जो कहा है मैंने वह नहीं देखा। मैं देखूंगा। 

ओवैसी ने नारे लगाने से रोका
गुरुवार को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ ओवैसी की उपस्थिति में 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे लगाने वाली अमूल्या पर राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया है और उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। ओवैसी ने इस हरकत के लिए उसकी निंदा की और उसे मंच पर नारे लगाने से रोका भी। ओवैसी ने कहा, 'न तो मेरा और न ही मेरी पार्टी का इस महिला से कोई संबंध है। आयोजकों को उसे यहां नहीं बुलाना चाहिए था। यदि मुझे यह पता होता तो मैं यहां नहीं आता। हम भारत के लिए हैं और हम किसी भी तरह दुश्मन देश का समर्थन नहीं करते।' 

पिता ने भी कार्रवाई की मांग
नारे लगाने के बाद चिकमंगलूरु स्थित महिला के घर पर हमला भी हुआ। अमूल्या के पिता वाजी ने उस पर कार्रवाई की मांग करते हुए कहा, 'वह कुशाग्र लड़की है। मैंने उसे इस तरह की गतिविधियों में संलिप्त नहीं रहने के लिए समझाने की कोशिश की और पहले पढ़ाई पूरी करने को कहा। मुझे पता चला था कि वह सीएए, एनआरसी के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों में शामिल हो रही थी।' 

ये था अमूल्या का फेसबुक पोस्ट
अमूल्या ने 16 फरवरी की फेसबुक पोस्ट में कई पड़ोसी देशों के लिए जिंदाबाद लिखा है। कन्नड में लिखी पोस्ट में कहा गया है, 'हिंदुस्तान जिंदाबाद, पाकिस्तान जिंदाबाद, बांग्लादेश जिंदाबाद, श्रीलंका जिंदाबाद, नेपाल जिंदाबाद, अफगानिस्तान जिंदाबाद, चीन जिंदाबाद, नेपाल जिंदाबाद....कोई भी देश हो, सभी जिंदाबाद।' 

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर