संसद की सुरक्षा में सेंध!, तीन जिंदा कारतूस के साथ पकड़ा गया व्यक्ति

Parliament Security : सुरक्षाकर्मियों ने गुरुवार को संसद भवन के गेट नंबर आठ से एक व्यक्ति को पकड़ा। यह व्यक्ति तीन जिंदा कारतूस के साथ संसद भवन में दाखिल हो रहा था। दिल्ली पुलिस व्यक्ति से पूछताछ कर रही है।

Security breach at parliament, man with three live bullets caught at gate no 8
कारतूस लेकर संसद में दाखिल होने का प्रयास करता व्यक्ति पकड़ा गया।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • जिंता कारतूस के साथ संसद में दाखिल हो रहे व्यक्ति को सुरक्षाकर्मियों ने पकड़ा
  • सुरक्षाकर्मियों ने व्यक्ति को दिल्ली पुलिस के हवाले किया, पूछताछ के बाद उसे छोड़ा
  • बुधवार को बाड़मेर से भाजपा सांसद की कार बूम बैरियर से टकरा गई थी

नई दिल्ली: संसद की सुरक्षा में बड़ी सेंध लगने का मामला सामने आया है। सुरक्षाकर्मियों ने गुरुवार को संसद भवन के गेट नंबर आठ से एक व्यक्ति को पकड़ा। यह व्यक्ति तीन जिंदा कारतूस के साथ संसद भवन में दाखिल हो रहा था लेकिन तभी सरक्षा जांच में वह पकड़ा गया। पुलिस के मुताबिक व्यक्ति का कहना है कि वह संसद भवन में दाखिल होने से पहले कारतूस रखना भूल गया था। संसद के सुरक्षाकर्मियों ने बाद में उसे दिल्ली पुलिस को सौंप दिया। पुलिस उस व्यक्ति से पूछताछ कर रही है।

दिल्ली पुलिस का कहना है कि तीन जिंदा कारतूस के साथ संसद परिसर में दाखिल होने की कोशिश करने वाले व्यक्ति का नाम अख्तर खान है। उसकी जेब से तीन जिंदा कारतूस मिले लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने उसे पकड़ लिया। खान से पूछताछ करने और उसका सत्यापन करने के बाद उसे छोड़ दिया गया।

व्यक्ति के पास हथियार का वैध लाइसेंस
पुलिस का कहना है कि ऐसा लगता है कि खान से जानबूझकर गलती नहीं हुई है। पूछताछ में पता चला कि उसके पास हथियार का वैध लाइसेंस है और ऐसा लगता है कि वह जिंदा बुलेट्स अपने वैलेट से निकालना भूल गया था। फिर भी दिल्ली पुलिस सभी संभावित कोणों से इस मामले की जांच कर रही है। संसद भवन में दाखिल होने की इजाजत देने वाले उसके पास एवं यहां आने की वजह की भी जांच कर रही है। 

बुधवार को भी संसद परिसर में बजा अलॉर्म
बता दें कि संसद परिसर में गत बुधवार को सुरक्षाकर्मियों के बीच उस समय अफरा तफरी मच गई जब बाड़मेर से भाजपा सांसद विनोद कुमार सोनकर की कार वहां एक बूम बैरियर से टकरा गई। बूम बैरियर से टकराने के बाद वहां लगे स्पाइक्स सक्रिय हो गए और उनकी कार स्पाइक्स में फंस गई। इस घटना के दौरान संसद परिसर की सुरक्षा में लगे अलॉर्म बज गए। सुरक्षा अलॉर्म बजते ही सुरक्षाकर्मी हरकत में आ गए और उन्होंने अपनी पोजीशन ले ली।

संसद पर 2001 में हुआ था आतंकी हमला
साल 2001 के आतंकवादी हमले के बाद संसद की सुरक्षा काफी बढ़ा दी गई है। संसद सत्र के दौरान सांसदों एवं सुरक्षाकर्मियों मानक संचालन प्रकिया (एसओपी) का पालन करना होता है। अब सुरक्षा में तनिक भी चूक होने पर सुरक्षाकर्मी सतर्क हो जाते हैं। पिछले साल फरवरी में भी इसी तरह की एक घटना हुई थी। मणिपुर के कांग्रेस सांसद डॉ. थोकचोम मेन्या की कार संसद परिसर में लगे एक बैरिकेड से टकरा गई थी। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर