Schools, Colleges Holidays: यूपी दिल्ली सहित इन राज्यों में स्कूल और कालेजों की छुट्टी

देश
Updated Nov 08, 2019 | 23:46 IST

Schools, Colleges Holidays: अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला 9 नबंवर (शनिवार) की सुबह 10:3o बजे आना है इसको लेकर उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश सरकार ने अपने यहां के स्कूल कालेजों को बंद रखने का निर्णय लिया है। 

Representational Image
प्रतीकात्मक तस्वीर 

नई दिल्ली: अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला शनिवार को आना है जाहिर सी बात है कि इस बहुप्रतीक्षित फैसले को लेकर सभी की निगाहें फैसले पर टिकी हैं, वहीं संबधित सरकारें इसको लेकर तमाम सुरक्षा इंतजाम कर रही हैं। फैसला आने से पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य के सभी स्कूलों को बंद रखने का फैसला लिया है। 

बताया जा रहा है कि  9 नवंबर से 11 नवंबर तक यूपी के सभी स्कूल, कॉलेज बंद रहेंगे। वहीं बताया जा रहा है कि मध्य प्रदेश के सभी स्कूल भी शनिवार को बंद रहेंगे। मुंबई और दिल्ली को हाई अलर्ट पर रखा गया है। 

दिल्ली के अधिकांश स्कूल दूसरे शनिवार के बदले भी बंद रहेंगे। डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने भी सभी निजी स्कूलों को कल बंद रखने को कहा है।बता दें इसकी घोषणा नहीं की गई है। माता-पिता से अनुरोध है कि यदि उनके बच्चे का स्कूल खुला है या नहीं कृप्या इसकी पुष्टि कर लें।

वहीं कर्नाटक और जम्मू कश्मीर में भी शनिवार को स्कूल बंद रखने की बात कही जा रही है।वहीं एनसीआर के शहरों नोएडा और गाजियाबाद के सभी स्कूलों, कॉलेजों और प्रशिक्षण केन्द्रों को 11 नवंबर तक बंद रखने का आदेश दिया है।दोनों जिलों के जिलाधिकारियों की ओर से जारी आदेश के अनुसार, जनपद गौतम बुध नगर और गाजियाबाद के सभी स्कूलों, उच्च शैक्षणिक संस्थानों, ट्रेनिंग सेंटर 9 से 11 नवंबर तक बंद रहेंगे।

उन्होंने जनपद के सभी लोगों से अपील की है कि न्यायालय का जो भी निर्णय आए उसे स्वीकार करें, तथा आपसी भाईचारे व सौहार्द को बनाए रखने में प्रशासन की मदद करें।

 

जिलाधिकारी गौतम बुध नगर बृजेश नारायण सिंह ने बताया कि न्यायालय कल अयोध्या मामले में फैसला सुनाने वाला है। फैसले के बाद कानून व्यवस्था व आपसी सौहार्द प्रभावित ना हो, इसके लिए जिला प्रशासन हर संभव तैयारी कर रहा है।उन्होंने बताया कि इसके तहत 9 नवंबर से 11 नवंबर तक जनपद के सभी स्कूलों, विश्वविद्यालयों, इंजीनियरिंग कॉलेजों, उच्च शैक्षणिक संस्थानों, ट्रेनिंग सेंटरों को बंद रखने का आदेश दिया गया है।

 

सुप्रीम कोर्ट राजनीतिक दृष्टि से संवेदनशील राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले में शनिवार को फैसला सुनायेगा।सर्वोच्च अदालत के सुबह साढ़े दस बजे फैसला सुनाने की उम्मीद है।

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने शुक्रवार को यूपी के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी और प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह को अपने कक्ष में बुलाकर उनसे राज्य में सुरक्षा बंदोबस्तों और कानून व्यवस्था के बारे में जानकारी प्राप्त की थी।

अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का का फैसला आने से पहले दिल्ली, यूपी, मध्यप्रदेश सहित कई राज्यों में सुरक्षा के कड़े कदम उठाए जा रहे हैं और पुलिस से शहर के संवेदनशील इलाकों की पहचान करने को कहा है।

 

 

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने 40 दिनों की मैराथन सुनवाई के बाद 16 अक्टूबर को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।

परामर्श में कहा गया है कि धर्म स्थलों पर सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिये आवश्यक इंतजाम किये गये हैं। पुलिस ने बताया कि सोशल मीडिया की भी निगरानी की जाएगी। सोशल मीडिया पर मौजूद लोगों से विवेक के साथ पोस्ट करने और किसी असत्यापित सामग्री को साझा करने या फैलाने से बचने को कहा गया है।
 

अगली खबर
Schools, Colleges Holidays: यूपी दिल्ली सहित इन राज्यों में स्कूल और कालेजों की छुट्टी Description: Schools, Colleges Holidays: अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला 9 नबंवर (शनिवार) की सुबह 10:3o बजे आना है इसको लेकर उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश सरकार ने अपने यहां के स्कूल कालेजों को बंद रखने का निर्णय लिया है। 
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...
taboola