प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा नोएडा के एक अस्पताल में हुए भर्ती, बढ़ाई गई सुरक्षा व्यवस्था

देश
रवि वैश्य
Updated Oct 22, 2019 | 09:56 IST

Robert Vadra admitted in Hospital: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के पति रॉबर्ट वाड्रा को दर्द की शिकायत के बाद सोमवार को नोएडा के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया।

ROBERT VADRA
राबर्ट वाड्रा (फाइल फोटो) 

मुख्य बातें

  • राबर्ट वाड्रा को सोमवार को नोएडा के एक अस्पताल में एडमिट कराया गया है
  • राबर्ट वाड्रा के भर्ती होने के बाद अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है
  • कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी भी उन्हें देखने अस्पताल पहुंची थीं

नई दिल्ली: राबर्ट वाड्रा (Robert Vadra) की तबियत खराब है जिसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है मीडिया सूत्रों के मुताबिक बताया जा रहा है कि उनकी हड्डी में कुछ दर्द की शिकायत थी जिसके कारण उन्हें हॉस्पिटलाइज किया गया है, कहा जा रहा है कि उन्हें दिल्ली से सटे नोएडा के मेट्रो अस्पताल में भर्ती किया गया है।

राबर्ट वाड्रा को सोमवार को अस्पताल में एडमिट कराया गया है और डॉक्टर उनका इलाज कर रहे हैं उनके कुछ टेस्ट आदि भी कराए गए हैं। राबर्ट वाड्रा की तबियत के बारे में जानकर स्थानीय नेता और कार्यकर्ता अस्पताल पहुंचे हैं हालांकि अस्पताल में जाने की अनुमति हर किसी को नहीं दी गई है। 

राबर्ट वाड्रा के भर्ती होने के बाद अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक कहा जा रहा है कि प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) भी उन्हें देखने सोमवार शाम को अस्पताल पहुंची थीं फिर बाद में वो वहां से निकल गईं और फिर रात में 10 बजे के करीब फिर अस्पताल आईं और पूरी रात वहीं अस्पताल में रुकीं। 

अस्पताल प्रशासन उनकी बीमारी के बारे में कुछ भी बता नहीं रहा है, कयास है कि मंगलवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी व सोनिया गांधी भी उन्हें देखने अस्पताल जा सकते हैं।

गौरतलब है कि रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस चल रहा है, जिसकी जांच प्रवर्तन निदेशालय (ED) कर रहा है। वाड्रा के खिलाफ यह मामला लंदन में खरीदी गई संपत्तियों से जुड़ा है। जांच एजेंसी का दावा है कि ये संपत्तियां फरार आर्म्‍स डीलर संजय भंडारी के जरिये खरीदी गईं। वाड्रा हालांकि पूर्व में लंदन में किसी भी संपत्ति से अपना संबंध होने से इनकार कर चुके हैं। 

ईडी अधिकारियों ने वाड्रा को कुछ दस्‍तावेज भी दिखाए थे,जो जांच एजेंसी के अनुसार विदेशों में संपत्तियों से वाड्रा के तार जोड़ते हैं। ईडी सूत्रों के अनुसार, यह मामला 2009 में पेट्रोलियम मंत्रालय की एक डील से जुड़ा है, जब केंद्र में यूपीए की सरकार थी। अरोप है कि इसमें ब्रिटेन की एक कंपनी सिंटैक को कुछ रिश्‍वत पहुंचाई गई, जिसका निदेशक संजय भंडारी था।

 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर